महिला टीटीई ने सीआईटी के विरुद्ध खोला मोर्चा

महिला टीटीई ने सीआईटी के विरुद्ध खोला मोर्चा

By Prabhat Khabar Print | June 23, 2024 12:30 AM

जमालपुर की एक और महिला टीटीई ने सीआईटी के विरुद्ध खोला मोर्चा

प्रतिनिधि, जमालपुर

जमालपुर की एक महिला टीटीआई द्वारा अपने ही सीनियर सीआईटी के विरुद्ध मानसिक प्रताड़ना के आरोप का मामला शांत भी नहीं हो पाया था कि एक दूसरी महिला सीसीटीसी ने उसी सीआईटी के विरुद्ध मानसिक शोषण किए जाने का मामला लाकर जमालपुर स्टेशन के कमर्शियल विभाग में भूचाल खड़ा कर दिया.

महिला सीसीटीसी ने इस संबंध में पूर्वी रेलवे मेंस यूनियन ओपन लाइन ब्रांच के सचिव को पत्र देकर मदद की गुहार लगाई है. उन्होंने कहा है कि कार्य संपादन के दौरान उसके बड़े अधिकारी उसके काम में हस्तक्षेप कर रेलवे को राजस्व का घाट दिल रहे हैं. इतना ही नहीं इस बात का विरोध करने पर पैसेंजर सहित सब सहकर्मी के सामने बेइज्जत करते हैं और धमकी देते हैं. उन्होंने बताया कि पिछले 8 वर्ष से रेलवे के तमाम प्रोटोकॉल को तख पर रखते हुए सीआईटी जमालपुर में जमे हुए हैं. उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी एक अन्य महिला टीटीआई ने उक्त सीआईटी के विरोध पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक को पत्र लिखकर कहा था कि 2 वर्ष पूर्व दिए गए उसके आवेदन पर रेल विभाग द्वारा क्या कार्रवाई की गई. इसकी सूचना आरटीआई के तहत उपलब्ध कराया जाए, ताकि वह सक्षम न्यायालय का दरवाजा खटखटा सके. इस संबंध में आरोपी सीआईटी अमर कुमार ने बताया कि पहले इस कार्यालय के कर्मचारी मस्ती में काम करते थे. अब उनसे कड़ाई से काम लिया जाने लगा जिसके कारण उन पर बेबुनियाद तथ्यहीन तथा अनर्गल आरोप लगाए जा रहे हैं. दूसरी तरफ मालदा डिवीजन के सीनियर डीसीएम सुदेव भट्टाचार्य ने कहा कि महिला टीटीआई के आवेदन मामले में पीड़ित और आरोपी दोनों को मुख्यालय बुलाया गया इसके मामले की जांच की जा रही है परंतु दूसरी महिला सीसीटीसी की शिकायत अब तक उन्हें नहीं मिल पाई है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Next Article

Exit mobile version