यूपी में रविवार का दिन मानसून के नाम, झमाझम बारिश से बदला मौसम, अलर्ट जारी

UP Weather LIVE: यूपी में अगस्त के महीने में मौसम में लगातार बदलाव देखने को मिल रहा है. बीतें दिनों बादलों के जमकर बरसने के बाद शुक्रवार रात को भी कई स्थानों पर बारिश हुई. राजधानी लखनऊ और आसपास के क्षेत्रों में रात में बारिश की वजह से तापमान में असर देखने को मिला.

By Prabhat Khabar | Posted On: August 6, 2023 6:48 PM

झमाझम बारिश से बदला मौसम

यूपी में रविवार को मानसून प्रदेश के लोगों पर मेहरबान रहा. सुबह से कई बार बारिश हो चुकी है. इसके बाद भी बारिश की ​स्थिति बनी हुई है. मौसम विभाग के मुताबिक रात में भी कई जगह बादल बरस सकते हैं. अगले दो-तीन दिन भी पूरे प्रदेश में बारिश के आसार हैं. तराई वाले जिलों में भी बरसात शुरू हो गई है.

यूपी में रविवार का दिन मानसून के नाम, कई जगह हो रही बारिश

लखनऊ सहित कई इलाकों में रविवार के दिन मानसून लोगों पर मेहरबान है. सुबह से जहां बादलों की मौजूदगी की वजह से गर्मी का प्रकोप कम देखने को मिला. वहीं दोपहर बाद बारिश का सिलसिला शुरू हो गया. शहर के अलग अलग हिस्सों में कई बार बादल जमकर बरसे.

लखनऊ सहित कई जगह बारिश

लखनऊ सहित कई इलाकों में रविवार को दोपहर में बारिश से मौसम खुशनुमा हो गया. सुबह से ही बादल छाए रहने की वजह से लोगों को गर्मी से राहत मिल रही है. वहीं इस बारिश ने रविवार को छुट्टी का मजा और बढ़ा दिया है.

वाराणसी में गंगा के तेवर देख लोग सहमे, नौका संचालन पर रोक

वाराणसी में जलस्तर बढ़ने के कारण गंगा में नौका संचालन पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया गया है. गंगा के जलस्तर में तेजी से बढ़ाव का सिलसिला जारी होने से तटवर्ती इलाकों में रहने वाले लोग सहमे हुए हैं. केंद्रीय जल आयोग की बाढ़ बुलेटिन के अनुसार रविवार सुबह गंगा का जलस्तर 66.34 मीटर दर्ज किया गया.गंगा के जलस्तर में तीन सेंटीमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से बढ़ाव का सिलसिला बना हुआ है. नमो घाट का फर्श पूरी तरह से डूब गया. मणिकर्णिका घाट के रैंप पर पानी चढ़ने के कारण शवदाह के लिए आने वाले लोगों को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है. लोग एक घाट से दूसरे घाट पर जाने के लिए गलियों का उपयोग कर रहे हैं.

पूर्वांचल में कई जगह बादलों ने बदला मौसम

पूर्वांचल के वाराणसी सहित कई जनपदों में बारिश की फुहारों से मौसम खुशगवार हो गया है. सुबह से बादलों की मौजूदगी बनी हुई है. अगस्त महीने के शुरुआत से ही रुकरुक कर बारिश होने से किसानों के चेहरे खिल उठे हैं. शनिवार की बारिश से भी खेत लबालब हो गए हैं। इससे धान की फसल को फायदा होगा. बीएचयू के मौसम वैज्ञानिक बताते हैं कि मानसून की सक्रियता अब बढ़ गई है. इस कारण शनिवार को अच्छी बारिश हुई. रविवारको भी बारिश का मौसम बना हुआ है.

इन जनपदों में बारिश के आसार

यूपी के मौसम में कहीं बारिश कहीं उमस की स्थिति देखने को मिल रही है. प्रदेश में रविवार को कई जगह बारिश की संभावना जताई गई है. अगस्त की शुरुआत में कहीं झमाझम बारिश हो रही है. तो कहीं धीमी या मध्यम तेज गति से बादल बरस रहे हैं. रविवार को प्रदेश के संतकबीर नगर के साथ ही अन्य कई जिलों जैसे कि सिद्धार्थनगर, श्रावस्ती व करीब 10 और जिलों में भारी से भी बहुत भारी बारिश होने पड़ने की संभावना जताई गई है.

लखनऊ और आसपास के इलाकों में रिमझिम फुहार, अगले चौबीस घंटे में कई जगह बारिश के आसार

लखनऊ के कुछ हिस्सों में शनिवार देर शाम मौसम ने करवट ली. इस दौरान कई इलाकों में रिमझिम बारिश से मौसम बदल गया. हालांकि मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक लखनऊ में तेज बारिश नहीं हुई है. चक्रवातीय परिस्थितियों में बदलाव के कारण बारिश के आसार हैं. मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक अगले 24 घंटे में प्रदेश में कई जगह बारिश की संभावना है.

वाराणसी में मौसम ने दी लोगों को राहत, ​चार दिनों तक बारिश की ​स्थिति

पूर्वांचल के कई जिलों में शनिवार को बादलों की मौजूदगी की वजह से मौसम खुशनुमा बना रहा. बीएचयू के मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक यह स्थिति तीन-चार दिनों तक बनी रह सकती है. ट्रफ लाइन भी अपनी सामान्य स्थिति में आ रही है, पूर्वी-उत्तरी हवाओं के चलते बादल भी आ रहे हैं, भरपूर आर्द्रता बनी हुई है, इसलिए इधर तीन चार दिनों तक रिमझिम वर्षा का प्रभाव बना रहेगा. इस बीच बारिश के साथ ही मौसम सुहावना हो गया है. बारिश होने से गर्मी और उमस से राहत मिली है. किसानों के लिए ये बारिश काफी खास है. धान की रोपाई के समय में बारिश नहीं होने से किसानों की चिंता बढ़ गई थी. लेकिन, अब बारिश होने से अन्नदाताओं के भी चेहरे खिल गए हैं.

पूर्वांचल में ज्यादा बरसेंगे बादल

आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र, लखनऊ के वरिष्ठ वैज्ञानिक अतुल कुमार सिंह के अनुसार, मानसून की ट्रफ लाइन मध्य प्रदेश से होकर अब हिमालय की तलहटी की ओर बढ़ेगी. इस वजह से आने वाले दिनों में पूर्वी उत्तर प्रदेश में अच्छी बारिश के आसार हैं. प्रदेश में शनिवार को पश्चिमी यूपी में अनेक स्थान पर गरज चमक के साथ बारिश हो सकती है, जबकि पूर्वी यूपी में लगभग सभी स्थानों पर गरज चमक के साथ बारिश होने की संभावना है. इस दौरान पश्चिमी यूपी में एक दो स्थान पर तेज बारिश और बिजली गिरने के साथ ही पूर्वी यूपी में एक दो स्थानों पर बहुत तेज बारिश और बिजली गिरने की संभावना है.

बुंदेलखंड के जिलों में बारिश से राहत

इससे पहले शुक्रवार को बुंदेलखंड क्षेत्र और उत्तराखंड से सटे कुछ जिलों में अच्छी बारिश भी दर्ज की गई. वहीं दिन भर छिटपुट बादलों की आवाजाही के साथ धूप से चिपचिपी गर्मी का मौसम राजधानी समेत आसपास के जिलों में भी बना रहा. आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र, लखनऊ के वरिष्ठ वैज्ञानिक अतुल कुमार सिंह के अनुसार, मानसून की ट्रफ लाइन मध्य प्रदेश से होकर अब हिमालय की तलहटी की ओर बढ़ेगी. इस वजह से आने वाले दिनों में पूर्वी उत्तर प्रदेश में अच्छी बारिश के आसार हैं.

लखनऊ में उमस भरी गर्मी, 30 से अधिक शहरों में बरसेंगे बादल

लखनऊ और आसपास के जनपदों में शनिवार दोपहर बाद से उमस का माहौल है, जिसकी वजह से लोग परेशान हैं. हालांकि आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र, लखनऊ के मुताबिक यूपी में अगले 24 घंटे के अंदर मौसम तेजी से करवट लेगा. लोगों को भीषण उमस और गर्मी से निजात मिलेगी. प्रदेश के 30 से अध‍िक शहरों में आज से झमाझम बार‍िश के आसार हैं. नई दिल्ली से लगे एनसीआर के इलाकों में शनिवार सुबह से मौसम में बदलाव देखने को मिला है.

लखनऊ में रात में जमकर बरसे बादल

राजधानी लखनऊ और आसपास के क्षेत्रों में गुरुवार रात करीब 10 बजे से जोरदार बारिश शुरू हो गई. इससे पहले दिन में बादलों के छाए रहने के बीच बादल नहीं बरसे और उमस का असर देखने को मिला. लेकिन देर रात अचानक बादलों ने अपना असर दिखाया और तेज बारिश हुई. मौसम विभाग ने प्रदेश में कई जगह बारिश और आकाशीय बिजली गिरने का अलर्ट जारी किया है.

तराई बेल्ट में बारिश की संभावना

लखनऊ के अलावा उत्तर प्रदेश की तराई बेल्ट में भी बारिश की संभावना जताई जा रही है. मौसम विभाग के मुताबिक लखनऊवासियों और तराई क्षेत्र के लोगों को हल्की बारिश का अनुभव हो सकता है. वहीं दूसरी ओर, बांदा और आसपास के जिलों में भारी बारिश हो सकती है. अगले 48 घंटे में बुंदेलखंड क्षेत्र में भारी बारिश होने की संभावना है.

कई जनपदों में मध्यम से तेज बारिश के आसार

मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में गुरुवार से लेकर शुक्रवार तक कई जनपदों में मध्‍यम से तेज बारिश हो सकती है. इनमें चित्रकूट, बांदा, हमीरपुर, महोबा, झांसी, जालौन, ललितपुर, कानपुर, इटावा, औरैया, कन्‍नौज, नोएडा, मीरजापुर, सोनभद्र, मुरादाबाद, बिजनौर, रामपुर, अमरोहा, संभल प्रयागराज, फतेहपुर, कौशांबी, प्रतापगढ़, वाराणसी और चंदौली शामिल हैं. इसके साथ ही आगरा, अलीगढ़, औरैया, बांदा, बाराबंकी, बुलंदशहर, चंदौली चित्रकूट, एटा, इटावा, फर्रुखाबाद, फतेहपुर, फिरोजाबाद, गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, गाजीपुर, हमीरपुर, हापुड़, हाथरस, जालौन, जौनपुर, झांसी में तेज हवा चलने की उम्मीद है. इसी तरह कन्नौज, कानपुर देहात, कानपुर नगर, कासगंज, कौशाम्बी, ललितपुर, लखनऊ, महोबा, मैनपुरी मथुरा, मेरठ, मीरजापुर, प्रतापगढ़, प्रयागराज, रायबरेली, संत रविदास नगर, सोनभद्र, उन्नाव और वाराणसी में तेज झोंकेदार हवा के कारण मौसम का मिजाज बदलने के आसार हैं.

यूपी में अगले चौबीस घंटे में बदलेगा मौसम, तापमान में होगी गिरावट

उत्तर प्रदेश में इसके बाद 6, 7 और 8 अगस्त को भी प्रदेश में बारिश की स्थिति देखने को मिलेगी. इस तरह फिलहाल प्रदेश में 8 अगस्त तक बारिश की स्थिति बनी हुई है. आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र, लखनऊ के मुताबिक तापमान में अगले 24 घंटे के दौरान 2 से 3 डिग्री तक कमी होने की संभावना है. इसके बाद तापमान में कोई बड़ा बदलाव होने के आसार नहीं हैं.

40 से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी हवा

प्रदेश में गुरुवार को पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सभी स्थानों और पूर्वी उत्तर प्रदेश के कई स्थानों पर बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है. प्रदेश में एक या दो स्थानों पर भारी से बहुत भारी तथा 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा चल सकती है. इसके बाद 4 अगस्त को भी राज्य में यही स्थिति देखने को मिलेगी. वहीं 5 अगस्त को पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई स्थानों और पूर्वी उत्तर प्रदेश के अनेक स्थानों पर बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है.

बारिश के साथ तेज हवा चलने के आसार

प्रदेश में पश्चिमी व पूर्वी यूपी के जनपदों में गुरुवार को बारिश होने की संभावना है. इसके साथ ही गरज चमक की भी स्थिति देखने को मिल सकती है. मौसम विभाग के मुताबिक कई जगहों पर बहुत तेज बारिश होने के साथ आकाशीय बिजली गिरने की संभावना है. पश्चिमी और पूर्वी यूपी की कई जगहों पर 40 से 50​ किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है.

लखनऊ में गुरुवार को बारिश के आसार

राजधानी लखनऊ में मौसम के बदले मिजाज के बाद तापमान में गिरावट दर्ज की गई है.रात का तापमान इस समय 29.8 डिग्री दर्ज किया गया है. गुरुवार को बा​रिश होने के आसार हैं.

यूपी में अगले चौबीस घंटे में फिर भारी बारिश के आसार

आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र, लखनऊ के मुताबिक प्रदेश में बुधवार के बाद गुरुवार को बारिश का मौसम रहेगा.पूर्वी यूपी में 3 अगस्त को कई जगह स्थान पर गरज-चमक के साथ बारिश के आसार हैं. इसके साथ ही पश्चिमी यूपी में कहीं-कहीं बहुत तेज बारिश और बिजली गिरने की संभावना है.

जानें किस शहर में कितनी हुई बरसात

आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र लखनऊ के मुताबिक सुबह 8.30 बजे तक लगभग 16 मिमी बारिश रिकार्ड हुई है. इसके अलावा बलिया में 18.2 मिमी, बाराबंकी में 17 मिमी, चित्रकूट में 16 मिमी तो रायबरेली में 28 मिमी बरसात रिकार्ड हुई. इसके साथ ही कानपुर, गोरखपुर, हमीरपुर, प्रयागराज, कुशीनगर, वाराणसी समेत अन्य इलाकों में भी जोरदार बारिश हुई है. इसकी वजह से लोगों को राहत मिली है.

लखनऊ में बारिश के कारण कई इलाकों में जलभराव

यूपी में मानसून के सक्रिय होने के बाद राजधानी लखनऊ और आसपास के क्षेत्रों में बुधवार को जमकर बारिश हुई. इस वजह से सड़कों पर जलभराव की स्थिति हो गई. कई इलाके पूरी तरह जलमग्न हो गए और लोगों को सड़कों पर पानी भरा होने के कारण बाहर जाने में दिक्कतों का सामन करना पड़ा. तेज बारिश के बाद फिलहाल आसमान साफ है. आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र लखनऊ के मुताबिक सुबह 8.30 बजे तक लगभग 16 मिमी बारिश रिकार्ड हुई है. इसके बाद बारिश में और इजाफा हुआा है. वहीं मौसम विभाग ने बुधवार को प्रदेश में कई स्थानों पर बारिश की संभावना जताई है.

दक्षिण पश्चिम यूपी में सक्रिय है चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र

आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र, लखनऊ के मुताबिक दक्षिण पश्चिम उत्तर प्रदेश और आसपास के इलाकों पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है. इसके साथ ही उत्तरी बंगाल की खाड़ी के मध्य भागों पर बना हुआ गहरे निम्न दबाव का क्षेत्र एक डिप्रेशन में केंद्रित हो गया है. मॉनसून ट्रफ का पश्चिमी छोर हिमालय और पूर्वी की तलहटी के करीब चल रहा है और पूर्वी छोर दरभंगा, देवघर और कैनिंग से होकर गुजर रहा है और फिर दक्षिण-पूर्व की ओर उत्तर पूर्व बंगाल पर दबाव के केंद्र तक पहुंच रहा है.

लखनऊ में झमाझम बारिश


पूर्वांचल में तेज हवाओं की वजह से बदल सकता है मौसम

आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र, लखनऊ के मुताबिक बुधवार को राज्य के अनेक स्थानों पर बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है. पश्चिमी उत्तर प्रदेश में एक या दो स्थानों पर भारी बारिश और पूर्वी उत्तर प्रदेश में एक या दो स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश होने के आसार हैं. इसके साथ ही पूर्वी उत्तर प्रदेश में एक या दो स्थानों पर 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा चल सकती है. इसके बाद 3 अगस्त को भी राज्य में ऐसी स्थिति देखने को मिल सकती है. वहीं 4 और 5 अगस्त को भी प्रदेश में कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है. इसके बाद 6 और 7 अगस्त को राज्य में अनेक स्थान पर बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना जताई गई है. इस तरह प्रदेश में फिलहाल 7 अगस्त तक बारिश की संभावना जताई गई है.

चौबीस घंटे के भीतर बदल गया मौसम

राजधानी लखनऊ और आसपास के क्षेत्रों में मंगलवार को सुबह बारिश के बाद दिन में उमस का मौसम रहा. पूरे दिन लोग उमस से परेशान रहे. वहीं मौसम विभाग ने बुधवार को लखनऊ और आसपास के क्षेत्रों में अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना जताई है. हालांकि इस तेज बारिश की वजह से लखनऊ का अधिकतम और न्यूनतम दोनों तापमान गिरने की संभावना है

लखनऊ में जमकर बरस रहे बादल, सुबह से दूसरी बार हुई बारिश, गर्मी से राहत

मानसून की सक्रियता के बावजूद बादलों के बरसने का इंतजार कर रहे लखनऊ सहित अन्य जनपदों के लोगों को बुधवार को बड़ी राहत मिली.सुबह से कई जगह बादलों के बरसने का सिलसिला जारी है. इस वजह से लोगों को उमस भरी गर्मी से राहत मिली है.

लखनऊ में झमाझम बारिश से हुई सुबह की शुरुआत, गर्मी से मिलेगी निजात, जानें और शहरों का हाल

लखनऊ में बुधवार सुबह झमाझम बारिश से मौसम पूरी तरह बदल गया है. मानसून के फिर सक्रिय होने के बाद पहली बार तेज बारिश हो रही है. इसकी वजह से लोगों को राहत महसूस हुई है. इस बारिश की वजह से कई जगह जलभराव भी देखने को मिला है. मौसम विभाग ने बुधवार को पूर्वी उत्तर प्रदेश और पश्चिमी यूपी के कई हिस्सों में बारिश की संभावना जताई है.

अगस्त के शुरुआती दिनों में भी मानसून नहीं मेहरबान

यूपी में मंगलवार सुबह बारिश के बाद दोपहर से लेकर रात तक भयंकर गर्मी और उमस का मौसम बना रहा. रात में भी लोगों को मौसम से राहत नहीं मिली. लखनऊ सहित कई जनपदों में चिपचिपी गर्मी लोगों का जीना मुहाल कर रही है. अगस्त के शुरुआती दिन बारिश के लिहाज से बहुत ज्यादा अच्छे साबित नहीं हुए हैं.

पश्चिमी यूपी में सामान्य से ज्यादा बारिश, पूर्वांचल को बादलों के बरसने का है इंतजार

यूपी में जुलाई माह में पूर्वांचल जहां सूखे से जूझता नजर आया, वहीं पश्चिमी यूपी में मानसून मेहरबान रहा. इस वजह से यहां बारिश की अच्छी स्थिति देखने को मिली है. मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक पश्चिमी यूपी में सामान्य से करीब 17 प्रतिशत ज्यादा बारिश हुई है. अगस्त में पूर्वांचल में बारिश की ज्यादा संभावना के बीच वहां के रिकॉर्ड में सुधार देखने को मिल सकता है.

पश्चिमी यूपी के करीब चक्रवात की स्थिति

आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र, लखनऊ के मुताबिक एक चक्रवाती परिसंचरण दक्षिण पश्चिम उत्तर प्रदेश और आसपास के क्षेत्र में समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर स्थित है.निम्न दबाव क्षेत्र अब उत्तरी बंगाल की खाड़ी के मध्य भागों पर है. एक संबद्ध चक्रवाती परिसंचरण औसत समुद्र तल से 9.5 किमी ऊपर तक फैला हुआ है. मानसून ट्रफ अमृतसर, पटियाला, बरेली, गोरखपुर, गया, बांकुरा और दीघा, अच्छी तरह से चिह्नित निम्न दबाव क्षेत्र का केंद्र, और फिर दक्षिण-पूर्व की ओर उत्तरी अंडमान सागर तक है.

यूपी में अधिकतम तापमान में बदलाव की संभावना नहीं

प्रदेश में अधिकतम तापमान में अगले दो दिनों तक कोई बड़ा बदलाव होने की संभावना नहीं है. इसके बाद अगले तीन दिनों में 2 से 3 डिग्री सेल्सियस गिरावट की संभावना है. वहीं न्यूनतम तापमान में अगले पांच दिनों के दौरान को बड़ा इजाफा होने की संभावना नहीं है. बीते चौबीस घंटे में कानपुर में सबसे ज्यादा तपिश देखने को मिली. यहां अधिकतम तापमान 37.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. वहीं न्यूनतम तापमान नजीबाबाद में 25.2 डिग्री सेल्सियस रहा. हमीरपुर में 24 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई.

यूपी में 6 अगस्त तक बारिश की स्थिति

आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र, लखनऊ के मुताबिक पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ स्थानों तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश में कई जगह बारिश और गरज चमक के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है. इसके बाद दो अगस्त को पूरे प्रदेश में बारिश की स्थिति देखने को मिल सकती है. इस दौरान पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कई जगह तथा पूर्वांचल में सभी जगह बारिश के आसार हैं. आकाशीय बिजली गिरने का भी अलर्ट जारी किया गया है. प्रदेश में फिलहाल 6 अगस्त तक बारिश की संभावना जताई गई है.

लखनऊ में बारिश के बाद उमस

लखनऊ में सुबह की रिमझिम फुहारों ने जहां मौसम खुशगवार कर दिया था, वहीं इसके बाद फिर उमस भरी गर्मी लोगों को बेहाल कर रही है. राजधानी और आसपास के क्षेत्रों में आसमान में आंशिक तौर पर बादल छाए हुए हैं. सूरज और बादलों की आंखमिचौली देखने को मिल रही है. वहीं हवा पूरी तरह से बंद है. ऐसे में उमस होने के कारण सुबह की बारिश का कोई असर नजर नहीं आ रहा है.

बारिश की बन रही स्थिति

मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश के दक्षिणी हिस्सों में मानसून ट्रफ के कारण मध्यम से भारी बारिश हो सकती है. अन्य प्रदेश भर में बूंदाबांदी से हल्की बरसात के पूर्वानुमान है. आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र, लखनऊ के वरिष्ठ वैज्ञानिक मोहम्मद दानिश के अनुसार वर्तमान में मानसून की ट्रफ लाइन उत्तर प्रदेश के दक्षिणी इलाकों की ओर है.

पूर्वांचल में जुलाई में सामान्य से 32 फीसदी कम बरसे बादल, अगस्त में ऐसा रहेगा मौसम

मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, जुलाई महीने के दौरान पूर्वी उत्तर प्रदेश में सामान्य से 32 प्रतिशत कम बारिश हुई है. वहीं पश्चिमी उत्तर प्रदेश में इस दौरान सामान्य से 11 प्रतिशत अधिक बरसात हुई है. इस वजह से प्रदेश में मानसून के पूर्वार्द्ध यानी जून-जुलाई के दौरान 357.6 मिमी. के दीर्घकालिक औसत की तुलना में अब तक कुल 298.8 मिमी. बारिश हुई है.ये सामान्य से 16 प्रतिशत कम है. अब पूर्वांचल के लोग अगस्त में भारी बारिश का इंतजार कर रहे हैं. मौसम विभाग ने यहां मानसून के सक्रिय होने की संभावना जताई है.

जुलाई में सामान्य से 32 प्रतिशत कम बारिश

मौसम के वैज्ञानिकों के मुताबिक, जुलाई महीने के दौरान पूर्वी उत्तर प्रदेश में सामान्य से 32 प्रतिशत कम बारिश हुई है. वहीं पश्चिमी उत्तर प्रदेश में इस दौरान सामान्य से 11 प्रतिशत अधिक बरसात हुई है. इस वजह से प्रदेश में समेकित तौर पर मानसून के पूर्वार्द्ध यानी जून-जुलाई के दौरान 357.6 मिमी. के दीर्घकालिक औसत की तुलना में अब तक कुल 298.8 मिमी. बारिश हुई है.ये सामान्य से 16 प्रतिशत कम है.

इन जिलों में गरज चमक के साथ बारिश के आसार

यूपी में मंगलवार को पश्चिमी यूपी में कुछ स्थानों पर गरज चमक के साथ बारिश होने की संभावना है. इस दौरान पूर्वी यूपी में अनेक स्थान पर गरज चमक के साथ बारिश हो सकती है. मौसम विभाग ने पूर्वी यूपी में एक दो स्थानों पर बिजली गिरने के साथ-साथ भारी बारिश होने की संभावना जताई है. आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र, लखनऊ के ताजा अपडेट के मुताबिक मंगलवार को प्रयागराज, सोनभद्र, मीरजापुर, चंदौली, वाराणसी, संत रविदास नगर और आसपास इलाकों में भारी बारिश हो सकती है.

लखनऊ सहित कई जगह मंगलवार सुबह राहत की बारिश

पी में मानसून की बदली परिस्थितियों के कारण मौसम के अलग अलग रंग देखने को मिल रहे हैं. राज्य में कहीं बारिश तो कहीं सूखे की स्थिति है. राजधानी लखनऊ सहित कई इलाकों में मंगलवार सुबह बारिश की वजह से मौसम खुशनुमा हो गया. ये ​बारिश फिलहाल राहत देती नजर आ रही है. हालांकि, लखनऊ में अभी तक भारी बारिश नहीं हुई है, इस वजह से यहां उमस का असर देखने को मिल रहा है.

पश्चिमी यूपी में सामान्य से ज्यादा हुई बारिश, मानसून के लिए तरस रहा पूर्वांचल

यूपी में जुलाई माह में पूर्वांचल जहां सूखे से जूझता नजर आया, वहीं पश्चिमी यूपी में मानसून मेहरबान रहा. इस वजह से यहां बारिश की अच्छी स्थिति देखने को मिली है. मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक पश्चिमी यूपी में सामान्य से करीब 17 प्रतिशत ज्यादा बारिश हुई है. अगस्त में पूर्वांचल में बारिश की ज्यादा संभावना के बीच वहां के रिकॉर्ड में सुधार देखने को मिल सकता है.

लखनऊ में धूल भरी आंधी से बदला मौसम

लखनऊ में उमस भरी गर्मी के बीच शाम को अचानक आसमान में काले बादल छा गए और धूल भरी आंधी चलने लगी. इस वजह से सड़क पर मौजूद लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा. हालांकि धूल का गुबार उठाने के थोड़ी देर बाद शांत हो गया. लोगों को उम्मीद थी कि आंधी के बाद बादल मेहरबान होंगे, हालांकि बारिश नहीं हुई. कुछ स्थानों पर छिटपुअ रूप से छीटें पड़े.

कई जिलों में उमस के कारण लोग बेहाल

लखनऊ पूरे दिन आंशिक तौर पर बादलों की मौजूदगी के कारण सुबह से उमस की स्थिति है. कानपुर, उन्नाव, बाराबंकी, हरदोई, सीतापुर और अयोध्या में भी इसी तरह का मौसम है. मौसम विभाग के मुताबिक मानसून की सक्रियता के कारण बारिश की स्थिति बन रही है.

पूर्वांचल में सक्रिय हो रहा मानसून, भारी बारिश के आसार

आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र, लखनऊ के मुताबिक इस समय मानसून पूर्वांचल में सक्रिय हो रहा है और वहां से धीरे-धीरे तराई की ओर बढ़ रहा है. यही कारण है कि पूर्वांचल के लगभग सभी जिलों में बारिश होगी. वहीं, पश्चिमी यूपी में बरसात कम होगी. पश्चिमी यूपी और पूर्वी यूपी के अधिकांश इलाकों में गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना जताई गई है. राज्य में एक या दो जगह आकाशीय चमक होने की संभावना है वहीं पूर्वी यूपी के एक दो स्थानों पर भारी बारिश की आशंका जताई गई है.

अगले पांच दिन बरसेंगे बादल, तापमान में बदलाव की संभावना नहीं

मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक उत्तर प्रदेश में अगले पांच दिन तक तापमान में कोई बड़ा बदलाव होने की संभावना नहीं है. पिछले चौबीस घंटे में सर्वाधिक तापमान 37.5 डिग्री सेल्सियस बलिया में दर्ज किया गया तो वहीं न्यूनतम तापमान झांसी में 24.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है. यूपी में अगले पांच दिनों तक कई स्थानों पर बारिश होगी.

चक्रवातीय परिस्थितियों के अभाव में बादलों के बावजूद नहीं हो रही बारिश

मौसम विभाग का अनुमान है कि यूपी में अगले कुछ दिन लगातार बारिश होगी. इसमें पूर्वांचल और पश्चिमी यूपी के हिस्से शामिल हैं. इसके साथ ही मौसम विभाग ने आकाशीय बिजली के लिए अलर्ट जारी किया है. वहीं मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, सामान्य मानसून की वजह से बादल तो आ रहे हैं, लेकिन चक्रवातीय परिस्थितियां न बनने से तेज बारिश नहीं हो रही है.

इन जनपदों में बारिश से बदलेगा मौसम

मौसम विभाग ने मानसून की बदली परिस्थितियों के मद्देनजर कई जनपदों में बारिश के आसार जताए हैं. इनमें बांदा, चित्रकूट, कौशांबी, प्रयागराज, फतेहपुर, प्रतापगढ़, सोनभद्र, मिर्जापुर, चंदौली, वाराणसी, संत रविदास नगर, जौनपुर, गाजीपुर, आजमगढ़, मऊ, बलिया, देवरिया, गोरखपुर, संत कबीर नगर, बस्ती, कुशीनगर, महाराजगंज और सिद्धार्थनगर में बारिश की संभावना है.

इसके साथ ही कुशीनगर, महाराजगंज व आसपास के इलाकों में भारी बारिश की संभावना जताई गई है. इसके अलावा गोंडा, बलरामपुर, रायबरेली, अमेठी, सुल्तानपुर, अयोध्या, अंबेडकर नगर, जालौन, हमीरपुर, महोबा, झांसी, ललितपुर एवं आसपास इलाकों में आकाशीय बिजली गिरने के आसार हैं.

अगस्त के पहले सप्ताह से बदलेगा मौसम

यूपी में कई जनपदों से रूठा मानसून अब उन पर मेहरबान होने जा रहा है. मौसम विभाग ने मध्यम से तेज बारिश की संभावना जताई है. आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र, लखनऊ के वरिष्ठ वैज्ञानिक अतुल कुमार सिंह के मुताबिक अब प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है. पूर्वी उत्तर प्रदेश की तुलना में पश्चिम यूपी में बारिश की संभावना ज्यादा है. अगस्त के पहले सप्ताह में पूरी यूपी में बारिश होने की संभावना है.

26853842685384

Next Article

Exit mobile version