1. home Hindi News
  2. world
  3. samosa caucus continues to prevail in america four candidates of indian origin win four losers two still waiting for decision ksl

अमेरिकी चुनाव में 'समोसा कॉकस' का जलवा बरकरार, भारतीय मूल के चार उम्मीदवार जीते, चार हारे, दो अब भी कर रहे फैसले का इंतजार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
डॉ एमी बेरा, प्रमिला जयपाल, राजा कृष्णमूर्ति और रो खन्ना.
डॉ एमी बेरा, प्रमिला जयपाल, राजा कृष्णमूर्ति और रो खन्ना.
सोशल मीडिया

नयी दिल्ली : अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव पर दुनिया की नजरें टिकी हैं. हालांकि, यूएस एजेंसी ने जो बाइडेन को अमेरिका का राष्ट्रपति होने की बात कही है. वहीं, रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप सुप्रीम कोर्ट में जाने की बात कह चुके हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के साथ निचले सदन के सदस्यों का भी चुनाव हो रहा है. कई नतीजे भी घोषित हो चुके हैं.

अमेरिका में भारतीय मूल के काफी लोग विभिन्न राज्यों में रहते हैं. साथ ही चुनावों में उम्मीदवार भी होते हैं. अमेरिकी चुनावों में भारतीय मूल के राजनेताओं को अनौपचारिक तौर पर ''समोसा कॉकस'' कहा जाता है. इस बार भी रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक दोनों दलों ने भारतीय उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है. इनमें से कई को जीत मिली है, तो कई उम्मीदवारों को हार का सामना भी करना पड़ा है.

भारतीय मूल के चार डेमोक्रेटिक उम्मीदवारों की हुई वापसी

हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स के सदस्य रहे भारतीय मूल के अमेरिकी राजनेताओं में चार डेमोक्रेटिक नेताओं की एक बार फिर वापसी हुई है. जानकारी के मुताबिक, डॉ एमी बेरा, प्रमिला जयपाल, रो खन्ना उर्फ रोहित खन्ना और राजा कृष्णमूर्ति एक बार फिर जीत हासिल करने में कामयाब हुए हैं. वहीं, सूची में उपराष्ट्रपति पद की डेमोक्रेट उम्मीदवार कमला हैरिस का नाम भी जुड़ सकता है. उनके जीत हासिल करने की भी उम्मीद की जा रही है.

भारतीय मूल के दो रिपब्लिकन और दो डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हारे

हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटविस में भारतीय मूल के दो रिपब्लिकन उम्मीदवार और दो डेमोक्रेट उम्मीदवारों को हार का सामना करना पड़ा है. भारतीय मूल के रिपब्लिकन उम्मीदवार मेंगा अनंतमूला और निशा शर्मा को हार का सामना करना पड़ा. जबकि, डेमोक्रेटिक पार्टी से खड़े हुए प्रेस्टन कुलकर्णी और हीरल तिपिरनेनी भी जीत दर्ज नहीं कर सके.

दो भारतीय-अमेरिकी उम्मीदवार अब भी कर रहे फैसले का इंतजार

भारतीय मूल के 10 अमेरिकी राजनेता अमेरिकी कांग्रेस का चुनाव लड़ रहे हैं. इनमें से डेमोक्रेटिक पार्टी ने सात भारतीय मूल के नेताओं को मैदान में उतारा है, जबकि रिपब्लिकन पार्टी ने तीन भारतीय मूल के उम्मीदवारों को उतारा है. इनमें से चार भारतीय मूल के नेताओं ने जीत हासिल की है, जबकि चार को हार का सामना करना पड़ा है. वहीं, दो उम्मीदवार अब भी फैसले का इंतजार कर रहे हैं.

'समोसा कॉकस' के सदस्य

डॉ एमी बेरा

समोसा कॉकस की सबसे वरिष्ठ सदस्य डॉ एमी बेरा के पिता बाबूलाल बेरा 1958 में अमेरिका गये थे. उन्होंने लगातार पांचवीं बार कैलिफोर्निया के सातवें कांग्रेस निर्वाचन क्षेत्र से जीत हासिल की है. पेशे से चिकित्सक डॉ एमी बेरा का जन्म भी अमेरिका में हुआ था.

प्रमिला जयपाल

अमेरिकी कांग्रेस की सदस्य प्रमिला जयपाल ने तीसरी बार जीत दर्ज की हैं. प्रमिला का जन्म चेन्नई में हुआ था. वाशिंगटन के सातवें कांग्रेस निर्वाचन क्षेत्र से डेमोक्रेटिक पार्टी से मैदान में उतरी प्रमिला ने रिपब्लिकन पार्टी के क्रेग केल्लर को हराया है. साल 2016 में हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव के लिए निर्वाचित होनेवाली वह भारतीय मूल की पहली महिला थीं.

रो खन्ना उर्फ रोहित खन्ना

रो खन्ना उर्फ रोहित खन्ना भी एक भारतीय-अमेरिकी उम्मीदवार हैं. रो खन्ना डेमोक्रेटिक पार्टी से चुनावी मैदान में उतरे हैं. कैलिफोर्निया के 17वें कांग्रेस निर्वाचन क्षेत्र से उनकी यह तीसरी जीत है. जानकारी के मुताबिक, रो खन्ना के माता-पिता बेहतर अवसर की तलाश में 1970 के दशक में ही अमेरिका चले गये थे. खन्ना पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के प्रशासन में भी कार्यरत थे.

राजा कृष्णमूर्ति

भारतीय मूल डेमोक्रेटिक उम्मीदवार राजा कृष्णमूर्ति तमिल मूल के हैं. हालांकि, उनका जन्म नयी दिल्ली में हुआ था. बताया जाता है कि जब वह तीन माह के थे, उसी समय उनके माता-पिता अमेरिका चले गये और न्यूयॉर्क के बुफैलो में बस गये. हार्वर्ड से ग्रेजुएट राजा कृष्णमूर्ति ने लॉ क्लर्क के तौर पर भी काम किया है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें