1. home Hindi News
  2. world
  3. now pakistan has released disputed map claims on jammu kashmir ladakh and junagadh gujarat

अब पाकिस्तान ने जारी किया विवादित नक्शा, भारत ने दिया करारा जवाब, बताया बेतुका

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Imran Khan
Imran Khan
File Photo

नयी दिल्ली : नेपाल के बाद अब पाकिस्तान (Pakistan) ने भी एक विवादित नक्शा जारी कर भारत के कुछ क्षेत्रों पर अपना दावा ठोका है. हालांकि भारत ने इसे बेतुका बताया है. पाकिस्तान ने एक नक्शा जारी कर जम्मू-कश्मीर के सियाचिन, लद्दाख और गुजरात के जूनागढ़ को अपना हिस्सा बताया है. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने मंगलवार को एक बैठक के दौरान यह नक्शा (Pakistan Disputed Map) जारी किया है. इससे पहले नेपाल ने एक विवादित नक्शा जारी कर भारत के कई भूखंडों को अपना बताया था.

भारत की ओर से इस विवादित नक्शे पर कड़ी प्रतिक्रिया दी गयी है. भारत की ओर से प्रतिक्रिया में कहा गया कि यह बेतुका राजनीतिक कार्य है. पूरी तरह रातनीति से प्रेरित है. इन हास्यास्पद दावों की न तो कानूनी वैधता है और न ही अंतरराष्ट्रीय विश्वसनीयता. वास्तव में, यह सीमा पार से आतंकवादियों को भारत में भेजने के पाकिस्तान के जुनून की वास्तविकता की पुष्टि करता है.

आपको बता दें कि 5 अगस्त को भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 को खत्म कर दिया था. बुधवार को इसके एक साल पूरे हो रहे हैं. पाकिस्तान ने ऐसे समय में यह विवादित नक्शा जारी कर इन क्षेत्रों पर अपना दावा किया है. इमरान खान ने कैबिनेट की बैठक के ठीक बाद पाकिस्तान का एक नया पॉलिटिकल मैप जारी किया है. इस नक्शे में सियाचिन को पाकिस्तान का हिस्सा बताया गया है.

यहां बता दें कि कश्मीर और लद्दाख में कई क्षेत्रों पर पाकिस्तान पहले से भी दावा करता रहा है. लेकिन, इस बार उसने गुजरात के जूनागढ़ को भी अपना बताया है. सियाचिन के साथ पाकिस्तान ने सर क्रीक को भी अपना बताया है. स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो पाकिस्तान अपना नया नक्शा संयुक्त राष्ट्र के सामने रखने वाला है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने यह एलान करते हुए दावा किया है कि भारत ने पाकिस्तान के हिस्से वाली जमीन पर अवैध निर्माण करा रखा है. उन्होंने यह भी कहा कि सर क्रीक में भारत के साथ उनका विवाद है. माना जा रहा है कि पाकिस्तान चीन के उकसावे में ऐसा कदम उठा रहा है. नेपाल भी चीन के ही उकसावे में आकर विवादित नक्शा पास किया था.

उल्लेखनीय है कि नेपाल ने भी एक विवादित नक्शा पास कर भारत के साथ अपने संबंध खराब कर लिए हैं. नेपाल ने लिपुलेख, कालापानी और लिंपियाधुरा को अपना बताया है. इसपर भारत ने बड़ी आपत्ति दर्ज करायी थी. नेपाल सरकार ने पहले एक विवादित नक्शा जारी किया और बाद में उसे अपनी संसद में पास भी करा लिया. भारत के साथ खराब संबंधों की वजह से नेपाल में ओली की सरकार संकट में है.

Posted By: Amlesh Nandan Sinha.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें