Gionee स्मार्टफोन कंपनी के CEO Liu Lirong ने जुए में हारे 1 खरब रुपये, अब दिवालिया होगी कंपनी?

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

चीन की स्मार्टफोन निर्माता कंपनी जियोनी दिवालियेपन की कगार पर है. इसकी वजह बने हैं कंपनी के चेयरमैन और सीईओ लियू लिरोंग (Liu Lirong), जो जुए की लत की चलते 10 अरब युआन (लगभग 1 खरब रुपये) हार गये हैं.

निक्केई एशियन रिव्यू में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, चीन के एक कोर्ट ने जियोनी में उसके चेयरमैन और सीईओ लियू लिरोंग का 41.4 पर्सेंट स्टेक दो साल के लिए फ्रीज कर दिया है.

बताते चलें कि लिरोंग ने 2002 में जियोनी कंपनी की स्थापना की थी. जल्द ही उनकी कंपनी चीन के साथ-साथ दक्षिण एशियाई देशों के मेनस्ट्रीम ब्रांड में शामिल हो गयी. कंपनी ने 2016 तक 4 करोड़ हैंडसेट बेचे.

जियोनी ने कम कीमत के हैंडसेट उतारे और बड़े-बड़े सितारों से विज्ञापन करवाया. भारत में हाल तक जियोनी के विज्ञापन में बॉलीवुड एक्ट्रेस आलिया भट्ट नजर आती थीं.

हालांकि, 2017 तक ओप्पो, वीवो जैसीकंपनियां मार्केट में आ गयीं, जिससे जियोनी का बाजार प्रभावित हुआ. फिर भी कंपनी ने नवंबर 2017 में आठ फुल स्क्रीन के एंड्राॅयड स्मार्टफोन लॉन्च किये.

इस इवेंट में खुद लिरोंग मौजूद थे. तब उन्होंने दावा किया था कि जियोनी दुनिया की पहली ऐसी स्मार्टफोन सप्लायर कंपनी है, जिसके नये हैंडसेट 18:9 एस्पेक्ट रेशियो डिस्प्ले वाले हैं.

चीन की वेबसाइट साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट में प्रकाशित खबर के अनुसार, साइपैन के एक कसीनो में एक दांव में लिरोंग इतनी बड़ी रकम हार गये. चीन की स्थानीय मीडिया के मुताबिक, लिरोंग ने इतना तो स्वीकार किया है कि वह कंपनी की पूंजी जुए में हारे हैं लेकिन इतनी नहीं जितना मीडिया दावा कर रही है.

लिरोंग ने कहा है कि वह 1008 करोड़ रुपये (14.4 करोड़ डॉलर) की रकम हारे थे. लिरोंग ने यह भी दावा किया कि उन्होंने जुए के लिए जियोनी के कैश का गलत इस्तेमाल नहीं किया, लेकिन यह कहा कि उन्होंने कंपनी से फंड जरूर उधार लिया है.

लिरोंग ने एक साक्षात्कार में इस बात से भी इनकार किया है कि जियोनी की आर्थिक हालत उनकी जुए की लत से कारण बिगड़ी है. उनका कहना है कि कंपनी को 2013 से 2015 के बीच जबर्दस्त घाटा हुआ. इसी साल अप्रैल में, कंपनी ने अपने आधे से ज्यादा कर्मियों की छंटनी कर दी थी. जियोनी की चीन के बाजार में 6 फीसदी हिस्सेदारी थी.

वहीं, चीनी वेबसाइट जायमिअान (Jiemian) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, यह मामला तब सामने आया जब ये पता चला कि जियोनी अपने सप्लायर्स को पेमेंट नहीं दे पायी. चीनी न्यूज वेबसाइट के मुताबिक, इस साल अप्रैल में कंपनी ने लगभग 650 करोड़ रुपये का निवेश किया था.

जियोनी इंडिया ने 2013 में अपने कारोबार की शुरुआत विराट कोहली, आलिया भट्ट और श्रुति हासन सरीखे ब्रांड एंबेसडर्स का सहारा लेकर की थी. सेल्फी फोटोग्राफी को अपने स्मार्टफोन की खासियत के रूप में प्रचारित किया था.

एक समय था जब स्मार्टफोन बाजार में यह कंपनी पांचवें स्थान पर होती थी, लेकिन अब कहानी दूसरी है.

यह भी पढ़ें -

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें