1. home Hindi News
  2. tech and auto
  3. railyatri security flaw 7 lakh users debit cards upi data exposed railyatri data breach railyatri unsecured server indian railway and bus passengers know details here rjv

Indian Railways : 7 लाख रेल यात्रियों के लिए शॉकिंग न्यूज! इस ऐप से लीक हो गया बहुत जरूरी इंफॉर्मेशन

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Indian Railways news: Railyatri security flaw unsecured server
Indian Railways news: Railyatri security flaw unsecured server
file photo

Indian Railways, Indian Railways news, Train news, Train ticket, RailYatri Data: कोरोना संक्रमण फैलने के बाद साइबर क्राइम में दिन-प्रतिदिन बढ़ोतरी हो रही है. आये दिन हैकर्स फोरम पर लोगों की निजी जानकारियों के लीक होने की खबरें सामने आ रही हैं. अब RailYatri के सर्वर में सेंध लगने की खबर है.

RailYatri के सर्वर में सेंध लगने की खबर सामने आयी है. एक साइबर सिक्योरिटी फर्म ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि रेलयात्री ने अनसिक्योर सर्वर पर लोगों का डेटा रखा हुआ था, जिसका फायदा उठाकर हैकर्स ने इस घटना को अंजाम दिया है.

एक साइबर सिक्योरिटी फर्म की रिपोर्ट के अनुसार, रेलयात्री ने अनसिक्योर सर्वर पर लोगों का डाटा रखा था जिसका फायदा उठाकर हैकर्स ने इस घटना को अंजाम दिया है. लीक हुए डेटा में टिकट बुक करने वालों की लोकेशन, यूपीआई आईडी, पेमेंट लॉगिन, बस बुकिंग, ई-मेल एड्रेस, नाम और कॉन्टेक्ट नंबर्स जैसी जानकारियां शामिल हैं.

Safety Detectives नाम की सिक्योरिटी फर्म ने बताया है कि रेलयात्री के सर्वर से 7 लाख से अधिक पैसेंजर्स की निजी जानकारी लीक हुई है जिनमें पेमेंट डिटेल से लेकर नाम और टिकट बुकिंग डिटेल्स जैसी जानकारियां शामिल हैं. इस डेटा लीक में पैसेंजर्स के क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड से जुड़ी जानकारी भी लीक होने का दावा किया गया है.

सिक्योरिटी फर्म का दावा है कि रेलयात्री ने अनएंक्रिप्टेड और बिना पासवर्ड वाले सर्वर पर यूजर्स का डेटा रखा था जिसका साइज लगभग 43 जीबी है. इनमें अधिकतर डेटा भारतीय लोगों का ही है. हालांकि इस रिपोर्ट पर रेलयात्री ने अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है, लेकिन सर्वर को फिलहाल बंद कर दिया गया है.

बता दें कि इस लीक के बारे में फर्म ने 10 अगस्त को ही जानकारी दी थी. सिक्योरिटी फर्म का कहना है कि रेलयात्री ने अनएंक्रिप्टेड और बिना पासवर्ड वाले सर्वर पर यूजर्स का डेटा रखा था. लीक हुए डेटा की साइज करीब 43 जीबी है. लीक डेटा में अधिकतर डेटा भारतीय लोगों की है.

मालूम हो कि बीते 12 अगस्त को सर्वर पर Meow बॉट ने अटैक किया था जिसने पूरे सर्वर डेटा को डिलीट कर दिया था. बता दें कि Meow बॉट एक नये टाइप का साइबर अटैक है, जो Elasticsearch, Redis और MongoDB जैसे अनसिक्योर सर्वर को डिलीट कर देता है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें