1. home Hindi News
  2. tech and auto
  3. 5g spectrum auction in india approved by cabinet check details here rjv

5G का इंतजार खत्म, जुलाई के अंत तक होगी 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी

स्पेक्ट्रम के लिए भुगतान 20 बराबर सालाना किस्तों में किया जा सकेगा और ये अग्रिम किस्तें प्रत्येक वर्ष की शुरुआत में देनी होंगी.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
5g in India
5g in India
fb/symbolic

5G in India: केंद्रीय मंत्रिमंडल ने देश में पांचवी पीढ़ी (5जी) की दूरसंचार सेवाओं के लिए 4.3 लाख करोड़ रुपये की स्पेक्ट्रम नीलामी को मंजूरी दे दी है. यह नीलामी 26 जुलाई, 2022 को शुरू होगी. सरकार 20 वर्ष की वैधता वाले कुल 72,097.85 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम की नीलामी करेगी. वहीं, निचली श्रेणी में 600, 700, 800, 900, 1800, 2100 और 2300 मेगाहर्ट्ज, मध्यम श्रेणी में 3300 मेगाहर्ट्ज और उच्च श्रेणी में 26 गीगाहर्ट्ज के लिए स्पेक्ट्रम की नीलामी की जायेगी. 5जी की नीलामी आरक्षित मूल्य पर की जायेगी. सफल बोलीदाताओं को अग्रिम भुगतान करने की कोई अनिवार्यता नहीं होगी. ऐसा पहली बार किया जा रहा है. स्पेक्ट्रम के लिए भुगतान 20 बराबर सालाना किस्तों में किया जा सकेगा और ये अग्रिम किस्तें प्रत्येक वर्ष की शुरुआत में देनी होंगी. इसके अलावा बोलीदाताओं को 10 वर्ष के बाद स्पेक्ट्रम वापस करने का विकल्प भी दिया जायेगा बशर्ते उनका कोई बकाया न हो. इस नीलामी में अधिग्रहीत स्पेक्ट्रम के लिए स्पेक्ट्रम उपयोग शुल्क भी नहीं लिया जायेगा. एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल ने स्पेक्ट्रम नीलामी का दूरसंचार विभाग का प्रस्ताव मंजूर कर लिया है.

सितंबर तक शुरू हो सकती हैं 5जी सेवाएं : वैष्णव

5जी सेवाएं इस साल सितंबर तक शुरू हो सकती हैं. केंद्रीय दूरसंचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बुधवार को कहा नीलामी समय पर शुरू हो रही है. जुलाई के अंत तक पूरी होगी. 5जी सेवाएं शुरू करने की समयसीमा अगस्त-सितंबर है. दूरसंचार कंपनियां इसके लिए ढांचा तैयार करने में जुटी हैं.

प्राइवेट नेटवर्क को मंजूरी

बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनियों द्वारा खुद के इस्तेमाल (कैप्टिव) के लिए 5जी नेटवर्क की स्थापना को भी मंजूरी मिली. साथ ही उन्हें अपने ‘निजी गैर-सार्वजनिक नेटवर्क' के लिए 5जी स्पेक्ट्रम को दूरसंचार कंपनियों से किराये पर लेने की इजाजत होगी. इससे ऑटो, स्वास्थ्य, कृषि, एनर्जी और अन्य सेक्टर्स में मशीन से मशीन के बीच कम्यूनिकेशंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के प्रयोग को बढ़ावा मिलेगा.

10,000 एमबीपीएस होगी इंटरनेट स्पीड

4जी की इंटरनेट स्पीड 100 एमबी प्रति सेकंड होती है. वहीं, 5जी सेवा में इंटरनेट स्पीड 10,000 एमबी प्रति सेकंड होती है. बैंडविथ की बात करें तो 4जी में 200 एमबी प्रति सेकंड होती है और 5जी में 1 जीबी प्रति सेकंड होती है. एवरेज स्पीड की बात करें तो यह 4जी में 25 एमबी प्रति सेकंड होती है और 5जी में 200 से 400 एमबी प्रति सेकंड होती है.

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें