1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. west bengal vidhan sabha chunav 2021
  5. union home minister amit shah says if mamata banerjee writes for phone tapping enquiry our government do in no time in an tv interview read full details abk

फोन टैपिंग के मुद्दे पर बोले अमित शाह- ‘ममता बनर्जी आज लिखकर दें, हम कल जांच करा देंगे’

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
फोन टैपिंग के मुद्दे पर बोले अमित शाह- ‘ममता बनर्जी आज लिखकर दें, हम कल जांच करा देंगे’
फोन टैपिंग के मुद्दे पर बोले अमित शाह- ‘ममता बनर्जी आज लिखकर दें, हम कल जांच करा देंगे’
Twitter
  • टीवी इंटरव्यू में बोले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह

  • शीतलकुची फायरिंग की जिम्मेदार ममता बनर्जी

  • बंगाल चुनाव के बाकी फेज को मर्ज करना असंभव

Bengal Election 2021: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने साफ किया है कि अगर बंगाल की सीएम ममता बनर्जी आज लिखकर देंगी तो कल फोन टैपिंग के मामले की जांच करा देंगे. रविवार को अमित शाह ने अंग्रेजी न्यूज चैनल टाइम्स नाऊ के साथ इंटरव्यू में कूचबिहार की शीतलकुची में हुई फायरिंग की घटना पर अपनी बातों को रखा. अमित शाह ने कहा कि ममता बनर्जी लाशों पर राजनीति करती हैं. उनके वायरल कॉल रिकॉर्ड से इसका पता चलता है. अब, ममता बनर्जी हम पर फोन टैपिंग का आरोप लगा रही हैं. अगर ममता बनर्जी आज लिखकर देती हैं तो केंद्रीय गृहमंत्री होने के नाते मामले की जांच कराने में जरा भी देरी नहीं कराएंगे.

‘शीतलकुची पर ममता बनर्जी का सच आया सामने’

शीतलकुची फायरिंग के सवाल पर अमित शाह ने कहा कि एक कॉल रिकॉर्ड में ममता बनर्जी मारे गए लोगों की लाशों पर राजनीति करती सुनी जा सकती हैं. उनका अधिकारियों पर गलत आरोप लगाने की पुरानी आदत है. टीएमसी हम पर फोन टैपिंग का आरोप लगा रही है. अगर आज ममता बनर्जी लिखकर देती हैं, कल फोन टैपिंग की जांच करा दी जाएगी. ममता बनर्जी ने मामले की जांच का जिम्मा सीआईडी को दिया है. यह उनकी घबराहट को बताता है. ममता बनर्जी ने सात दिन पहले चुनावी सभा में भीड़ को केंद्रीय बलों के खिलाफ भड़काया था. इसके बाद ही शीतलकुची के बूथ संख्या 126 पर केंद्रीय बलों की फायरिंग की घटना सामने आई थी.

‘बीजेपी वाशिंग मशीन नहीं, हमारी कुछ पॉलिसी’

टीएमसी के कद्दावर नेता शुभेंदु अधिकारी के बीजेपी में आने के सवाल पर अमित शाह ने कहा हम पर वाशिंग मशीन होने का आरोप लगाया जाता है. हमारी पार्टी की कुछ पॉलिसी है. चुनाव के वक्त कई लोग दूसरी पार्टी छोड़कर बीजेपी में आते हैं. यह कोई मुद्दा नहीं है. अमित शाह ने कहा कि बंगाल में दुर्गा पूजा, बैसाखी समेत दूसरे हिंदू त्योहारों की पब्लिसिटी नहीं की गई. यही सारे मुद्दे बंगाल की जनता के दिल में चुभती है. टीएमसी और लेफ्ट सरकार ने बंगाली भाषा के लिए कुछ नहीं किया. यह जनता को दिख रहा है. हम पर बाहरी का आरोप लगाना गलत है. सीएम ममता बनर्जी की चोट के सवाल पर अमित शाह ने कहा हमने कभी भी उनके पैर में लगी चोट को ड्रामा नहीं कहा. हमने कहा वो ठीक होने के बाद हमले की तसवीर जारी करें.

‘बंगाल में बाकी फेज को मर्ज करना संभव नहीं’

बंगाल में चुनाव के बाकी फेज को मर्ज करने के सवाल पर अमित शाह ने कहा किसी भी राज्य में चुनाव चुनी हुई सरकार नहीं करती है. किसी भी राज्य या केंद्र सरकार के कार्यकाल के पूरा होने के बाद आयोग चुनाव कराती है. इलेक्शन कमीशन के पास कोई ऑपशन नहीं है. बंगाल में बाकी फेज एक साथ नहीं हो सकता है. सभी पार्टियों और प्रत्याशियों को प्रचार के लिए 14 दिनों का वक्त मिलना चाहिए. यह उनका संवैधानिक अधिकार है. इसे छोटा नहीं किया जा सकता है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें