1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. west bengal vidhan sabha chunav 2021
  5. bengal election 2021 north dinajpur congress and left will save their place or bjp will win again in congress stronghold raiganj bengal

उत्तर दिनाजपुर : कांग्रेस के गढ़ रायगंज में संयुक्त मोर्चा बचा पाएगी अस्तित्व या BJP मारेगी फिर से बाजी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
उत्तर दिनाजपुर : कांग्रेस के गढ़ रायगंज में संयुक्त मोर्चा बचाएगी अस्तित्व
उत्तर दिनाजपुर : कांग्रेस के गढ़ रायगंज में संयुक्त मोर्चा बचाएगी अस्तित्व
Prabhat Khabar

बंगाल चुनाव 2021: उत्तर दिनाजपुर जिले की रायगंज लोकसभा सीट के तहत रायगंज, कालियागंज, हेमताबाद, करनदीघी, चाकुलिया, गोआलपोखर और इस्लामपुर विधानसभा सीटें आती है. रायगंज लोकसभा सीट पर कांग्रेस के दिवंगत नेता प्रियरंजन दासमुंशी का कब्जा रहा. यहां प्रियरंजन दासमुंशी के समर्थकों की संख्या भी कुछ कम नहीं है. वहीं लेफ्ट के भी यहां समर्थक है.

पिछली बार यानी 2019 में रायगंज लोकसभा चुनाव में इन सीटों पर बीजेपी की बढ़त थी और बीजेपी ने इस लोकसभा सीट पर कब्जा जमाया था. विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और लेफ्ट और आइएसएफ संयुक्त मोर्चा बनकर चुनावी मैदान में है और अपनी खोई हुई प्रतिष्ठा वापस लेने के लिए कांग्रेस और लेफ्ट दोनाें ही जोर लगा रही है. इस बार मुकाबला बीजेपी और संयुक्त मोर्चा में होती दिख रही है.

2019 का पड़ेगा असर या संयुक्त मोर्चा मारेगी बाजी

2016 में रायगंज लोकसभा क्षेत्र के केवल चाकुलिया में बीजेपी दिखी थी. वो भी दूसरे नंबर पर थी. बीजेपी कैंडिडेट असीम कुमार मृद्धा को फारवार्ड ब्लाॅक के अली इमरान रम्ज ने हराया था. मगर 2019 में इन सभी सीटों पर बीजेपी की बढ़त रही. बीजेपी ने लोकसभा सीट जीती थी. उस दौरान कांग्रेस की दीपा दासमुंशी को करारी हार झेलनी पड़ी थी. वहीं लेफ्ट तीसरे नंबर पर थी जबकि दूसरे नंबर पर टीएमसी थी. 2019 लोकसभा चुनाव में रायगंज सीट से बीजेपी की देबश्री चौधरी ने टीएमसी के कन्हाई लाल अग्रवाल को हराया था. देबश्री को 5,11,652 वोट मिली थी.

रायगंज को किया गया रेड अलर्ट विधानसभा सीट घोषित

रायगंज लोकसभा सीट के तहत रायगंज विधानसभा सीट इस बार रेड अलर्ट विधानसभा सीट घोषित की गयी है. रायगंज में इस बार 12 कैंडिडेट्स चुनावी मैदान में है. इन 12 में से 4 कैंडिडेट्स पर अपराधिक मामले दर्ज हैं. इस बाबत इस सीट को रेड अलर्ट कांस्टीट्यूएंसी घोषित किया गया है. इस सीट पर पिछली विधानसभा परिणाम पर नजर डालें तो उस दौरान कांग्रेस ने जीत हासिल की थी.

2016 में इस सीट से कांग्रेस के मोहित सेनगुप्ता ने जीत हासिल की थी. मोहित सेनगुप्ता ने टीएमसी की पुर्णेंदु दे (बबलू) को हराया था. इस बार रायगंज से बीजेपी ने कृष्णा कल्याणी, टीएमसी ने कन्हाई लाल अग्रवाल और संयुक्त मोर्चा के कांग्रेस ने मोहित सेनगुप्ता पर फिर दांव खेला है. बता दें कि 22 अप्रैल को छठे चरण की वोटिंग है. 4 जिलों उत्तर दिनाजपुर, उत्तर 24 परगना, नदिया और पूर्वी बर्दवान की 43 सीटों पर 306 कैंडिडेट्स छठे चरण में अपनी किस्मत आजमाने उतरेंगे.

Posted by : Babita Mali

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें