1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. west bengal in response to duare sarkar of trinamool congress now the public paharedaar program of cpi rts

पश्चिम बंगाल: तृणमूल कांग्रेस के 'दुआरे सरकार योजना' के जवाब में अब माकपा का पब्लिक पहरेदार कार्यक्रम

तृणमूल कांग्रेस को जवाब देने के लिए माकपा हर दिन नए कार्यक्रम ला रही हैं. माकपा के कार्यक्रमों की फेहरिस्त देखकर लगता है कि मानों यह माकपा नहीं बल्कि तृणमूल कांग्रेस का मसौदा है केवल संरचना अलग है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
पश्चिम बंगाल: तृणमूल कांग्रेस की 'दुआरे सरकार' के जवाब में अब माकपा का पब्लिक पहरेदार कार्यक्रम
पश्चिम बंगाल: तृणमूल कांग्रेस की 'दुआरे सरकार' के जवाब में अब माकपा का पब्लिक पहरेदार कार्यक्रम
प्रतिकात्मक तस्वीर

कोलकाता: पश्चिम बंगाल सरकार के 'दुआरे सरकार योजना' के जवाब में माकपा अब जनता का पहरेदार नामक कार्यक्रम लेकर लोगों के सामने आ रही है. माकपा के राज्य सचिव बनते ही मोहम्मद सलीम माकपा को चंगा करने के लिए लगातार आंदोलन की रणनीति बनाकर कर लोगों तक पहुंच रहे हैं. बता दें कि जनता तक पहुंचने के लिए तृणमूल कांग्रेस ने तरह-तरह के हथकंडे अपनाए. जिससे सत्ताधारी दल सरकार को जनता के द्वार तक ले गयी. इसके माध्यम से तृणमूल कांग्रेस के लोग जनता तक सीधे पहुंचने लगे. हालांकि इस दौरान ये भी आरोप लगे कि सरकारी कामकाज में तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता हस्तक्षेप कर रहे हैं. जिसके बाद पार्टी के कार्यकर्ताओं को इससे दूर रहने का संदेश तृणमूल कांग्रेस ने दिया.

तृणमूल कांग्रेस 'दुआरे सरकार योजना' के तर्ज पर पब्लिक पहरेदार कार्यक्रम

तृणमूल कांग्रेस को जवाब देने के लिए माकपा हर दिन नए कार्यक्रम ला रही हैं. माकपा के कार्यक्रमों की फेहरिस्त देखकर लगता है कि मानों यह माकपा नहीं बल्कि तृणमूल कांग्रेस का मसौदा है केवल संरचना अलग है. फिलहाल रामपुरहाट नरसंहार और अनीसकांड की घटना को देखते हुए माकपा राज्यव्यापी अभियान शुरू चला रही है. माकपा का दावा है कि वह लोग जनता के पहरेदार के रूप में प्रहरी की भूमिका निभा रही है. तृणमूल के खिलाफ भ्रष्टाचार का आरोप लगाकर प्रचार अभियान पर जोर देने की बात कही जा रही है.

सत्ताधारी तृणमूल पर माकपा ने लगाया आरोप

वहीं, सत्ताधारी तृणमूल पर माकपा ने कई आरोप लगाए हैं. माकपा के मुताबिक कुल मिलाकर पश्चिम बंगाल भ्रष्टाचारी लोगों का अखाड़ा बन गया है. इसे जनता के सामने लाने का काम माकपा कर रही है. रामपुरहाट में मारे गए तृणमूल के उपप्रमुख बादू शेख से लेकर नरसंहार के आरोपी अनारुल शेख तक माकपा इन सब मुद्दों को लेकर तृणमूल के खिलाफ जंग के मैदान में उतर रही है. इस जमीनी आंदोलन के रास्ते पर चलकर माकपा पश्चिम बंगाल की राजनीति में खुद को फिर से स्थापित करना चाहती है.

माकपा का लोगों से खास अपील

माकपा के पूर्व राज्य सचिव सूर्यकांत मिश्रा ने बताया है कि माकपा ने पब्लिक की पहरेदारी 'पहाराया पब्लिक' नाम से एक कार्यक्रम शुरू किया है. इस कार्यक्रम के जरिए वे लोगों के पास जायेंगे. सूर्यकांत मिश्रा ने अपने फेसबुक वॉल पर एक पोस्ट में लिखा है कि राज्य भर में तृणमूल कांग्रेस की अराजकता को खत्म करने के लिए हर क्षेत्र में स्वयंसेवक आगे आएं. पश्चिम बंगाल में दूसरा रामपुरहाट बनने से पहले वादू शेख जैसे अपने क्षेत्र के तृणमूल कांग्रेस के नेताओं की पहचान करने के लिए पार्टी द्वारा जारी फॉर्म को भरें और जमा करें. फॉर्म भरने वालों का नाम और दूसरी जानकारी पूरी तरह से गोपनीय और सुरक्षित रहेगी.

रिपोर्ट- नवीन कुमार राय

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें