1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. west bengal governor jagdeep dhankhar on three days delhi visit to meet president ramnath kovind and home minister amit shah abk

‘मिशन दिल्ली’ पर धनखड़, तीन दिनों की यात्रा का आगाज, बंगाल हिंसा को लेकर MHA को देंगे रिपोर्ट?

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
‘मिशन दिल्ली’ पर धनखड़, तीन दिनों की यात्रा का आगाज
‘मिशन दिल्ली’ पर धनखड़, तीन दिनों की यात्रा का आगाज
फोटो : प्रभात खबर.

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ 15 से 17 जून तक दिल्ली में रहेंगे. मंगलवार की शाम जगदीप धनखड़ दिल्ली पहुंचकर अपनी यात्रा को शुरू करने वाले हैं. बंगाल के चुनावी नतीजों और हिंसा के मुद्दे पर जगदीप धनखड़ की दिल्ली यात्रा काफी मायने रखती है. राज्यपाल जगदीप धनखड़ दिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलेंगे. ऐसी भी खबरें आ रही हैं कि राज्यपाल धनखड़ पीएम नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात कर सकते हैं.

पश्चिम बंगाल के गवर्नर जगदीप धनखड़ दिल्ली की यात्रा पर जा रहे हैं. वो 15 जून की शाम को दिल्ली के लिए निकलेंगे. राज्यपाल के तीन दिनों की यात्रा का समापन 17 जून को हो जाएगा. वो 18 जून की दोपहर कोलकाता पहुंच जाएंगे.
राज्यपाल ऑफिस का ट्वीट

राज्यपाल और केंद्रीय गृह मंत्री के बीच मुलाकात?

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद जारी हिंसा पर राज्यपाल जगदीप धनखड़ और सीएम ममता बनर्जी के बीच जुबानी जंग देखी जाती रही है. पिछले दिनों दिल्ली से आए केंद्रीय गृह मंत्रालय की टीम से भी राज्यपाल मुलाकात कर चुके हैं. एक दिन पहले चुनावी हिंसा को लेकर बीजेपी विधायकों के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल से मुलाकात की थी. इसी बीच गवर्नर के दिल्ली जाने की खबर आई. माना जा रहा है कि राज्यपाल बंगाल में हिंसा को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को रिपोर्ट दे सकते हैं. राज्य के हालात के बारे में बातें की जा सकती हैं.

सीएम ममता बनर्जी पर जगदीप धनखड़ के आरोप

अगर राज्यपाल जगदीप धनखड़ और ममता बनर्जी के बीच जुबानी जंग को देखें तो दोनों के बीच अरसे से तनाव देखा जाता रहा है. कुछ दिनों से बंगाल हिंसा को लेकर राज्यपाल सीएम ममता बनर्जी पर सवाल उठाते दिखे हैं. सोमवार को भी बीजेपी विधायकों से मुलाकात के बाद उन्होंने कहा था कि राज्य में कानून-व्यवस्था खराब हो चुकी है. राज्य में हिंसा का तांडव चल रहा है. सरकार हिंसक घटनाओं को रोकने में पूरी तरह फेल हो चुकी है. ममता बनर्जी हिंसा रोकने के लिए गंभीर नहीं हैं. ममता बनर्जी कैबिनेट की बैठक में हिंसा पर कोई बात नहीं होती है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें