1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. west bengal governor jagdeep dhankar in sitalkuchi tmc chief mamata banerjee shows anger mtj

ममता बनर्जी से तनातनी के बीच राज्यपाल जगदीप धनखड़ आज शीतलकुची में, टीएमसी चीफ की भौंहें तनीं

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी.
पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी.
प्रभात खबर

कोलकाता : मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो ममता बनर्जी से तनातनी के बीच पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ आज उत्तर बंगाल के कूचबिहार जिला स्थित शीतलकुची विधानसभा क्षेत्र का दौरा करेंगे. बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 के बाद लगातार तीसरी बार प्रदेश की मुखिया बनीं तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ने राज्यपाल के इस दौरे पर आपत्ति जतायी है.

ममता बनर्जी ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ के कूचबिहार जिले में चुनाव बाद हिंसा से प्रभावित क्षेत्रों के निर्धारित दौरे से पहले उन्हें (राज्यपाल को) एक पत्र लिखा. पत्र में ममता बनर्जी ने दावा किया कि संबंधित कदम क्षेत्रों के दौरे के मामले में उनके पूर्ववर्ती राज्यपालों द्वारा अपनाये गये दीर्घकालिक प्रोटोकॉल का उल्लंघन है. वहीं, ट्वीट के जरिये राज्यपाल ने ममता को जवाब दिया है.

गुरुवार सुबह कई ट्वीट करके राज्यपाल श्री धनखड़ ने मुख्यमंत्री से कहा है कि यह वक्त आरोप-प्रत्यारोप का नहीं है. मिलकर संवैधानिक दायित्व के निर्वहन का वक्त है. चुनाव के बाद हुई हिंसा के बाद चीजों को संभालने के लिए मिलकर काम करने की जरूरत है, न कि अपनी सुविधा के हिसाब से एक रास्ता चुनने का. राज्यपाल ने यह भी कहा है कि आपने संविधान की रक्षा की शपथ ली है और उसके अनुरूप आपको काम करना चाहिए.

मुझे सोशल मीडिया से पता चला कि आप 13 मई को एकतरफा ढंग से कूचबिहार जा रहे हैं. दुखद, मुझे लगता है कि यह पिछले कई दशकों से चले आ रहे दीर्घकालिक नियमों का उल्लंघन है.
ममता बनर्जी, मुख्यमंत्री, पश्चिम बंगाल

महामहिम ने राज्य की मुख्यमंत्री से कहा है कि बंगाल समेत चार राज्यों और एक केंद्रशासित प्रदेश में चुनाव हुए. चुनाव के बाद सिर्फ बंगाल में हिंसा हुई. लोगों की हत्या की गयी. उन्हें अपमानित किया गया. सिर्फ इसलिए क्योंकि उन्होंने अपनी पसंद की पार्टी को वोट किया. यह संविधान की अवधारणा के विपरीत है.

ममता बनर्जी ने अपने पत्र में यह भी आरोप लगाया कि राज्यपाल जगदीप धनखड़ राज्य सरकार के अधिकारियों से सीधे बात कर रहे हैं और उन्हें आदेश दे रहे हैं, जबकि उन्होंने पूर्व में उनसे ऐसा न करने का आग्रह भी किया था. राज्यपाल गुरुवार को वह कूचबिहार में माथाभंगा, शीतलकुची, सिताई और दीनहाटा जायेंगे.

राज्यपाल धनखड़ को ममता बनर्जी की चिट्ठी

मुख्यमंत्री ने राज्यपाल को लिखे अपने पत्र में कहा, मुझे सोशल मीडिया से पता चला कि आप 13 मई को एकतरफा ढंग से कूचबिहार जा रहे हैं. दुखद, मुझे लगता है कि यह पिछले कई दशकों से चले आ रहे दीर्घकालिक नियमों का उल्लंघन है.

उन्होंने राज्यपाल से कहा, इसलिए, मैं उम्मीद करूंगी कि आप प्रोटोकॉल के भली-भांति स्थापित नियमों का पालन करेंगे, और क्षेत्रों के दौरों के संबंध में मनमाने फैसलों से बचेंगे. मुख्यमंत्री ने राज्य सरकार के गृह विभाग की प्रोटोकॉल नियमावली का संदर्भ दिया, जिनके अनुसार, राज्यपाल के दौरों को सरकार से आदेश लेने के बाद राज्यपाल के सचिव द्वारा अंतिम रूप दिया जाता है.

शीतलकुची, माथाभांगा समेत कई जगह जायेंगे राज्यपाल

राज्यपाल ने मंगलवार को कहा था कि वह कूचबिहार जिले में चुनाव बाद हुई हिंसा से प्रभावित क्षेत्रों का 13 मई को दौरा करेंगे. इसके बाद ममता बनर्जी ने अपने गुस्से और क्षोभ का इजहार किया. दरअसल, विधानसभा चुनाव के दौरान कूचबिहार जिला के शीतलकुची विधानसभा क्षेत्र के एक मतदान केंद्र पर कथित तौर पर तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने एक भाजपा समर्थक की हत्या कर दी थी.

इसी केंद्र पर केंद्रीय सुरक्षा बलों की फायरिंग में 4 मतदाताओं की मौत हो गयी थी. तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो ममता बनर्जी ने आरोप लगाया था कि केंद्रीय बलों के जवान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के निर्देश पर तृणमूल कार्यकर्ताओं की हत्या कर रहे हैं. हालांकि, कूचबिहार के तत्कालीन एसपी ने चुनाव आयोग को सौंपी अपनी रिपोर्ट में कहा था भीड़ ने केंद्रीय बलों के जवानों को घेरकर उनका हथियार छीनने की कोशिश की, तो जवानों को आत्मरक्षा में फायरिंग करनी पड़ी.

मैं उम्मीद करूंगी कि आप प्रोटोकॉल के भली-भांति स्थापित नियमों का पालन करेंगे, और क्षेत्रों के दौरों के संबंध में मनमाने फैसलों से बचेंगे.
ममता बनर्जी, मुख्यमंत्री, पश्चिम बंगाल

शीतलकुची की इस घटना पर बंगाल चुनाव 2021 के दौरान जमकर राजनीति हुई. तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी ने इसके लिए चुनाव आयोग को आड़े हाथ लिया. अपनी जनसभाओं में केंद्रीय बलों के जवानों पर भी वह जमकर बरसीं. ममता ने चुनाव के दौरान ही कहा था कि वह इस फायरिंग की सीआइडी से जांच करायेंगी. चुनाव के बाद सत्ता संभालते ही ममता ने कूचबिहार के तत्कालीन एसपी को सस्पेंड कर दिया. सीआइडी मामले की जांच कर रही है.

Posted By: MIthilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें