1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. west bengal election 2021 date announced pm narendra modi rally for mission bengal bjp strategy for bengal chunav and know tmc congress updates avh

Bengal Election 2021 : मिशन मोड में बीजेपी, पीएम मोदी की 20 रैलियों की तैयारी तेज, दूसरे नेताओं की भी ताबड़तोड़ जनसभाएं

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Bengal Election 2021
Bengal Election 2021
Social media

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा हो चुकी है. 'मिशन बंगाल' के तहत भाजपा ने अब अपनी तैयारी और तेज कर दी है. राज्य में जीत हासिल करने के लिए प्रदेश भाजपा यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अधिक से अधिक रैलियां कराना चाहती है.

प्रदेश भाजपा ने प्रधानमंत्री की यहां 25 से 30 रैलियां कराने का प्रस्ताव भेजा था. बताया जा रहा है कि प्राथमिक रूप से प्रधानमंत्री की 20 रैलियों में हिस्सा लेने की बात कही जा रही है. इसकी शुरुआत पीएम मोदी सात मार्च को कोलकाता स्थित ब्रिगेड मैदान से करेंगे. बताया जा रहा है कि बंगाल में पीएम मोदी कुल 20 रैलियां करेंगें.

पीएम मोदी की 20 रैलियों की रूपरेखा तैयार- प्रदेश भाजपा ने हर बड़े जिले में दो और छोटे जिले में एक रैली का केंद्रीय टीम से आग्रह किया था. हालांकि रैलियों के स्थान और तारीखें अभी तय नहीं हुई हैं. बताया जा रहा है कि पीएम मोदी की पहली रैली कोलकाता के सबसे बड़े मैदान ब्रिगेड परेड मैदान में होगी, जिसमें करीब 15 लाख की भीड़ जुटाने का लक्ष्य रखा गया है. भाजपा की योजना बंगाल की राजनीति की सबसे बड़ी रैली कराने की है.

शाह-नड्डा करेंगे 50-50 रैलियां- पीएम मोदी के अलावा केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा करीब 50-50 चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे. इसके अलावा, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अलावा कई केंद्रीय मंत्री की सभाएं भी राज्य के सभी जिलों में आयोजित की जायेंगी. बताया जा रहा है कि राज्य में पीएम मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ-साथ विभिन्न केंद्रीय मंत्रियों, विभिन्न भाजपा शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री व वरिष्ठ मंत्री की कुल 500 से भी अधिक रैलियां व सभाएं आयोजित की जायेंगी. पीएम मोदी असम में भी छह रैलियों को संबोधित करेंगे.

बंगाल में वर्तमान राजनीतिक स्थिति- पश्चिम बंगाल में विधानसभा की 294 सीटें हैं. वर्तमान में यहां तृणमूल कांग्रेस की सरकार है और ममता बनर्जी मुख्यमंत्री हैं. पिछले चुनाव में ममता की तृणमूल कांग्रेस ने सबसे ज्यादा 211 सीटें, कांग्रेस ने 44, वाममोर्चा ने 26 और भाजपा ने मात्र तीन सीटों पर जीत दर्ज की थी.

यहां बहुमत के लिए 148 सीटें चाहिए. लेकिन लोकसभा चुनाव के बाद यहां चुनावी समीकरण पूरी तरह से बदल चुका है. लोकसभा चुनाव में भाजपा ने यहां 18 सीटों पर जीत दर्ज कर बाकी विरोधी पार्टियों को पीछे छोड़ते हुए प्रमुख विपक्षी पार्टी के तौर पर उभरी है. लोकसभा चुनाव के बाद सत्तारूढ़ पार्टी व अन्य विरोधी पार्टी के कई विधायक भाजपा में शामिल हुए हैं.

Posted By : Avinish kumar mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें