1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. west bengal assembly speaker biman banerjee decision on membership of tmc leader and pac chairman mukul roy elected on bjp ticket mtj

मुकुल रॉय की सदस्यता रद्द करने पर सुनवाई आज, स्टैंडिंग कमेटी की बैठकों से दूर रहेंगे बीजेपी नेता

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
शुभेंदु की याचिका पर स्पीकर देंगे फैसला
शुभेंदु की याचिका पर स्पीकर देंगे फैसला
Prabhat Khabar

कोलकाताः बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद भारतीय जनता पार्टी (BJP) के टिकट पर चुनाव जीतने वाले मुकुल रॉय (Mukul Roy) की सदस्यता रद्द करने संबंधी याचिका पर शुक्रवार (16 जुलाई) को विधानसभा अध्यक्ष विमान बनर्जी की अदालत में सुनवाई है. मुकुल को लोक लेखा समिति (PAC) का चेयरमैन बनाये जाने के विरोध में भाजपा ने स्टैंडिंग कमेटी की बैठक का भी बहिष्कार किया है.

दरअसल, कृष्णनगर उत्तर से भाजपा के विधायक चुने गये मुकुल रॉय ने चुनाव के बाद ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस में लौट गये. सत्ताधारी दल में शामिल हो चुके भाजपा विधायक के खिलाफ भगवा दल ने कार्रवाई की मांग की है, जबकि स्पीकर ने मुकुल रॉय को पीएसी का चेयरमैन नियुक्त कर दिया. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस फैसले का समर्थन किया.

ममता बनर्जी ने पहले ही संकेतों में यह बता दिया था कि मुकुल रॉय को पीएसी का चेयरमैन बनाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि मुकुल रॉय भाजपा के विधायक हैं और सरकार विरोधी दल के लिए पीएसी के चेयरमैन का पद छोड़ रही है. इसमें कोई समस्या नहीं है. स्पीकर विमान बनर्जी ने भी कहा है कि उन्होंने जो कुछ भी किया है, वह कानून के अनुसार ही किया है.

इससे पहले, भाजपा ने मुकुल रॉय की सदस्यता खारिज करने की मांग करते हुए याचिका दायर की थी. इस पर शुक्रवार को विधानसभा अध्यक्ष विमान बनर्जी सुनवाई करेंगे. सुनवाई के दौरान नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी भी अपना पक्ष रखेंगे. स्पीकर ने शुभेंदु अधिकारी को अपना पक्ष रखने के लिए सुनवाई के दौरान उपस्थित रहने को कहा है.

स्टैंडिंग कमेटी के अध्यक्षों की घोषणा आज संभव

विधानसभा की सभी स्टैंडिंग कमेटी के अध्यक्षों के नाम की घोषणा स्पीकर विमान बनर्जी आज ही कर सकते हैं. इसके लिए विधानसभा अध्यक्ष सभी स्टैंडिंग कमेटी के सदस्यों के साथ बैठक करेंगे. हालांकि, मंगलवार को भाजपा विधायकों ने विधानसभा की आठ समितियों से इस्तीफा दे दिया और वह शुक्रवार को होने वाली स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में भी हिस्सा नहीं लेंगे.

इधर, भाजपा विधायकों ने साफ कर दिया है कि पब्लिक अकाउंट्स कमेटी का अध्यक्ष भाजपा द्वारा प्रस्तावित विधायक को ही बनाना होगा. अगर ऐसा नहीं होता है, तो भाजपा विधायक किसी भी समिति में शामिल नहीं होंगे. स्टैंडिंग कमेटी की किसी भी बैठक में शामिल नहीं होंगे. उल्लेखीय है कि भाजपा ने स्पीकर से मांग की है कि मुकुल रॉय के खिलाफ दलविरोधी कानून के तहत कार्रवाई की जाये.

यहां बताना प्रासंगिक होगा कि भारतीय जनता पार्टी की ओर से पीएसी चेयरमैन के लिए देश के जाने-माने अर्थशास्त्री अशोक लाहिड़ी समेत कई लोगों के नाम का प्रस्ताव स्पीकर विमान बनर्जी से किया था. विपक्षी दल की सिफारिश को दरकिनार करते हुए तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो चुके भाजपा विधायक मुकुल रॉय को उन्होंने पीएसी का चेयरमैन नियुक्त कर दिया.

स्टैंडिंग कमेटी से भाजपा सदस्यों के इस्तीफे पर सरकार बोली

पीएसी के चेयरमैन के मुद्दे पर सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस और विपक्षी दल भाजपा में ठन गयी है. स्पीकर के इस फैसले को अलोकतांत्रिक करार देते हुए भाजपा विधायकों ने सभी स्टैंडिंग कमेटी से इस्तीफा दे दिया. इस अभूतपूर्व घटनाक्रम को ममता बनर्जी की पार्टी ने कोई तवज्जो नहीं दी. कहा कि यदि वे इस्तीफा देते हैं, तो इससे भाजपा का ही नुकसान होगा. सरकार को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें