1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. wbchse hs class 12 result 2021 bengal topper rumana sultana of murshidabad secured 499 marks out of 500 mtj

WBCHSE HS Class 12 Result 2021: 500 में 499 अंक लाकर रुमाना बनी बंगाल की टॉपर, 12वीं में 98.69% विद्यार्थी पास

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बंगाल की साइंस टॉपर को है कविता लिखने का शौक
बंगाल की साइंस टॉपर को है कविता लिखने का शौक
Prabhat Khabar

WBCHSE HS Class 12 Result 2021: कोलकाता (भारती जैनानी) : उच्च माध्यमिक-2021 के नतीजे गुरुवार को जारी कर दिये गये. उच्च माध्यमिक शिक्षा पर्षद की अध्यक्ष महुआ दास ने बताया कि उच्च माध्यमिक का पास प्रतिशत 98.69 रहा. कुल 9013 छात्रों ने 90 प्रतिशत से अधिक अंक हासिल किये हैं. सर्वोच्च अंक मुर्शिदाबाद की छात्रा रुमाना सुल्ताना को मिले हैं. उसने कुल 500 में से 499 अंक हासिल किये हैं.

इस वर्ष आठ लाख 19 हजार 202 विद्यार्थियों ने परीक्षा के लिए नामांकन कराया था. हालांकि परीक्षा सात जून को रद्द कर दी गयी थी. विशेषज्ञ कमेटी की सिफारिश पर 10वीं और 11वीं कक्षा में मिले मार्क्स एवं 12वीं के प्रोजेक्ट मार्क्स के आधार पर मूल्यांकन कर रिजल्ट जारी किया गया. छात्रों का पास प्रतिशत 97.60 प्रतिशत और छात्राओं का लगभग इतना ही रहा.

रिजल्ट की खास बातें

  • 3,19,328 विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में हुए उत्तीर्ण

  • आर्ट्स के 97.39 प्रतिशत विद्यार्थी हुए पास

  • कॉमर्स का 99.8 प्रतिशत रिजल्ट रहा इस साल

  • साइंस के 99.28 प्रतिशत विद्यार्थी हुए उत्तीर्ण

सभी जिलों में पास प्रतिशत 90 प्रतिशत या उससे अधिक रहा. अध्यक्ष ने बताया कि अल्पसंख्यक छात्रों का पास प्रतिशत 98.46 एवं अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों का पास प्रतिशत 97.33 रहा. तीन लाख 19 हजार 328 विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं.

परीक्षा में नहीं बैठ पाने का रुमाना को है मलाल

मुर्शिदाबाद के कंडी स्थित राजा मोनिंदरचंद्र गर्ल्स हाई स्कूल की विज्ञान की छात्रा रुमाना सुल्ताना ने राज्य में टॉप किया है. सर्वाधिक अंक प्राप्त करने के बावजूद परीक्षा में नहीं बैठ पाने का रुमाना को मलाल है. उसका कहना है कि उसे जो अंक मिले हैं, उससे वह खुश है, लेकिन अगर परीक्षा में बैठती, तो ज्यादा संतोष होता.

रुमाना को अपने खाली समय में कविता लिखने की आदत है. हालांकि, पढ़ाई के दबाव में उन्हें ऐसा करने के लिए समय नहीं मिल पाता. रुमाना कहती है कि वह बड़ी होकर वैज्ञानिक बनना चाहती है या मेडिसिन की पढ़ाई करना चाहती है. वह कहती है कि पहली प्राथमिकता मेडिसिन की पढ़ाई को देगी.

रुमाना के पिता रबीउल आलम भरतपुर के गयासाबाद अचल विद्यालय के प्रधानाध्यापक थे. मां सुल्ताना परवीन भी शिक्षिका हैं. हाई स्कूल के बाद रुमाना का लक्ष्य हाई स्कूल को बेहतर बनाना था. हालांकि, रुमाना को भी कोरोना में अपनी जिंदगी की दूसरी बड़ी परीक्षा न देने का मलाल है.

11वीं के अंक के आधार पर निकला है रिजल्ट

अध्यक्ष ने कहा कि स्कूलों द्वारा जमा किये गये विद्यार्थियों के अंकों के आधार पर ही मूल्यांकन कर नतीजे निकाले गये हैं. लेकिन इसमें स्कूल द्वारा अपलोड किये गये विद्यार्थियों के 11वीं के अंक काफी कम देखे गये, जिसका असर नतीजों पर पड़ा है. काउंसिल की अध्यक्ष ने बताया कि परीक्षा नहीं होने के कारण अब तक किसी को एडमिट कार्ड नहीं मिला है.

ऐसे देखें अपना रिजल्ट

अगर विद्यार्थी को रोल नंबर ज्ञात नहीं है, तो वह वेबसाइट पर पंजीकरण संख्या के साथ नतीजे देख सकता है. आर्ट्स में 97.39 प्रतिशत, कॉमर्स में 99.8 प्रतिशत और साइंस में 99.28 प्रतिशत रिजल्ट रहा. स्कूल अपने छात्रों को शुक्रवार से रिजल्ट दे पायेंगे. सुबह 11 बजे से मार्कशीट, सर्टिफिकेट और एडमिट कार्ड स्कूल द्वारा जारी कर दिये जायेंगे. इसके लिए परिषद के 52 वितरण केंद्र व दो क्षेत्रीय कार्यालय बनाये गये थे. अपना रजिस्ट्रेशन नंबर डालकर नतीजे विद्यार्थी देख सकते हैं.

इन वेबसाइटों पर रिजल्ट अपलोड किया गया है

www.exametc.com, http://wbresults.nic.in, www.results.shiksha, www.westbengal.shiksha, www.indiaresults.com

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें