1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. tmc bjp confontration over suvendu adhikari abhishek banerjee advises leader of opposition mtj

शुभेंदु अधिकारी पर तृणमूल-भाजपा आमने-सामने, अभिषेक बनर्जी ने नेता प्रतिपक्ष को दी नसीहत

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
शुभेंदु को अभिषेक ने दी नसीहत
शुभेंदु को अभिषेक ने दी नसीहत
Prabhat Khabar

कोलकाता : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक और पश्चिम बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी के मुद्दे पर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और मुख्य विपक्षी दल बीजेपी के बीच ठन गयी है. दोनों दल आमने-सामने हैं. विधानसभा चुनाव में तृणमूल की राह में प्रमुख रोड़ा बनकर उभरे थे. चुनाव बाद विधानसभा में विपक्ष का नेता बनने के बाद भी वह विवादों के केंद्र में हैं.

हाल में शुभेंदु ने एक बयान दिया था, जिस पर राजनीति गरमा गयी है. वहीं, तिरपाल चोरी में अधिकारी ब्रदर्स का नाम आने पर भी दोनों दल आमने-सामने आ गये हैं. शुभेंदु ने पिछले दिनों कहा था कि बंगाल के लोग भी राज्य से बाहर रहते हैं. इस पर तृणमूल कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. खुद ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने उन्हें नसीहत दी है.

तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी ने कहा है कि वह शुभेंदु अधिकारी के संबंध में यही कहना चाहते हैं कि उन्हें रचनात्मक चर्चा में भाग लेना चाहिए. दुष्प्रचार और दिल्ली को खुश करने की कोशिश नहीं करके उन्हें नेता प्रतिपक्ष के तौर पर काम करना चाहिए.

अधिकारी परिवार को परेशान कर रही तृणमूल - सायंतन

अभिषेक बनर्जी ने कहा कि शुभेंदु अधिकारी को समझना चाहिए कि उनकी ऐसी बातों को जनता पसंद नहीं करती. वह विपक्ष के नेता के तौर पर ही काम करें. अभिषेक बनर्जी के इस बयान पर भाजपा नेता सायंतन बसु ने कहा कि दुष्प्रचार तृणमूल कांग्रेस कर रही है. अधिकारी परिवार के इतने दुर्दिन नहीं आये कि उन्हें तिरपाल की चोरी करनी पड़े. बदले की राजनीति तृणमूल कर रही है. सायंतन ने कहा कि शुभेंदु के करीबी लोगों पर झूठे मामले दर्ज कराकर उन्हें परेशान करने की कोशिश हो रही है.

ज्ञात हो कि पूर्वी मेदिनीपुर जिले में कोंटाई नगरपालिका के एक स्टोर से चक्रवात यश से जुड़ी राहत सामग्री की चोरी में कथित संलिप्तता के लिए भाजपा विधायक और पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है कि कांथी थाने में दर्ज प्राथमिकी में शुभेंदु के भाई व नगर निकाय के प्रमुख सौमेंदु अधिकारी और दो अन्य लोगों के नाम भी शामिल हैं.

नगरपालिका के प्रशासक मंडल के सदस्य रत्नदीप मन्ना की शिकायत पर एक जून को प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. उन्होंने आरोप लगाया था कि 29 मई को नगरपालिका द्वारा संचालित एक स्टोर से करीब दो लाख रुपये के तिरपाल की चोरी हो गयी थी. प्राथमिकी में नामजद सभी लोगों पर भारतीय दंड संहिता (आइपीसी) और आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि शिकायतकर्ता ने कहा है कि चोरी अधिकारी बंधुओं के निर्देश पर की गयी है. उन्होंने आगे कहा कि इस मामले में अब तक दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. वहीं, पूर्वी मेदिनीपुर जिला पुलिस के एक सूत्र ने बताया कि पूछताछ के दौरान गिरफ्तार किये गये दो लोगों ने स्वीकार किया है कि उन्हें राहत सामग्री चोरी करने के लिए शुभेंदु और उनके भाई सौमेंदु ने निर्देश दिये थे.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें