1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. suvendu adhikari threats purba medinipur sp k amarnath to transfer to jk fir lodged mtj

शुभेंदु अधिकारी ने पूर्वी मेदिनीपुर के एसपी को दी कश्मीर ट्रांसफर की धमकी, दर्ज हुआ मुकदमा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
शुभेंदु अधिकारी पर दर्ज हुआ मुकदमा
शुभेंदु अधिकारी पर दर्ज हुआ मुकदमा
Prabhat Khabar

हल्दियाः पूर्वी मेदिनीपुर के एसपी को जम्मू-कश्मीर ट्रांसफर करने की धमकी देकर पश्चिम बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष व नंदीग्राम से भारतीय जनता पार्टी (BJP) के विधायक शुभेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) फंस गये हैं. तमलूक थाना (Tamluk PS) में उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है.

सोमवार को शुभेंदु अधिकारी ने कथित तौर पर पूर्व मेदिनीपुर के पुलिस अधीक्षक के अमरनाथ को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. इसे पुलिस ने हल्के में नहीं लिया है. श्री अधिकारी समेत अन्य भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुलिस ने स्वत: संज्ञान लेते हुए भारतीय दंड विधान की कई धाराओं के तहत शिकायत दर्ज की है.

शिकायत तमलूक थाना के प्रभारी की ओर से दर्ज करायी गयी है. श्री अधिकारी के खिलाफ कोरोना संकट के दौरान सरकारी निर्देशों का उल्लघंन करने, भीड़ एकत्रित करने, पुलिस के अधिकारी व कर्मचारियों को धमकी देने समेत अन्य आरोप हैं.

उधर, भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया है कि राज्य विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद से ही भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं को झूठे मामलों में फंसाने की साजिश की जा रही है. दरअसल, सोमवार को भाजपा की ओर पूर्वी मेदिनीपुर जिले के पुलिस अधीक्षक के कार्यालय के पास घेराव किया गया था.

पुलिस में दर्ज शिकायत के अनुसार, आरोप लगाया गया कि भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी की ओर से पुलिस को धमकी देते हुए कहा गया कि आप ऐसा कुछ भी काम मत करो, जिसकी वजह से आपको जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग या फिर बारामूला में ड्यूटी के लिए भेज दिया जाये.

गौरतलब है कि श्री अधिकारी के खिलाफ सीआइडी भी जांच कर रही है. वर्ष 2018 में उनके बाॅडीगार्ड की अस्वाभाविक मौत मामले की जांच सीआइडी कर रही है. इसके अलावा कांथी को-ऑपरेटिव बैंक में कथित अनियमितताओं की शिकायत पर भी राज्य सरकार कोलकाता हाइकोर्ट का रुख कर चुकी है. इस बैंक के चेयरमैन शुभेंदु अधिकारी थे.

भतीजे के कार्यालय से कॉल का रिकॉर्ड हमारे पास

शुभेंदु ने पूर्व मेदिनीपुर के सदर तमलूक स्थित पुलिस अधीक्षक कार्यालय में एक ज्ञापन देकर पुलिस के खिलाफ अपना गुस्सा निकाला था. उन्होंने कहा था कि मेरे पास भतीजे के कार्यालय से कॉल करने वाले सभी लोगों का कॉल रिकॉर्ड है. तो सावधान रहिए. यदि आपके पास राज्य सरकार है, तो हमारे पास केंद्र सरकार है.

इस टिप्पणी के बाद तृणमूल के प्रदेश महासचिव कुणाल घोष ने शुभेंदु अधिकारी के खिलाफ जांच शुरू करने की मांग की है. उन्होंने दावा किया कि श्री अधिकारी ने अपने शब्दों में स्वीकार किया था कि उनके पास जमीनी स्तर के नेताओं के सभी कॉल रिकॉर्ड व सूचनाएं हैं. दूसरे शब्दों में, शुभेंदु ने खुद फोन पर बातचीत करने की बात को स्वीकार किया है. इसलिए उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की जाये.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें