1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. pm narendra modi will conduct aerial survey of the affected areas today 72 deaths in west bengal due to cyclone amphan devastation in odisha too

अम्फान से तबाहीः प. बंगाल का हाल जानने के लिए पीएम मोदी 83 दिन बाद दिल्ली से निकले

By Agency
Updated Date
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी.
फोटो : ट्विटर.

कोलकता/भुवनेश्वर : सुपर साइक्लोन अम्फान से 72 लोगों की जान चली गयी है. दो जिले पूरी तरह तबाह हो गये हैं. इससे हजारों लोग बेघर हो गये हैं. कई पुल नष्ट हो गये और निचले इलाके जलमग्न हो गये हैं. कोलकाता और राज्य के अन्य जिलों में तबाही के मंजर साफ देखे जा सकते हैं. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज चक्रवाती तूफान ‘अम्फान' से प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे. यह पूछे जाने पर कि क्या प्रधानमंत्री चक्रवात प्रभावित पश्चिम बंगाल और ओडिशा दोनों प्रदेशों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे, सूत्रों ने केवल इतना कहा कि वह चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों का सर्वेक्षण करेंगे. प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अम्फान प्रभावितों की मदद में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जायेगी. पश्चिम बंगाल व ओड़िशा के लोगों के साथ उनकी संवेदनाएं हैं. पूरा देश इनके साथ खड़ा है. आपको बता दें कि 83 दिनों के बाद प्रधानमंत्री मोदी दिल्ली से बाहर जायेंगे. उन्होंने 29 फरवरी को पिछला दौरा उत्तर प्रदेश के प्रयागराज व चित्रकूट के लिए किया था.

प्रधानमंत्री का आज अम्फान प्रभावित इलाकों का दौरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि चक्रवाती तूफान अम्फान से प्रभावित लोगों की मदद के लिए कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ी जाएगी. पश्चिम बंगाल में सौ साल के अंतराल में आए इस भीषण चक्रवाती तूफान ने मिट्टी के घरों को ध्वस्त कर दिया है. फसलों को नष्ट कर दिया और पेड़ों तथा बिजली के खंभों को भी उखाड़ फेंका है. इसने ओडिशा में भी भारी तबाही मचाई है, जहां तटीय जिलों में विद्युत और दूरसंचार से जुड़ा आधारभूत ढांचा नष्ट हो गया है. समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक ओडिशा के अधिकारियों ने बताया कि चक्रवात से लगभग 44.8 लाख लोग प्रभावित हुए हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करने के बाद संवाददाताओं से कहा कि अब तक उन्हें मिली खबरों के अनुसार चक्रवात अम्फान के चलते 72 लोगों की मौत हुई है. दो जिले-उत्तर और दक्षिण 24 परगना पूरी तरह तबाह हो गए हैं. उन्हें उन जिलों का पुनर्निर्माण करना होगा. वे केंद्र सरकार से आग्रह करेंगी कि वह राज्य को सभी सहायता उपलब्ध कराए. उन्होंने कहा कि वे बहुत जल्द प्रभावित इलाकों का दौरा करेंगी. बहाली कार्य जल्द शुरू होंगे. सीएम ने कहा कि उन्होंने अपने जीवन में ऐसा भीषण चक्रवात और नुकसान कभी नहीं देखा था. मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को दो से ढाई-ढाई लाख रुपये तक का मुआवजा देने की भी घोषणा की. पश्चिम बंगाल के उत्तर और दक्षिण 24 परगना तथा कोलकाता के अतिरिक्त पूर्वी मिदनापुर और हावड़ा जिले भी बुरी तरह प्रभावित हुए हैं, जहां कई जगहों पर इमारतें नष्ट हो गई हैं. पश्चिम बंगाल सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि मृतकों की सही संख्या बता पाना या संपत्ति के नुकसान का आंकलन कर पाना अभी संभव नहीं है क्योंकि सर्वाधिक प्रभावित इलाकों तक पहुंचना अभी मुश्किल है.

अम्फान प्रभावितों की मदद में कोई कसर नहीं रहेगी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि चक्रवात से प्रभावित लोगों की मदद करने के लिए कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ी जाएगी. श्री मोदी ने अपने ट्वीट में कहा है कि उन्होंने चक्रवाती तूफान अम्फान के कारण पश्चिम बंगाल में नुकसान के दृश्य को देखा है. यह चुनौतीपूर्ण समय है. पूरा देश पश्चिम बंगाल के साथ एकजुट होकर खड़ा है. राज्य के लोगों के कल्याण के लिए प्रार्थना कर रहा हूं. स्थिति सामान्य करने के लिए प्रयास जारी हैं. उन्होंने कहा कि शीर्ष अधिकारी स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए हैं और पश्चिम बंगाल सरकार के साथ समन्वय बनाकर काम भी कर रहे हैं. प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी संवेदनाएं ओडिशा के लोगों के साथ भी हैं, जहां राज्य चक्रवात के प्रभाव से बहादुरी से मुकाबला कर रहा है. इस बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बात की और उन्हें स्थिति से निपटने के लिए केंद्र की ओर से हरसंभव सहायता उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें