1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. meet heavyweight candidates and ministers contesting seventh phase bengal election 2021 mtj

बंगाल चुनाव 2021: मिलिए, बंगाल के हेवीवेट नेता और मंत्री से, सातवें चरण में दांव पर है इनकी प्रतिष्ठा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बंगाल चुनाव 2021: सातवें चरण में चुनाव लड़ रहे हेवीवेट कैंडिडेट
बंगाल चुनाव 2021: सातवें चरण में चुनाव लड़ रहे हेवीवेट कैंडिडेट
Prabhat Khabar

कोलकाता : पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 के सातवें चरण का मतदान सोमवार (26 अप्रैल) को होने जा रहा है. इस चरण में ममता बनर्जी की कैबिनेट के 5 मंत्री समेत कई कद्दावर नेता चुनाव लड़ रहे हैं. भाजपा ने भी एक से बढ़कर एक उम्मीदवार उतारे हैं. सातवें चरण में मंत्री, एक्टर से लेकर डॉक्टर, वकील और आर्मी के डिप्टी जनरल तक चुनाव लड़ रहे हैं.

सबसे पहले बात राज्य के हेवीवेट मंत्रियों की. ममता बनर्जी की कैबिनेट के 4 मंत्री कोलकाता दक्षिण जिला से चुनाव लड़ रहे हैं. कोलकाता पोर्ट विधानसभा सीट से शहरी विकास मंत्री सह कोलकाता नगर निगम के मेयर फिरहाद हकीम चुनाव लड़ रहे हैं. बालीगंज विधानसभा सीट से पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास मंत्री सुब्रत मुखर्जी भाग्य आजमा रहे हैं, तो भवानीपुर से बिजली मंत्री शोभनदेव चट्टोपाध्याय मैदान में हैं.

आसनसोल उत्तर विधानसभा सीट से बंगाल के श्रम मंत्री मलय घटक ताल ठोंक रहे हैं. इनके अलावा जितेंद्र तिवारी, अग्निमित्रा पाल, सायोनी घोष जैसे चर्चित नाम भी इस चरण में हैं, जिनकी भाग्य का फैसला मतदाता सोमवार को करेंगे. आसनसोल के पूर्व मेयर जितेंद्र तिवारी भाजपा के टिकट पर लड़ रहे हैं. वह तृणमूल कांग्रेस छोड़कर चुनाव से ऐन पहले भगवा दल में शामिल हो गये थे.

भारतीय जनता पार्टी ने महिला मोर्चा की अध्यक्ष और मशहूर फैशन डिजाइनर अग्निमित्रा पाल को आसनसोल दक्षिण सीट से अपना उम्मीदवार बनाया है. उनका मुकाबला चुनाव से ठीक पहले तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुईं विवादास्पद बयानों के लिए सुर्खियों में रहने वाली अभिनेत्री सायोनी घोष से है.

कश्मीर घाटी में मानवीय कार्यों के लिए ‘जनता का जनरल’ के नाम से प्रसिद्ध भारतीय सेना के पूर्व उप-प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) सुब्रत साहा रासबिहारी विधानसभा सीट से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. सुब्रत साहा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बोर्ड के सदस्य रह चुके हैं. उनका मुकाबला तृणमूल कांग्रेस के देवाशीष कुमार और कांग्रेस के आशुतोष चटर्जी से है.

पश्चिमी बर्दवान जिला के जामुड़िया विधानसभा क्षेत्र को वाम के अंतिम कुछ गढ़ों में से एक माना जाता है. यहां इस बार के चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिल रहा है. माकपा की ओर से जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष को मैदान में उतारा गया है. तृणमूल कांग्रेस ने हरेराम सिंह तथा भाजपा ने तापस राय को मैदान में उतारा है.

तृणमूल कांग्रेस ने दक्षिण दिनाजपुर जिला में अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित विधानसभा सीट तपन से बच्चू हांसदा को अपना उम्मीदवार बनाया है. ममता बनर्जी की कैबिनेट में बच्चू हांसदा को मंत्री बनाया गया था. उन्हें नॉर्थ बंगाल डेवलपमेंट की जिम्मेदारी सौंपी गयी थी.

ममता बनर्जी के निर्वाचन क्षेत्र भवानीपुर से इस बार शोभनदेव चट्टोपाध्याय चुनाव लड़ रहे हैं और उनके खिलाफ भाजपा ने चुनाव से पहले तक तृणमूल में रहे अभिनेता रुद्रनील घोष को अपना उम्मीदवार बनाया है. यहां से कांग्रेस ने सादाब खान को टिकट दिया है. वह संयुक्त मोर्चा (कांग्रेस-लेफ्ट-आइएसएफ) के संयुक्त उम्मीदवार हैं.

भारतीय जनता पार्टी ने एक और कद्दावर उम्मीदवार उतारा है. दक्षिणी दिनाजपुर के बालूरघाट विधानसभा सीट से अशोक कुमार लाहिड़ी को टिकट दिया गया है. अशोक लाहिड़ी जाने-माने अर्थशास्त्री हैं. उनका मुकाबला तृणमूल कांग्रेस के शेखर दासगुप्ता और संयुक्त मोर्चा की सुचेता विश्वास से है.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें