1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. its conspiracy against bjpmamata banerjee has no trust in democracy wants to destroy opposition says kailash vijayvargiya mtj

भाजपा के खिलाफ साजिश रच रही तृणमूल कांग्रेस, ममता बनर्जी को लोकतंत्र में भरोसा नहीं, बोले कैलाश विजयवर्गीय

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
ममता बनर्जी की कैलाश विजयवर्गीय ने की आलोचना
ममता बनर्जी की कैलाश विजयवर्गीय ने की आलोचना
Prabhat Khabar

कोलकाताः भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने ममता बनर्जी और उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस पर भाजपा के खिलाफ षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया है. कहा कि भाजपा कार्यालय के बाहर कल बम मिले थे. यह साजिश है. श्री विजयवर्गीय ने कहा है कि बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो का लोकतंत्र में विश्वास नहीं है. वह विपक्ष को बर्बाद कर देना चाहती हैं.

भारतीय जनता पार्टी के नेता शुभेंदु अधिकारी और उनके भाई सौमेंदु अधिकारी पर प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए भी ममता बनर्जी की आलोचना की. ममता बनर्जी की कैबिनेट में परिवहन मंत्री समेत कई अहम जिम्मेदारी निभाने वाले शुभेंदु अधिकारी और उनके भाई सौमेंदु अधिकारी पर तिरपाल चोरी का आरोप लगा है. कहा गया है कि ये तिरपाल अम्फान चक्रवात के पीड़ितों के लिए रखे गये थे, जिसे जबरन निकाल लिया गया.

कांथी नगरपालिका प्रशासनिक बोर्ड के सदस्य रत्नदीप मन्ना ने इस संबंध में एक केस दर्ज करायी है. सौमेंदु अधिकारी पूर्वी मेदिनीपुर जिला के कांथी नगरपालिका प्रशासनिक बोर्ड के प्रमुख थे. रत्नदीप मन्ना ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि शुभेंदु और उनके भाई सौमेंदु ने केंद्रीय बल के जवानों की मदद से नगरपालिका के गोदाम से जबरन तिरपाल निकाल लिये. इन तिरपालों और अन्य राहत सामग्रियों की कीमत लाखों में है.

बंगाल चुनाव और उससे पहले भाजपा नेताओं ने तृणमूल कांग्रेस पर अम्फान पीड़ितों के लिए केंद्र से भेजी गयी राहत सामग्री की चोरी करने का आरोप लगाया था. अब तृणमूल के सत्ता में आने के बाद उन्हीं के खिलाफ इस मामले मे मुकदमा दर्ज हो गया है. शिकायतकर्ता ने गोदाम से राहत सामग्री की चोरी में केंद्रीय सशस्त्र बलों के जवानों की मदद लेने का आरोप भी अधिकारी बंधुओं पर लगाया है. अधिकारी परिवार से किसी ने इस मुद्दे पर अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

कांथी नगरपालिका प्रशासनिक बोर्ड के सदस्य रत्नदीप मन्ना ने 1 जून को अधिकारी बंधुओं के खिलाफ कांथी के एक थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी. उसी दिन शुभेंदु अधिकारी के एक करीबी को कोलकाता की पुलिस ने धोखाधड़ी करने के आरोप में गिरफ्तार किया था. राखाल बेड़ा नामक इस शख्स पर आरोप है कि एक व्यक्ति को सिंचाई एवं जलमार्ग मंत्रालय में नौकरी दिलाने के ना पर वर्ष 2019 में 2 लाख रुपये लिये थे. पैसे देने के बाद भी उसे नौकरी नहीं मिली.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें