1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. hat trick not easy for tmc candidate swapan debnath at purbasthali dakshin assembly seat in purba bardhaman district of west bengal mtj

पूर्वस्थली दक्षिण में हैट्रिक लगाने उतरे TMC नेता एवं मंत्री स्वपन देवनाथ के लिए आसान नहीं डगर

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
TMC नेता और मंत्री स्वपन देवनाथ
TMC नेता और मंत्री स्वपन देवनाथ
फाइल फोटो

पूर्वस्थली (मुकेश तिवारी): पूर्व बर्दवान (Bardhaman Purba) जिले की पूर्वस्थली दक्षिण (Purbasthali Dakshin) विधानसभा सीट काफी अहम मानी जा रही है. कारण है कि इस सीट से राज्य के कुटीर व लघु समेत प्राणी विकास संपदा मंत्री तथा पूर्व बर्दवान जिला तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष स्वपन देवनाथ तीसरी बार यानी कि हैट्रिक लगाने के लिए चुनाव मैदान में उतरे हैं. इससे पहले, वह वर्ष 2011 और 2016 में जीत दर्ज कर चुके हैं.

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने राजीव कुमार भौमिक को उनके खिलाफ मैदान में उतार दिया है, जिससे स्वपन देवनाथ की हैट्रिक आसान नहीं लग रही. संयुक्त मोर्चा की ओर से कांग्रेस ने अभिजीत भट्टाचार्य को अपना उम्मीदवार बनाया है. राजीव और अभिजीत दोनों स्वपन देवनाथ की मुश्किलें बढ़ायेंगे.

राजनीतिक विशेषज्ञों का मानना है कि इस बार कांग्रेस की बजाय तृणमूल की लड़ाई सीधे तौर पर भाजपा प्रत्याशी से ही होगी. यही कारण है कि स्वयं तृणमूल प्रत्याशी व मंत्री स्वपन देवनाथ कोई कोताही नहीं बरतना चाह रहे हैं. वर्ष 2016 के विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस के स्वपन देवनाथ ने कांग्रेस के अभिजीत भट्टाचार्य को 37,666 वोटों के अंतर से हराया था.

पूर्वस्थली दक्षिण सीट बर्दवान पूर्व लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत है. 2019 के लोकसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार सुनील कुमार मंडल ने भारतीय जनता पार्टी के परेश चंद्र दास को 89,311 वोटों के अंतर से हराया था. वर्ष 2011 के विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस के विधायक स्वपन देवनाथ को 86,039 वोट मिले थे, जबकि माकपा की प्रत्याशी आलिया बेगम शेख को 70,181 मत मिले थे.

इस तरह से स्वपन देवनाथ ने उन्हें 15,858 वोट से पराजित किया था. वर्ष 2016 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के अभिजीत भट्टाचार्य से सीधी लड़ाई थी. कांग्रेस प्रत्याशी को 66,732 वोट मिले थे, जबकि तृणमूल के स्वपन देवनाथ को 1,04,398 मत मिले. इस चुनाव में भी स्वपन देवनाथ ने 37,666 वोट के अंतर से जीत हासिल की थी.

वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद इस क्षेत्र में भाजपा का जनाधार तेजी से बढ़ा है. हालांकि, लोकसभा चुनाव में बर्दवान पूर्व सीट से तृणमूल कांग्रेस के ही प्रार्थी सांसद सुनील कुमार मंडल ने 89,311 वोट से जीत दर्ज की थी. लेकिन, तृणमूल और स्वपन देवनाथ के बीच अनबन के बाद पूर्व सांसद सुनील कुमार मंडल शुभेंदु अधिकारी का हाथ पकड़ कर भाजपा में शामिल हो गये.

इस क्षेत्र में भाजपा ने कई जनसभाएं भी आयोजित कीं. खुद सुनील कुमार मंडल ने तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ और स्वपन देवनाथ के कथित तानाशाही आचरण के खिलाफ जमकर इस इलाके में प्रचार किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सामने रखकर सोनार बांग्ला की कल्पना करते हुए परिवर्तन की सरकार लाने को लेकर इस इलाके में तूफानी प्रचार किया.

हालांकि, स्वपन देवनाथ का कहना है कि उन्होंने इस इलाके में मां, माटी, मानुष सरकार की सभी योजनाओं को लागू कराया है. कई बड़े प्रोजेक्ट यहां पर उन्होंने स्थापित किये हैं. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सहयोग से इस क्षेत्र का काफी विकास हुआ है. वाम मोर्चा के समय यह क्षेत्र काफी पिछड़ा था. लेकिन पिछले 10 वर्षों में इस क्षेत्र ने काफी विकास किया है. इसका फल यहां की जनता तृणमूल को वोट देकर देगी.

दूसरी बार चुनाव लड़ रहे हैं कांग्रेस के अभिजीत भट्टाचार्य

कांग्रेस प्रत्याशी अभिजीत भट्टाचार्य का कहना है कि राज्य की तृणमूल सरकार से स्थानीय जनता नाखुश है. तृणमूल नेताओं ने विभिन्न योजनाओं के मद में स्थानीय लोगों के रुपये का गबन किया है, कट मनी खाया है. इसका जवाब जनता जरूर देगी.

वहीं, केंद्र की भाजपा सरकार की कृषि नीति के खिलाफ यहां की जनता, यहां के किसान आक्रोशित हैं. इसका लाभ संयुक्त मोर्चा को मिल सकता है. कांग्रेस प्रत्याशी अभिजीत भट्टाचार्य भी इस सीट से दूसरी बार तृणमूल के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरे हैं.

पूर्वी बर्दवान जिला में स्थित पूर्वस्थली दक्षिण विधानसभा सीट पर 22 अप्रैल को छठे चरण में मतदान होना है. ज्ञात हो कि पश्चिम बंगाल में इस बार 8 चरणों में वोट हो रहा है. इनमें से 3 चरण (27 मार्च, 1 अप्रैल और 6 अप्रैल 2021) की वोटिंग हो चुकी है. शेष 5 चरणों की वोटिंग 10 अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को होनी है. सभी 294 सीटों की मतगणना 2 मई को होगी.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें