1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. fate of 205 candidates including swapan dasgupta asima patra and kanti ganguly to be locked in evm by more than 78 lakhs voters of howrah hooghly and south 24 pargana in bengal election 2021 third phase voting mtj

Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 Phase 3: 78.52 लाख वोटर 6 अप्रैल को करेंगे स्वपन दासगुप्ता, असीमा पात्र और कांति गांगुली समेत 205 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Bengal Chunav 2021 में तीसरे चरण के तीन कद्दावर उम्मीदवार
Bengal Chunav 2021 में तीसरे चरण के तीन कद्दावर उम्मीदवार
Prabhat Khabar

कोलकाता : पश्चिम बंगाल चुनाव 2021 के तीसरे चरण की वोटिंग मंगलवार (6 अप्रैल 2021) को होगी. इस चरण में 78.52 लाख से अधिक वोटर राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा देकर भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे स्वपन दासगुप्ता, ममता बनर्जी के कैबिनेट की मंत्री असीमा पात्र और माकपा नेता कांति गांगुली समेत 205 उम्मीदवारों की किस्मत इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) में लॉक कर देगी.

इस दिन पश्चिम बंगाल के तीन जिलों (हावड़ा, हुगली और दक्षिण 24 परगना) की 31 विधानसभा सीटों पर मतदान होगा. इस चरण में ग्रामीण हावड़ा, दक्षिण 24 परगना में सुंदरवन क्षेत्र, डायमंड हार्बर और बारुईपुर क्षेत्र के अलावा हुगली जिले के कुछ हिस्सों में मतदान होगा. 31 विधानसभा सीटों पर कुल 78,52,425 मतदाता हैं, जिसमें 39,93,280 पुरुष, 38,58,902 महिलाएं और 243 थर्ड जेंडर हैं.

सभी 31 विधानसभा क्षेत्रों में 10,871 मतदान केंद्र बनाये गये हैं, जहां सुबह 7 बजे से शाम 6:30 बजे तक मतदान होगा. तीसरे चरण के मतदान के लिए चुनाव आयोग ने केंद्रीय बलों की कम से कम 618 कंपनियों को तैनात किया है. सभी बूथों की पहचान ‘संवेदनशील’ बूथ के रूप में की गयी है.

दक्षिण 24 परगना में सबसे ज्यादा 396 कंपनियां तैनात

चुनाव आयोग ने दक्षिण 24 परगना के तीन पुलिस जिलों बरुईपुर, डायमंड हार्बर और सुंदरवन में 5,544 बूथों के लिए केंद्रीय बलों की सबसे अधिक 396 कंपनियां तैनात की हैं. हुगली में केंद्रीय बलों की 166 कंपनियां और हावड़ा के ग्रामीण इलाकों में 133 कंपनियां तैनात की गयी हैं.

तीसरे चरण में ऐसा रहा प्रचार अभियान

भाजपा के प्रचार अभियान का नेतृत्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया. उन्होंने इन तीन जिलों में कई जनसभाओं को संबोधित किया. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने इन क्षेत्रों में पिछले कुछ दिनों में रैलियां की और रोड शो किये.

तृणमूल कांग्रेस के प्रचार का नेतृत्व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने किया. टीएमसी सांसद और उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी ने भी कई रैलियों को संबोधित किया. प्रधानमंत्री ने अपनी रैलियों में, तृणमूल कांग्रेस सरकार पर ‘तुष्टिकरण की राजनीति’ को लेकर हमला किया और अन्य भाजपा नेताओं ने अम्फान तूफान के बाद राहत उपलब्ध कराने में कथित अनियमितताओं सहित जमीनी स्तर के भ्रष्टाचार के मुद्दे को उठाया.

ममता ने अपने पुराने वफादारों को बताया ‘गद्दार’

दूसरी तरफ, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उन नेताओं को निशाने पर लिया, जिन्होंने उनकी पार्टी को चुनावों से पहले भाजपा में शामिल होने के लिए छोड़ दिया. उन्होंने लोगों से ‘गद्दारों’ के खिलाफ वोट करने का आग्रह किया. उन्होंने ईंधन की बढ़ती कीमतों और अर्थव्यवस्था की स्थिति को लेकर भी केंद्र में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार पर हमला किया.

वामदलों का घर-घर प्रचार पर रहा जोर

वाम नेतृत्व वाले गठबंधन ने पीएम मोदी और ममता बनर्जी की बड़ी रैलियों का मुकाबला करने के लिए कोई बड़ा चेहरा नहीं होने के चलते छोटी सभाओं और घर-घर प्रचार पर अधिक ध्यान केंद्रित किया. हालांकि, आइएसएफ के संस्थापक अब्बास सिद्दीकी की जनसभाओं में भीड़ जुटी, जिसमें मुस्लिमों की अधिक संख्या शामिल थी.

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021

कुल विधानसभा सीट : 294

  • अनुसूचित जाति (SC) के लिए आरक्षित सीट - 68

  • अनुसूचित जनजाति (ST) के लिए आरक्षित सीट - 16

  • आम मतदाता - 7,32,94,980

  • सर्विस वोटर - 1,12,642

  • एनआरआई मतदाता - 210

  • कुल मतदाता - 7,34,07,832

  • मतदान केंद्र - 1,01,916

बंगाल चुनाव 2021: चर्चित उम्मीदवार और विधानसभा क्षेत्र

तारकेश्वर विधानसभा सीट : हुगली जिला की इस विधानसभा सीट पर तृणमूल कांग्रेस के रामेंदु सिंघा राय चुनाव लड़ रहे हैं, तो उनके खिलाफ भारतीय जनता पार्टी ने स्वपन दासगुप्ता को मैदान में उतारा है. संयुक्त मोर्चा की ओर से वामदल के सुरजीत घोष यहां से चुनाव लड़ रहे हैं.

स्वपन दासगुप्ता राज्यसभा के मनोनीत सदस्य थे. बंगाल विधानसभा का चुनाव लड़ने के लिए उन्होंने उच्च सदन की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया.

डायमंड हार्बर विधानसभा सीट: दक्षिण 24 परगना की इस विधानसभा सीट पर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने पन्नालाल हल्दर को मैदान में उतारा है, तो भारतीय जनता पार्टी ने तृणमूल छोड़कर भगवा दल का दामन थामने वाले दीपक हल्दर को टिकट दिया है. संयुक्त मोर्चा की ओर से लेफ्ट ने प्रतीक उर रहमान को उतारा है.

डायमंड हार्बर विधानसभा सीट डायमंड हार्बर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आती है. यहां से ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी सांसद हैं और उन्होंने दावा किया था कि जिले में कमल का फूल नहीं खिल सकेगा.

श्यामपुर विधानसभा सीट : हावड़ा जिला की श्यामपुर विधानसभा सीट से तृणमूल कांग्रेस ने कालिपद मंडल को टिकट दिया है. उनके खिलाफ भारतीय जनता पार्टी ने तनुश्री चक्रवर्ती को उतारा है, तो संयुक्त मोर्चा की ओर से कांग्रेस के टिकट पर अमिताभ चक्रवर्ती चुनाव लड़ रहे हैं.

तनुश्री चक्रवर्ती बांग्ला फिल्मों की अभिनेत्री हैं. उन्होंने उड़ो चीठी, बेडरूम, अभिशप्त नाइटी, विंडो कनेक्शंस, बुनो हांश, खाद और गुमनामी जैसी फिल्मों में काम किया है.

6 अप्रैल को बंगाल विधानसभा की इन सीटों पर होना है मतदान

क्रम संख्या विधानसभा संख्या और विधानसभा सीट के नाम

1. 128 बासंती (एससी)

2. 129 कुलतली (एससी)

3. 133 कुलपी

4. 134 रायदीघी

5. 135 मंदिरबाजार (एससी)

6. 136 जयनगर (एससी)

7. 137 बारुईपुर पूर्व (एससी)

8. 138 कैनिंग पूर्व

10. 140 बारुईपुर पश्चिम

11. 141 मगराहाट पूर्व (एससी)

12. 142 मगराहाट पश्चिम

13. 143 डायमंड हार्बर

14. 144 फलता

15. 145 सतगछिया

16. 146 विष्णुपुर (एससी)

17. 177 उलुबेड़िया उत्तर (एससी)

18. 178 उलुबेड़िया दक्षिण

19. 179 श्यामपुर

20. 180 बागनान

21. 181 आमता

22. 182 उदयनारायणपुर

23. 183 जगतबल्लभपुर

24. 195 जंगीपाड़ा

25. 196 हरिपाल

26. 197 धनेखाली (एससी)

27. 198 तारकेश्वर

28. 199 पुरसुरा

29. 200 आरामबाग (एससी)

30. 201 गोघाट (एससी)

31. 202 खानाकुल

हुगली जिला की इन चार सीटों पर वोट

तारकेश्वर, पुरसुरा, आरामबाग (एससी), गोघाट (एससी), खानाकुल, धनेखाली (एससी), जंगीपाड़ा, हरिपाल

हावड़ा जिला की इन 7 सीटों पर वोट

उलुबेड़िया उत्तर (एससी), उलुबेड़िया दक्षिण, श्यामपुर, बागनान, आमता, उदयनारायणपुर, जगतबल्लभपुर

दक्षिण 24 परगना की इन 16 सीटों पर मतदान

बासंती (एससी), कुलतली (एससी), कुलपी, रायदीघी, मंदिरबाजार (एससी), जयनगर (एससी), बारुईपुर पूर्व (एससी), कैनिंग पूर्व, बारुईपुर पश्चिम, मगराहाट पूर्व (एससी), मगराहाट पश्चिम, डायमंड हार्बर, फलता, सतगछिया, विष्णुपुर (एससी)

मतदाता पहचान पत्र नहीं है, तो ये दस्तावेज हैं मान्य

मतदान करने के लिए मतदाताओं को मतदान केंद्र पर अपना मतदाता पहचान पत्र दिखाना होता है. अगर आपने अब तक मतदाता पहचान पत्र नहीं बनवाया है या एपिक कार्ड खो गया है, तो आप निम्न दस्तावेजों के साथ पोलिंग बूथ पर जायें और अपने मताधिकार का इस्तेमाल करें. निर्वाचन आयोग ने निम्न दस्तावेजों को पहचान पत्र माना है-

  • आधार कार्ड (AADHAR Card)

  • मनरेगा (MNREGA) जॉब कार्ड

  • बैंक या पोस्ट ऑफिस से जारी फोटोयुक्त पासबुक

  • श्रम मंत्रालय की योजना के तहत जारी हेल्थ इंश्योरेंस स्मार्ट कार्ड

  • ड्राइविंग लाइसेंस

  • पैन (PAN) कार्ड

  • एनपीआर (NPR) के तहत आरजीआइ (RGI) से जारी स्मार्ट कार्ड

  • भारत सरकार की ओर से जारी पासपोर्ट

  • फोटोयुक्त पेंशन डॉक्युमेंट

  • केंद्र सरकार, राज्य सरकार, लोक उपक्रमों, पब्लिक लिमिटेड कंपनियों के द्वारा जारी फोटोयुक्त पहचान पत्र

  • सांसदों, विधायकों को जारी पहचान पत्र को भी चुनाव आयोग ने पहचान पत्र की मान्यता दी है

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें