1. home Home
  2. state
  3. west bengal
  4. election commission of india to deploy total 52 companies of central forces for bengal bypolls in bhabanipur janipur and shamsherganj abk

उपचुनाव में केंद्रीय बलों की 52 कंपनी की तैनाती, शांतिपूर्ण मतदान कराने की कोशिश में जुटा आयोग

हाई-प्रोफाइल भवानीपुर सीट से टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी का सीधा मुकाबला बीजेपी की कैंडिडेट प्रियंका टिबड़ेवाल से है. माकपा की तरफ से श्रीजीब विश्वास मैदान में उतरे हैं. तीनों सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए सुरक्षा के तमाम इंतजाम किए जा रहे हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
पश्चिम बंगाल उपचुनाव में केंद्रीय बलों की 52 कंपनी की तैनाती
पश्चिम बंगाल उपचुनाव में केंद्रीय बलों की 52 कंपनी की तैनाती
सोशल मीडिया

पश्चिम बंगाल की (Bengal Bypolls 2021) तीन विधानसभा सीटों (भवानीपुर, जंगीपुर और शमशेरगंज) में 30 सितंबर को उपचुनाव होने हैं. इसके बाद तीन अक्टूबर को काउंटिंग होगी. तीनों में से भवानीपुर हॉटसीट (Bhabanipur Hotseat) बनी हुई है. इस हाई-प्रोफाइल सीट से टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) का सीधा मुकाबला बीजेपी की कैंडिडेट प्रियंका टिबड़ेवाल (Priyanka Tibrewal) से है. माकपा की तरफ से श्रीजीब विश्वास मैदान में उतरे हैं. तीनों सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए सुरक्षा के तमाम इंतजाम किए जा रहे हैं.

37 और कंपनियों की तैनाती का फैसला

पश्चिम बंगाल की भवानीपुर, जंगीपुर और शमशेरगंज की तीनों विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव को देखते हुए केंद्रीय बलों (सेंट्रल फोर्स) की 37 और कंपनियां तैनात करने की बात कही गई है. सूत्रों की मानें तो चुनाव आयोग पहले ही 15 कंपनियों को तीनों विधानसभा सीटों पर तैनात कर चुका है. अब, केंद्रीय बलों की 37 और कंपनियों की तैनाती की जाएगी. इसके बाद सेंट्रल फोर्सेज की कंपनियों की संख्या बढ़कर 52 हो जाएगी. बताते चलें एक कंपनी में करीब 100 जवाब होते हैं. शांतिपूर्ण उपचुनाव के लिए केंद्रीय बलों की संख्या बढ़ाने की खबरें आई है.

शीतलकुची फायरिंग पर खूब हुआ हंगामा

इस साल हुए पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में जमकर हिंसा हुई थी. चौथे फेज की वोटिंग के दौरान भी हिंसक घटनाएं हुई थीं. यहां तक कि कूचबिहार के शीतलकुची में सीआईएसएफ की फायरिंग में चार लोगों की मौत हो गई थी. शीतलकुची फायरिंग को लेकर खूब हंगामा भी हुआ था. शीतलकुची फायरिंग के बाद सीएम ममता बनर्जी और बीजेपी आमने-सामने आ गई थीं. खुद केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने ममता बनर्जी पर लोगों को भड़काने का आरोप लगाया था. अमित शाह ने कहा था कि सीएम ममता बनर्जी के भड़काने के कारण लोगों ने केंद्रीय बलों पर हमला किया था. इसके कारण शीतलकुची में फायरिंग की घटना में चार लोगों की मौत हुई थी.

भवानीपुर में बीजेपी-टीएमसी की सीधी टक्कर

भवानीपुर विधानसभा सीट की बात करें तो ममता बनर्जी पहले दो बार (2011 और 2016) में यहां से जीतकर विधानसभा पहुंच चुकी हैं. इस बार सीएम ममता बनर्जी भवानीपुर सीट पर होने वाले उपचुनाव में मैदान में उतरी हैं. इसके पहले दो मई में निकले बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजों में नंदीग्राम सीट से टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी हार गई थीं. उन्हें बीजेपी के कैंडिडेट शुभेंदु अधिकारी ने हराया था. भवानीपुर सीट के उपचुनाव में ममता बनर्जी कैंडिडेट बनी हैं. ममता बनर्जी को सीएम बने रहने के लिए भवानीपुर सीट पर हो रहे उपचुनाव में जीत हासिल करनी होगी. भवानीपुर में ममता बनर्जी का मुकाबला बीजेपी कैंडिडेट प्रियंका टिबरेवाल से है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें