1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. wife sujata mondal khan joined trinamool congress bjp mp saumitra khan wept bitterly in press conference at kolkata sent divorce notice west bengal election 2021 mtj

तृणमूल में शामिल हुईं पत्नी सुजाता, तो प्रेस कॉन्फ्रेंस में फूट-फूटकर रोये भाजपा सांसद सौमित्र खान

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
तृणमूल में शामिल हुईं पत्नी, तो प्रेस कॉन्फ्रेंस में फूट-फूटकर रोये भाजपा सांसद सौमित्र खान.
तृणमूल में शामिल हुईं पत्नी, तो प्रेस कॉन्फ्रेंस में फूट-फूटकर रोये भाजपा सांसद सौमित्र खान.
Prabhat Khabar

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में राजनीतिक घमासान मचा हुआ है. तृणमूल कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी में एक-दूसरे के नेता को तोड़ने की होड़ मची हुई है. इसी हलचल के बीच सौमित्र खान की पत्नी सुजाता मंडल खान ने सोमवार (21 दिसंबर) को भाजपा छोड़कर तृणमूल कांग्रेस का झंडा थाम लिया. इससे व्यथित सौमित्र खान जब प्रेस के सामने आये तो संवाददाता सम्मेलन में फूट-फूटकर रोये.

पत्रकारों ने जब सौमित्र खान पत्नी के भाजपा छोड़कर तृणमूल में शामिल होने के बारे में प्रश्न किया, तो सांसद ने कहा कि उन्होंने सोचा था कि जनवरी, 2021 में शादी का एलबम बनायेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया. इसके विपरीत अब उन्हें तलाक का नोटिस भेजना पड़ रहा है. सौमित्र खान ने कहा कि कई दिनों से वह एक ज्योतिष के संपर्क में थी. उसी के चक्कर में उसने दलबदल किया है.

सौमित्र ने कहा, ‘ड्राइवर ने मुझे बताया कि एक ज्योतिष के साथ उनकी बातचीत हो रही थी. उसने कहा कि तृणमूल में शामिल होने से बड़ी जगह मिल सकती है. अभी वह अपरिपक्व है, उसने गलती कर दी.’ इतना कहते-कहते भाजपा सांसद पत्रकारों के सामने ही फफक-फफक कर रो पड़े. उन्होंने कहा कि पत्नी को वह तलाक का नोटिस भेज रहे हैं.

उल्लेखनीय है कि विष्णुपुर के भाजपा सांसद सौमित्र खां की पत्नी ने सौगत रॉय और कुणाल घोष की मौजूदगी में आज कोलकाता में तृणमूल का झंडा थाम लिया. इसके बाद संवाददाताओं से बातचीत में सौमित्र खान ने कहा कि सुजाता की बहुत सी महत्वाकांक्षाएं थीं. वह मुझसे कहती थी, ‘तुम्हें इतना बड़ा पद मिला. मुझे क्यों नहीं मिला.’

सौमित्र खान ने कहा कि उसने विष्णुपुर में भाजपा के लिए काम नहीं किया था, उसने अपने पति के लिए काम किया था. इसकी मान्यता भी उसे मिली. भाजपा में नियम नहीं है कि एक ही परिवार के दो लोगों को पद मिले. अमित शाह और कैलाश विजयवर्गीय जैसे वरिष्ठ भाजपा नेता सुजाता को अपनी बेटी की तरह मानते थे. अमित शाह तो यहां तक कहते थे कि वही असली सांसद है.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें