1. home Home
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. west bengal news bjp worker abhijit sarkar body found after 4 months bengal violence dilip ghosh amh

West Bengal News : चार महीने बाद मिला भाजपा कार्यकर्ता का शव, बोले दिलीप घोष- सबूत मिटाया गया

भाजपा नेता दिलीप घोष ने आरोप लगाया कि सूबे की सरकार ने चुनाव के बाद की हिंसा के पीड़ितों के पोस्टमार्टम में भी गड़बड़ी करने का काम किया. शव को सौंपने में 4 महीने का समय लगा ताकि सबूत मिटाए जा सकें.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
चार महीने बाद भाजपा कार्यकर्ता का शव मिला. बंगाल हिंसा में जान गई थी.
चार महीने बाद भाजपा कार्यकर्ता का शव मिला. बंगाल हिंसा में जान गई थी.
twitter

West Bengal News : पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पदाधिकारी अभिजीत सरकार की हत्या के चार महीने बाद गुरुवार को उनका अंतिम संस्कार किया गया. मामले को लेकर दिलीप घोष ने समाचार एजेंसी एएनआई से बात की और कहा कि भाजपा सदस्य पार्टी कार्यकर्ता अभिजीत सरकार को श्रद्धांजलि देते हैं, अभिजीत सरकार चुनाव के बाद की हिंसा के शिकार थे, उनका शव 4 महीने बाद उनके परिवार को सौंपने का काम किया गया. आगे भाजपा नेता दिलीप घोष ने आरोप लगाया कि सूबे की सरकार ने चुनाव के बाद की हिंसा के पीड़ितों के पोस्टमार्टम में भी गड़बड़ी करने का काम किया. शव को सौंपने में 4 महीने का समय लगा ताकि सबूत मिटाए जा सकें.

अभिजीत का शव सौंपने के दौरान हुए झगड़ा : कोलकाता के एक सरकारी अस्पताल के मुर्दाघर से अभिजीत का शव सौंपने के दौरान हुए झगड़े के बाद भाजपा के एक नेता ने होमगार्ड को कथित तौर पर थप्पड़ मार दिया. बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाद हुई हिंसा में कथित रूप से मारे गए अभिजीत सरकार के शव का बाद में दक्षिण कोलकाता में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आवास के पास एक श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार किया गया.

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो : सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में कथित तौर पर भाजपा नेता देबदत्त माजी को नीलरतन सरकार मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के मुर्दाघर में होमगार्ड को थप्पड़ मारते हुए दिखाया गया है, जहां अभिजीत सरकार का शव रखा गया था. यह घटना तब हुई जब भाजपा नेताओं और अभिजीत सरकार के परिवार के सदस्यों को मुर्दाघर परिसर के बाहर लंबे समय तक इंतजार करने के लिए मजबूर किया गया.

अदालत ने क्या कहा : कोलकाता की एक स्थानीय अदालत ने बुधवार को निर्देश दिया कि अभिजीत का शव उसके परिवार को सौंप दिया जाए. माजी ने संवाददाताओं से कहा कि वे (अस्पताल के अधिकारी) अभिजीत के शव को हमें सौंपने में देर कर रहे थे और होमगार्ड चालाकी से काम कर रहा था। झगड़े और धक्का-मुक्की हो रही थी.

दिलीप घोष ने शुरू में क्या कहा था : भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने शुरू में कहा था कि अगर माजी के होमगार्ड को थप्पड़ मारने का आरोप सही साबित होता है तो पार्टी उनके खिलाफ कार्रवाई करेगी. हालांकि, बाद में उन्होंने कहा कि भाजपा नेता ने सही काम किया. घोष ने संवाददाताओं से कहा कि एक होमगार्ड ने भाजपा के सदस्यों और समर्थकों को परेशान करने की हिम्मत कैसे की? ममता बनर्जी का प्रशासन कानून के किसी भी शासन की परवाह नहीं करता है. उन्होंने कहा कि आपको (होमगार्ड) पता होना चाहिए कि आपके पास कई साल की सेवा बाकी है और ममता बनर्जी आपको हमेशा नहीं बचायेंगी.

भाषा इनपुट के साथ

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें