1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. trinamool mp saugat roy ridiculed amit shah said seeing dream in the day mtj

तृणमूल सांसद सौगत रॉय ने अमित शाह की उड़ायी खिल्ली, बोले, ‘दिन में सपना’ देख रहे हैं

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
तृणमूल सांसद सौगत रॉय ने अमित शाह की उड़ायी खिल्ली, बोले, ‘दिन में सपना’ देख रहे हैं.
तृणमूल सांसद सौगत रॉय ने अमित शाह की उड़ायी खिल्ली, बोले, ‘दिन में सपना’ देख रहे हैं.
Social Media

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने बृहस्पतिवार को केंद्रीय मंत्री अमित शाह की खिल्ली उड़ायी. तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि अमित शाह पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सत्ता में आने का ‘दिन में सपना’ देख रहे हैं.

तृणमूल ने अमित शाह के जनजातीय संपर्क को भाजपा शासित राज्यों में पिछड़े समुदायों पर अत्याचार से ध्यान बंटाने का ‘चुनावी हथकंडा’ करार दिया. वर्ष 2021 के विधानसभा चुनाव से पहले पश्चिम बंगाल की दो दिवसीय यात्रा पर पहुंचे श्री शाह ने इससे पहले कहा था कि वह ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ व्यापक जनाक्रोश का अनुभव कर सकते हैं और उनके शासन की विदाई की घंटी बज चुकी है.

श्री शाह ने लोगों से ‘सोनार बांग्ला’ के अपने सपने को पूरा करने के लिए भाजपा को अगली सरकार बनाने का एक मौका देने की अपील की. तृणमूल सांसद सौगत रॉय ने कहा, ‘ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भाजपा के एक कार्यकर्ता की भांति व्यवहार कर रहे हैं. उन्हें और उनकी पार्टी को पश्चिम बंगाल में सत्ता में आने के बारे में दिन में सपने देखना बंद कर देना चाहिए. इसकी बजाय, उन्हें राज्य में अपनी पार्टी को एकजुट रखने पर ध्यान देना चाहिए, जो बंटी हुई है.’

उन्होंने कहा, ‘बंगाल के लोग मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के पीछे मजबूती से खड़े हैं.’ श्री रॉय के सुर में सुर मिलाते हुए राज्य के मंत्री फरहाद हकीम ने कहा कि एक जनजातीय परिवार के घर अमित शाह का निर्धारित भोजन कार्यक्रम कुछ नहीं, बल्कि ‘एक चुनावी हथकंडा’ है और देश भर में आदिवासियों पर अत्याचार से ध्यान बंटाने की बेतहाशा कोशिश करार दिया.

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष, पार्टी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और उपाध्यक्ष मुकुल राय के साथ शाह एक दिन की बांकुरा जिले की यात्रा पर हैं. यहां उन्होंने भाजपा के एक आदिवासी कार्यकर्ता बिभीषण हांसदा के घर जाकर भोजन किया. इसके लिए कीचड़ भरे रास्ते में भी वह पैदल चले.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें