1. home Home
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. tmc attacks bjp and amit shah bratya basu said false commitment to matua community caa is not going to be implemented before west bengal election 2021 mtj

तृणमूल का भाजपा और अमित शाह पर हमला, मतुआ समुदाय से किया झूठा वादा, जल्द लागू नहीं होगा सीएए

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 से पहले तृणमूल कांग्रेस ने भाजपा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के बहाने हमला किया है. कहा है कि भाजपा और अमित शाह ने मतुआ समुदाय के लोगों से झूठा वादा किया. सीएए जल्द लागू नहीं होगा.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
ब्रात्य बसु ने भाजपा और अमित शाह पर लगाया मतुआ समुदाय को गुमराह करने का आरोप.
ब्रात्य बसु ने भाजपा और अमित शाह पर लगाया मतुआ समुदाय को गुमराह करने का आरोप.
Prabhat Khabar

कोलकाता : पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 से पहले भारतीय जनता पार्टी और सत्तारूढ़ ततृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है. तृणमूल कांग्रेस ने भाजपा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के बहाने हमला किया है. कहा है कि भाजपा और अमित शाह ने मतुआ समुदाय के लोगों से झूठा वादा किया था. सीएए जल्द लागू नहीं होगा.

तृणमूल कांग्रेस ने दावा किया कि भाजपा संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को जल्द लागू करने का झूठा वादा करके मतुआ समुदाय को ठगने का प्रयास कर रही है, क्योंकि कानून के नियमों को बनाने की समयसीमा जुलाई तक बढ़ा दी गयी है. मतुआ बांग्लादेश से आया प्रवासी समुदाय है.

पश्चिम बंगाल के मंत्री ब्रात्य बसु ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि भगवा दल विधानसभा चुनाव से पहले रथ यात्रा का आयोजन कर समर्थन हासिल करने की योजना बना रहा है, लेकिन व्यक्तिगत लाभ के लिए उसकी ‘फर्जी और विभाजनकारी’ राजनीति उजागर हो गयी है.

टीएमसी नेता ने कहा, ‘भाजपा असम और बंगाल में सीएए को लागू करने को लेकर विभाजनकारी राजनीति कर रही है, लेकिन उसे इसकी परवाह नहीं है कि इससे पड़ोसी राज्य में अन्य सहित हिंदू आबादी प्रतिकूल रूप से प्रभावित हुई है.’

बसु ने पार्टी मुख्यालय में कहा, ‘राज्य में मतुआ समुदाय को लुभाने के लिए भगवा खेमे की फर्जी राजनीति का पर्दाफाश मंगलवार को गृह मंत्रालय द्वारा लोकसभा में सीएए पर दिये गये बयान ने कर दिया.’ उन्होंने कहा कि सीएए नियमों को तैयार करने की समयसीमा बढ़ा दी गयी है और विधानसभा चुनाव से पहले कानून लागू नहीं किया जायेगा.

मतुआ समुदाय को नाराज होने का हक : तृणमूल

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने मंगलवार को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में संसद को बताया था कि संशोधित नागरिकता कानून-2019 के तहत नियमों तैयार किया जा रहा है. इन्हें तैयार करने के वास्ते लोकसभा और राज्यसभा की अधीनस्थ विधान संबंधी समितियों के लिए अवधि बढ़ाकर क्रमश: 9 अप्रैल और 9 जुलाई कर दी गयी है.

टीएमसी नेता ने दावा किया कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तरी 24 परगना में मतुआ समुदाय के गढ़ में पिछले हफ्ते अपनी जनसभा को शायद इसलिए रद्द कर दिया था, क्योंकि वह उनसे सीएए लागू करने का किया गया वादा पूरा नहीं कर सकते. उन्होंने कहा कि समुदाय को इस घटनाक्रम पर नाराज होने का हक है.

सीएए पर रुख स्पष्ट करे केंद्र : ब्रात्य बसु

ब्रात्य बसु ने केंद्र सरकार से नागरिकता कानून पर अपना रुख स्पष्ट करने को कहा. शाह का 30 जनवरी से राज्य का दो दिवसीय दौरा था, जिसे दिल्ली में इस्राइली दूतावास के पास कम तीव्रता के आईईडी विस्फोट होने के बाद रद्द कर दिया गया था. सीएए को 2019 में संसद में पारित किया गया था.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें