1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. three members of child trafficking gang arrested in kolkata city of west bengal 21 children brought in a bus from samastipur district of bihar rescued mth

बिहार में सक्रिय चाइल्ड ट्रैफिकिंग गिरोह के तीन सदस्य कोलकाता में गिरफ्तार, समस्तीपुर से बस में भरकर लाये थे 21 बच्चे

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
बच्चों की तस्करी करने वाले गिरोह के तीन सदस्य कोलकाता में गिरफ्तार.
बच्चों की तस्करी करने वाले गिरोह के तीन सदस्य कोलकाता में गिरफ्तार.
Bikas Kumar

कोलकाता (विकास कुमार) : बिहार के विभिन्न जिलों से नाबालिग बच्चों को लेकर पश्चिम बंगाल आये मानव तस्करी गिरोह के तीन सदस्यों को कोलकाता में गिरफ्तार किया गया है. मैदान थाना की पुलिस ने सोमवार सुबह इन तीनों को गिरफ्तार किया. पकड़े गये आरोपियों के नाम मोहम्मद आयशान (22), मोहम्मद अफजल (28) और मोहम्मद चांद (23) हैं. इनके पास से 21 बच्चों को पुलिस ने रिहा करवाया है.

कोलकाता पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि बिहार में सक्रिय बच्चों की तस्करी (चाइल्ड ट्रैफिकिंग) से जुड़ा गिरोह एक बस में कुछ बच्चों को लेकर समस्तीपुर से कोलकाता आ रहा है. इसके बाद इन बच्चों को गिरोह के सदस्यों के हवाले कर दिया जायेगा.

इसकी जानकारी मिलने के बाद मैदान थाना की पुलिस ने बाबूघाट बस स्टैंड के निकट सोमवार सुबह करीब 5:30 बजे समस्तीपुर से कोलकाता आयी एक बस को रुकवाया. तलाशी लेने पर बस के अंदर कुल 21 बच्चे मिले. इनके बारे में तीनों युवक कुछ भी सही जानकारी नहीं दे सके. इसके बाद तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया.

10 से 16 साल की उम्र के हैं बच्चे

दक्षिण कोलकाता के पुलिस उपायुक्त मिराज खालिद ने बताया कि इन बच्चों की उम्र 10 से 16 वर्ष के बीच है. इन्हें बिहार के किन-किन जिलों से लाया गया है, यह गिरोह इन बच्चों को कहां भेजने वाला था, इनके साथ गिरोह में और कौन-कौन लोग शामिल हैं, इन सभी सवालों का जवाब आरोपियों से जानने की कोशिश की जा रही है.

उधर, इस मामले में कोलकाता पुलिस के संयुक्त आयुक्त (अपराध) मुरलीधर शर्मा ने बताया कि बरामद बच्चों के बारे में बिहार पुलिस से संपर्क कर उन्हें जानकारी दी गयी है, ताकि वे इन बच्चों के घरवालों के बारे में जानकारी जुटा सकें. फिलहाल अदालत के निर्देश पर बच्चों को होम में रखा गया है.

आरोपियों को पुलिस हिरासत में लेकर इस गिरोह के बारे में विस्तृत जानकारी का पता लगाने की कोशिश की जा रही है. उल्लेखनीय है कि हर साल देश में लाखों बच्चे गायब हो जाते हैं. कुछ बच्चों से सड़कों पर भीख मंगवाया जाता है, तो कुछ बच्चों से मजदूरी करवायी जाती है. वहीं, कुछ को देह व्यापार में भी धकेल दिया जाता है.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें