1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. sujata mondal khan wife of bjp mp saumitra khan joins tmc at kolkata after biggest political escape in west bengal west bengal election 2021 mtj

Bengal Chunav: सबसे बड़े राजनीतिक पलायन के बाद अब भाजपा के घर में तृणमूल ने लगायी सेंध, सौमित्र खान की पत्नी TMC में शामिल

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Bengal Chunav: सबसे बड़े राजनीतिक पलायन के बाद अब भाजपा के घर में तृणमूल ने लगायी सेंध, सौमित्र खान की पत्नी TMC में शामिल.
Bengal Chunav: सबसे बड़े राजनीतिक पलायन के बाद अब भाजपा के घर में तृणमूल ने लगायी सेंध, सौमित्र खान की पत्नी TMC में शामिल.
Twitter

कोलकाता : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पश्चिम बंगाल प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष और पार्टी के सांसद सौमित्र खान के बीच अनबन के बाद सौमित्र की पत्नी ने भाजपा छोड़कर तृणमूल का दामन थाम लिया है. सौमित्र खान की पत्नी सुजाता मंडल खान ने तृणमूल में शामिल होने के बाद कहा कि उन्हें पार्टी में कभी सम्मान नहीं मिला. वहीं, सौमित्र ने कहा है कि उनकी पत्नी ने उनकी जानकारी के बगैर यह कदम उठाया है.

दलबदल कराने के लिए सत्तारूढ़ तृणमूल लगातार भाजपा की आलोचना कर रही है. सुजाता ने जब तृणमूल में शामिल होने की घोषणा की, तब टीएमसी के सीनियर लीडर्स सौगत रॉय और कुणाल घोष उनके साथ थे. तृणमूल में अब तक की सबसे बड़ी सेंध के बाद इसे भाजपा पर टीएमसी का ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ बताया जा रहा है. जैसे-जैसे पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 करीब आ रहा है, तृणमूल-भाजपा में तल्खी भी बढ़ती जा रही है.

राजधानी कोलकाता में तृणमूल कांग्रेस की सदस्यता लेने के बाद सुजाता ने कहा कि पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की लोकप्रियता का कोई मुकाबला नहीं है. सुजाता के पार्टी छोड़ने की वजह दिलीप घोष और सौमित्र खान के बीच अनबन को माना जा रहा है. हालांकि, सौमित्र खान ने कहा है कि उनकी पत्नी के तृणमूल में शामिल होने की उन्हें जानकारी नहीं है. उनकी पत्नी ने अगर ऐसा किया है, तो उन्हें बताये बगैर किया है.

वहीं, सुजाता का कहना है कि घर की बात घर में रहनी चाहिए. सुजाता के पति सौमित्र खान पश्चिम बंगाल की बिशुनपुर लोकसभा सीट से सांसद हैं. ज्ञात हो कि भाजपा ने दो दिन पहले ही ममता बनर्जी को तगड़ा झटका देते हुए तृणमूल कांग्रेस के एक सांसद और 7 विधायकों को अपने पाले में कर लिया था. इसमें मेदिनीपुर जिला के कद्दावर नेता और बंगाल के पूर्व मंत्री शुभेंदु अधिकारी शामिल हैं.

सोमवार सुबह ही तृणमूल के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने ट्वीट किया कि मीडिया ने भाजपा को लेकर जरूरत से ज्यादा ही प्रचार प्रसार किया हुआ है. लेकिन, वास्तविकता यह है कि पश्चिम बंगाल में भाजपा दहाई का आंकड़ा भी पार नहीं कर पायेगी. इससे पहले तृणमूल से पलायन के लिए प्रशांत किशोर को जिम्मेदार मानते हुए ममता बनर्जी ने उन्हें अल्टीमेटम दे दिया था.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें