1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. seeing cyclonic storm amphan bengal government has given three lakh people a safe place cm said aila and bulbul are more dangerous

बंगाल में भारी तबाही मचा सकता है 'अम्‍फान', 3 लाख लोगों को पहुंचाया गया सुरक्षित स्थान पर, आईला और बुलबुल से भी ज्यादा खतरनाक

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
चक्रवात तूफान अम्‍फान पर ममता सरकार की रहेगी विशेष नजर.
चक्रवात तूफान अम्‍फान पर ममता सरकार की रहेगी विशेष नजर.
फोटो : ट्विटर.

कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamta Banerjee) ने अम्‍फान को आईला और बुलबुल से अधिक खतरनाक बताया है. राज्य सचिवालय, नबान्न में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने बताया कि विशेषज्ञों का कहना है कि अम्फन पिछले दो चक्रवातों से अधिक खतरनाक है. इसके तीन हिस्से हैं. हेड (सिर), आई (आंख) और टेल (पूंछ). लिहाजा एक बार आंधी के गुजर जाने के बाद बाहर निकलने की कोई गलती न करें, क्योंकि इसका बाकी हिस्सा पीछे रहता है जो फिर आयेगा.

मुख्यमंत्री ने बताया कि यह चक्रवात दक्षिण 24 परगना, उत्तर 24 परगना, पूर्व व पश्चिम मेदिनीपुर में खासा प्रभाव डाल सकता है. सर्वाधिक नुकसान दक्षिण 24 परगना में हो सकता है. वहां के सागर, फ्रेजरगंज, नामखाना, काकद्वीप, बासंती, कैनिंग आदि हिस्सों में यह प्रभाव डाल सकता है. उत्तर 24 परगना के हासनाबाद, बशिरहाट व संदेशखाली में, पूर्व मेदिनीपुर के रामनगर, खेजुरी, सुताहाटा तथा पश्चिम मेदिनीपुर के दांतन, नारायणगढ़ आदि इलाकों में कहर बरपा सकता है.

मुख्यमंत्री ने बताया कि दक्षिण 24 परगना से करीब दो लाख लोगों को साईक्लोन सेंटरों में पहुंचाया गया है, जबकि उत्तर 24 परगना में 50 हजार, पूर्व मेदिनीपुर में 40 हजार व पश्चिम मेदिनीपुर में 10 हजार लोगों को शेल्टर में पहुंचाया गया है. यानी करीब तीन लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. उन शेल्टरों को कोरोना के मद्देनजर सैनिटाइज किया गया है. वहां बच्चों व बड़ों के लिए खाने व पेयजल का प्रबंध किया गया है.

टोल फ्री नंबर जारी

चक्रवात बुधवार को दोपहर करीब दो बजे आयेगा और गुरुवार सुबह तक बांग्लादेश की ओर चला जायेगा. इस संबंध में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बताया कि अम्फन से निपटने के लिए कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है. यहां के नंबर 22143526 और 22141995 हैं. इसके अलावा टोल फ्री नंबर 1070 भी है. इन नंबरों पर अम्फन से जुड़ी कोई भी मदद मांगी जा सकती है या जानकारी ली जा सकती है. मुख्यमंत्री खुद कंट्रोल रूम में बैठ कर स्थिति पर नजर रखेंगी. मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों के मंत्रियों के अलावा विभिन्न जिलों के डीएम व एसपी के साथ अम्फन को लेकर बैठक की. लोगों को घरों में रहने के लिए उन्हें संदेश देने और सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का उन्होंने निर्देश दिया.

अमित शाह ने की मुख्यमंत्री के साथ बात

अम्फन की स्थिति को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ फोन पर बातचीत की. मुख्यमंत्री ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि श्री शाह को उन्होंने आश्वस्त किया है कि अम्फन से निपटने के लिए सभी तैयारियां की गयी हैं. राज्य सरकार इस संबंध में अपना पूरा जोर लगा रही है. उन्होंने तैयारियों के बारे में भी श्री शाह को बताया.

बुधवार को मजदूरों का आना रहेगा स्थगित

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बताया कि देश के विभिन्न हिस्सों से ट्रेनों के जरिये बंगाल में वापसी कर रहे मजदूरों का आना बुधवार को स्थगित रहेगा. चक्रवात अम्फन की वजह से इसे स्थगित रखा गया है. इस संबंध में रेल विभाग को पहले ही जानकारी दी गयी है. मुख्यमंत्री ने कहा कि चक्रवात की वजह से ट्रेनों में बैठे मजदूरों को समस्या हो सकती है. इसलिए उसे एक दिन के लिए स्थगित रखा गया है. उन्होंने बताया कि दूसरे राज्यों में फंसे अब तक तीन लाख श्रमिक बंगाल लौट चुके हैं. ट्रेनों की बोगियों की संख्या में वृद्धि की जा रही है, ताकि ज्यादा लोग लौट सकें. उन्होंने आशा जतायी कि अगले 10 दिनों में कुल चार- पांच लाख मजदूर बंगाल लौट सकेंगे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें