1. home Home
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. restrain mamata banerjee from participating in bypolls for violating model code of conduct bjp demands mtj

भवानीपुर से उपचुनाव नहीं लड़ पायेंगी ममता बनर्जी! चुनाव आयोग से मिला बीजेपी का प्रतिनिधिमंडल

भाजपा ने कहा है कि उपचुनाव की घोषणा के बाद दुर्गा पूजा के लिए क्लबों को 50-50 हजार रुपये देने की घोषणा करके तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो और भवानीपुर से टीएमसी की उम्मीदवार ने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
भवानीपुर से टीएमसी उम्मीदवार ममता बनर्जी
भवानीपुर से टीएमसी उम्मीदवार ममता बनर्जी
File Photo

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भवानीपुर से विधानसभा का उपचुनाव लड़ने से रोका जाये. उन्होंने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है. बंगाल का मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने चुनाव आयोग से यह मांग की है. बीजेपी के एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से मुलाकात की और यह सुनिश्चित करने की मांग की कि ममता बनर्जी उपचुनाव न लड़ पायें.

भाजपा ने कहा है कि उपचुनाव की घोषणा के बाद दुर्गा पूजा करने के लिए क्लबों को 50-50 हजार रुपये देने की घोषणा करके तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो और भवानीपुर से टीएमसी की उम्मीदवार ने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है. चुनाव आयोग से मिलने वाले प्रतिनिधिमंडल में भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रताप बनर्जी और बालूरघाट के सांसद सुकांत मजुमदार भी शामिल थे. ममता बनर्जी ने क्लबों को 50-50 हजार रुपये के अलावा इसके अलावा बिजली शुल्क में 50 फीसदी छूट की भी घोषणा की है.

वहीं, बंगाल प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि उनकी पार्टी भवानीपुर विधानसभा सीट से ममता बनर्जी के खिलाफ उपचुनाव लड़ने के लिए तैयार है. पार्टी जीतने के लिए यह चुनाव लड़ेगी. श्री घोष ने कहा कि भाजपा संसदीय दल की ओर से ममता बनर्जी के खिलाफ भवानीपुर से उम्मीदवार की घोषणा जल्द की जायेगी. उन्होंने कहा कि शुभेंदु अधिकारी नंदीग्राम में ममता बनर्जी को पराजित कर चुके हैं. अब यह मौका किसी और को दिया जाना चाहिए.

श्री घोष ने ममता बनर्जी को आड़े हाथ लिया. कहा कि उपचुनाव की घोषणा के बाद से यह सरकार जिस तरह से व्यवहार कर रही है, वह उचित नहीं है. भाजपा के प्रतिनिधिमंडल के चुनाव आयोग से मुलाकात के पहले दिलीप घोष ने कहा था कि पार्टी चुनाव आयोग के सामने यह मुद्दा उठायेगी. उल्लेखनीय है कि मार्च-अप्रैल में 8 चरणों में संपन्न हुए बंगाल चुनाव में दो उम्मीदवारों के निधन की वजह से दो विधानसभा सीटों पर चुनाव टाल दिया गया था.

नंदीग्राम में शुभेंदु अधिकारी से हारीं थीं ममता बनर्जी

नंदीग्राम विधानसभा सीट पर प्रदेश की मुखिया और सत्तारूढ़ दल की सबसे बड़ी नेता ममता बनर्जी भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी से 1956 वोटों के मामूली अंतर से पराजित हो गयीं थीं. ममता बनर्जी ने अपनी हार को कलकत्ता हाईकोर्ट में चुनौती दी है और पुनर्मतगणना की मांग की है. दूसरी तरफ, उनकी पार्टी लगातार जल्द से जल्द उपचुनाव कराने की मांग चुनाव आयोग से कर रही थी.

ममता के लिए शोभनदेव चट्टोपाध्याय ने खाली की भवानीपुर सीट

ममता बनर्जी के उपचुनाव लड़ने के लिए भवानीपुर से बड़े अंतर से जीतने वाले तृणमूल नेता शोभनदेव चट्टोपाध्याय ने अपनी सीट खाली कर दी थी. ममता बनर्जी ने वर्ष 2016 का विधानसभा चुनाव भवानीपुर से लड़ा था. लेकिन वर्ष 2021 के चुनाव में उन्होंने पूर्वी मेदिनीपुर के नंदीग्राम विधानसभा सीट से चुनाव लड़ना तय किया. तृणमूल का दावा था कि ममता बनर्जी विशाल अंतर से जीतेंगी, लेकिन वह मामूली अंतर से हार गयीं.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें