1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. kailash vijayvargiya attacks mamata banerjee before west bengal election 2021 said trinamool congress has been mortgaged in the hands of prashant kishor and team mtj

ममता बनर्जी पर कैलाश विजयवर्गीय का बड़ा हमला, बोले, तृणमूल को प्रशांत किशोर और उनकी टीम के पास गिरवी रख दिया

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
ममता बनर्जी पर कैलाश विजयवर्गीय का बड़ा हमला, बोले, तृणमूल को प्रशांत किशोर और उनकी टीम के पास गिरवी रख दिया.
ममता बनर्जी पर कैलाश विजयवर्गीय का बड़ा हमला, बोले, तृणमूल को प्रशांत किशोर और उनकी टीम के पास गिरवी रख दिया.
Prabhat Khabar

Mamata Banerjee, Trinamool Congress, Bharatiya Janata Party: कोलकाता : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने प्रदेश की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर बड़ा हमला किया है. उन्होंने कहा है ममता बनर्जी ने अपनी पार्टी तृणमूल कांग्रेस को प्रशांत किशोर और उनकी टीम के पास गिरवी रख दिया है. श्री विजयवर्गीय ने कहा कि ममता बनर्जी का आत्मविश्वास खत्म हो गया है.

भाजपा नेता ने पूर्वी मेदिनीपुर जिला के रामनगर में आयोजित एक रैली में कहा, ‘मैं ममता बनर्जी से पूछना चाहता हूं कि क्या उन्होंने आत्म-विश्वास खो दिया है और पार्टी को पीके (प्रशांत किशोर) की कंपनी के पास गिरवी रख दिया है.’ उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस के पुराने नेता पार्टी छोड़कर जा रहे हैं. राज्य की जनता भी ऐसा ही कर रही है.

श्री विजयवर्गीय ने कहा, ‘कोई भी स्वाभिमानी व्यक्ति अब तृणमूल में नहीं रह सकता, क्योंकि अब इसकी लगाम ‘भाइपो’ (ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक) के हाथों में चली गयी है.’ दरअसल, प्रशांत किशोर की कंपनी इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी (आई-पैक) को पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने विधानसभा चुनाव 2021 के लिए रणनीति तैयार करने का जिम्मा सौंपा है, जिसके संदर्भ में कैलाश विजयवर्गीय ने ये बातें कहीं.

उधर, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने भी टीएमसी पर उसकी ‘घरेलू और बाहरी’ की राजनीति के लिए निशाना साधा. कहा कि वह देशवासियों के मन में राज्य को लेकर संदेह पैदा कर रही है. दिलीप घोष ने दावा किया कि बाहरी लोगों का विरोध करने की टीएमसी की ‘संकीर्ण राजनीति’ से अन्य राज्य में काम कर रहे बंगालियों को मुश्किल हो रही है.

श्री घोष ने पूछा कि दूसरे राज्यों में काम कर रहे बंगालियों को वहां से बाहरी कहकर वापस भेज दिया गया, तो क्या टीएमसी उन लाखों प्रवासी कामगार बंगालियों को रोजगार और सुरक्षा उपलब्ध करा पायेगी. राज्य के नाम पश्चिम बंगाल का संदर्भ देते हुए उन्होंने यहां प्रदेश पार्टी मुख्यालय में संवाददाताओं से कहा, ‘क्या टीएमसी ने यह सोचना शुरू कर दिया है कि यह क्षेत्र पश्चिम बांग्लादेश बन गया है? क्या हमें इस क्षेत्र में आने के लिए वीजा की जरूरत होगी?’

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें