1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. ganapati jewelers robbery gold mobile phone and car recovered under the guise of mastermind ajay ram aml

गणपति ज्वेलर्स लूटकांड : मास्टरमाइंड अजय राम की निशानदेही पर सोना, मोबाइल फोन और कार बरामद

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Symbolic Image
Symbolic Image
File Photo

आसनसोल : गणपति ज्वेलर्स लूटकांड का मास्टरमाइंड चित्तरंजन निवासी अजय राम की निशानदेही पर पुलिस ने चित्तरंजन स्थित उसके आवास से गला हुआ सोना, लूटकांड के दौरान ज्वेलर्स के कर्मचारियों के लूटे गये दो मोबाइल फोन और कांड के बाद भागने के लिए उपयोग किया गया अजय राम का स्विफ्ट डिजायर कार बरामद किया. अजय फिलहाल 13 दिनों की पुलिस रिमांड में है. दो अगस्त को उसे अदालत में पेश किया जायेगा. रिमांड अवधि में पूछताछ के बाद अजय की निशानदेही पर यह सामान बरामद हुआ है. जिसे पुलिस ने जब्त किया है.

सनद रहे कि 19 फरवरी 2020 को आसनसोल साऊथ थाना क्षेत्र के आश्रममोड़ के निकट स्थित गणपति ज्वेलर्स में शाम सवा सात बजे पांच की संख्या में अपराधियों ने लूटकांड को अंजाम दिया था. 25 मिनट के अंदर ही पांच किलो स्वर्ण आभूषण, 30 लाख रुपये मूल्य के हीरे, पांच लाख रुपया नकद, ज्वेलरी शॉप के मालिक सहित कर्मचारियों के पांच मोबाइल फोन और कुछ कागजात लेकर फरार हो गये थे. कांड में पुलिस ने प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से शामिल कुल छह लोगों को गिरफ्तार किया है. तीन आरोपी अब भी फरार हैं. आरोपियों की किसी तरह जमानत न हो इसे लेकर तीन माह के अंदर चार्जशीट भी अदालत में सौंप चुकी है.

छह माह बाद गिरफ्तार हुआ अजय राम

कांड के छह माह बाद मास्टरमाइंड अजय राम की गिरफ्तारी मुंगेर (बिहार) से हुई. फिलहाल वह पुलिस रिमांड में है. पुलिस सूत्रों के अनुसार उसने कांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है. उसकी निशानदेही पर लूटे गए सोने की जेवरात का गलाया हुआ कुछ हिस्सा, लूटे गए दो मोबाइल फोन और कांड को अंजाम देने के बाद भागने के लिए उपयोग किया गया अजय राम का स्विफ्ट डिजायर कार बरामद किया गया है.

कांड को अंजाम देने के लिए पांच अपराधी दो बाइक से आये थे. अजय ने बताया कि दोनों बाइक चोरी के थे. कांड को अंजाम देने के बाद यह लोग कल्ला बाईपास मोड़ पर पहुंचे. वहां इनके लिए स्विफ्ट डिजायर गाड़ी खड़ी थी. तीन लोग गाड़ी से निकले दो लोग बाइक से निकले थे. यह डिजायर कार बरामद हुई है. अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी जारी है.

अजय राम कमिश्नरेट का कुख्यात आरोपी

चित्तरंजन रेल इंजन कारखाना (चिरेका) के कर्मी सुरेश राम के दो बेटों में बड़ा अजय राम ने वर्ष 2013 में एनएच पर लीची लदे ट्रक को अपने कुछ साथियों के साथ हाईजैक किया था. जिसपर सालानपुर थाना में कांड संख्या 267/13 दर्ज हुआ. इस कांड में वह गिरफ्तार भी हुआ. जेल से जमानत पर निकलने के बाद वर्ष 2014 में सालानपुर थाना क्षेत्र में ही एक के बाद एक दो ट्रक हाईजैक में दर्ज कांड संख्या 244/14 और 245/14 में भी अजय राम को आरोपी बनाया गया और उसकी गिरफ्तारी भी हुई.

वर्ष 2016 में 22 जून 2016 को अजय ने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर आसनसोल साऊथ थाना क्षेत्र में स्थित महिंद्रा फाइनेंस में लूटकांड को अंजाम दिया. आसनसोल साऊथ थाना कांड संख्या 262/16 में अजय राम को आरोपी बनाया गया. उसकी गिरफ्तारी हुई थी. पुलिस के अनुसार उसका नेटवर्क काफी बड़ा है. गणपति ज्वेलर्स लूटकांड को अंजाम देने के लिए उसने प्लान तैयार किया और बाहर से लड़कों को बुलाकर कांड को अंजाम दिया.

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें