1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. furfura sharif pirzada abbas siddiqui will be face of asaduddin owaisis party aimim in west bengal election 2021 mtj

Bengal Chunav 2021: ओवैसी ने बंगाल में रखा कदम, फुरफुरा शरीफ के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी होंगे AIMIM का चेहरा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Bengal Chunav 2021: ओवैसी ने बंगाल में रखा कदम, फुरफुरा शरीफ के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी होंगे AIMIM का चेहरा.
Bengal Chunav 2021: ओवैसी ने बंगाल में रखा कदम, फुरफुरा शरीफ के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी होंगे AIMIM का चेहरा.
File Photo

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में विधासनभा चुनाव 2021 की सरगर्मियां तेज हो गयी हैं. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में सभी राजनीतिक दलों का गणित बिगाड़ने वाली हैदराबाद के बड़े नेता असदुद्दीन ओवैसी और उनकी पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) की बंगाल में एंट्री हो चुकी है. पार्टी सुप्रीमो ओवैसी ने कहा है कि फुरफुरा शरीफ के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी एआईएमआईएम का चेहरा होंगे.

हुगली जिला में श्रीरामपुर अनुमंडल के जंगीपाड़ा ब्लॉक के फुरफुरा गांव में स्थित फुरफुरा शरीफ के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी, पीरजादा नौशाद सिद्दीकी, पीरजादा बैजीद अमीन और सबीर गफ्फार से बंद कमरे में मुलाकात करने के बाद पत्रकारों से संक्षिप्त बातचीत में यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि पीरजादा अब्बास सिद्दीकी बंगाल में उनकी पार्टी का चेहरा होंगे. उनके दिशा-निर्देश पर ही एआईएमआईएम बंगाल में काम करेगी.

ओवैसी ने कहा कि पीरजादा जो भी कहेंगे, उनकी पार्टी और पार्टी के कार्यकर्ता उसका अनुसरण करेगी. अबु बकर सिद्दीकी को याद करते हुए ओवैसी ने कहा कि धर्म में उनकी गहरी आस्था थी. वह महान समाजसेवक थे, जिन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में काफी काम किया. ओवैसी ने कहा कि वह अबु बकर से बेहद प्रभावित हैं, इसलिए बंगाल आने के बाद सबसे पहले उनकी मजार पर आना चाहते थे. यहां आकर उन्हें काफी अच्छा लगा.

फुरफुरा शरीफ बंगाल की राजनीति को प्रभावित करता रहा है. कहा जाता है कि जिस दल को फुरफुरा शरीफ का समर्थन मिल गया, चुनाव में उसकी जीत तय है, क्योंकि बंगाल में इनके अनुयायियों की भारी तादाद है. मुर्शिदाबाद, मालदा, उत्तर दिनाजपुर, बीरभूम, दक्षिण 24 परगना और कूचबिहार में मुस्लिम मतदाता निर्णायक भूमिका में हैं. इसलिए सभी राजनीतिक दल खुद को फुरफुरा शरीफ से बेहतर तालमेल बनाने की जुगत में रहते हैं.

यहां बताना प्रासंगिक होगा कि मुर्शिदाबाद में 66.2 फीसदी आबादी मुस्लिमों की है, जबकि मालदा में 51.3 फीसदी, उत्तर दिनाजपुर में 50 फीसदी, बीरभूम में 37 फीसदी, दक्षिण 24 परगना में 35.6 फीसदी और कूचबिहार में 25.54 फीसदी मुस्लिम हैं. असदुद्दीन ओवैसी इन्हीं वोटरों को टार्गेट करके पश्चिम बंगाल में अपनी पार्टी को मजबूत बनाना चाहते हैं. यही वजह है कि बंगाल आने के बाद सबसे पहले वह फुरफुरा शरीफ पहुंचे.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें