1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. conflict between cm mamata banerjee and bjp in bengal on jee exam sam

जेईई परीक्षा पर बंगाल में सीएम ममता बनर्जी और भाजपा के बीच बढ़ा टकराव

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Bengal news : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और भाजपा के महासचिव व प्रदेश भाजपा के केंद्रीय प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय.
Bengal news : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और भाजपा के महासचिव व प्रदेश भाजपा के केंद्रीय प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय.
फाइल फोटो.

Bengal news, Kolkata news : कोलकाता : जेईई (JEE) की परीक्षा को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) और भाजपा (BJP) के बीच तकरार तेज हो गयी है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि मंगलवार को हुई जेईई (JEE Exam) की परीक्षा में राज्य के 75 प्रतिशत अभ्यर्थी भाग नहीं ले सके और अन्य राज्यों में भी सिर्फ आधे विद्यार्थी ही अपने केंद्रों पर पहुंचे.

मुख्यमंत्री का कहना है कि यह कोरोना वायरस संक्रमण महामारी (Coronavius Pandemic) के कारण हुआ है. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने छात्रों के लिए सभी इंतजाम किये थे, लेकिन मंगलवार को सिर्फ 1167 बच्चों ने परीक्षा दी, जबकि कुल 4652 बच्चों को इस परीक्षा में शामिल होना था. सुश्री बनर्जी ने पत्रकारों से कहा कि छात्र बहुत मुश्किल में हैं. वे जेईई की परीक्षा नहीं दे सके. अन्य राज्यों के 50 प्रतिशत से ज्यादा छात्र महामारी के कारण परीक्षा में शामिल नहीं हो सके.

दूसरी ओर, सुश्री बनर्जी के दावे पर भाजपा के महासचिव व प्रदेश भाजपा के केंद्रीय प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने कहा कि ममता जी मुख्यमंत्री जैसे एक महत्वपूर्ण दायित्व का निर्वहन कर रही हैं. इस पद पर बैठ कर आधारहीन बातें करना शोभा नहीं देता है. उन्हें जेइइ-नीट (JEE- NEET Exam) की परीक्षा देने वाले छात्रों की चिंता करनी चाहिए थी. उनके लिए परिवहन की व्यवस्था करनी चाहिए थी, लेकिन राज्य सरकार ने यह नहीं किया. जब छात्र खुद अपनी कोशिशों से परीक्षा दिये, तो अब भी सवाल उठा रही हैं.

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री छात्रों के भविष्य को लेकर राजनीति नहीं करें. छात्र बंगाल के भविष्य हैं. केंद्र सरकार ने छात्रों का एक वर्ष बर्बाद नहीं हो. इस कारण यह फैसला लिया है, लेकिन अपने अहंकार के कारण मुख्यमंत्री केवल केंद्र सरकार के फैसले का विरोध करती हैं. सभी जगह राजनीति करना ठीक नहीं है.

उन्होंने मुख्यमंत्री से अपील की कि 13 सितंबर को परीक्षा के मद्देनजर राज्य सरकार 11 और 12 सितंबर को संपूर्ण लॉकडाउन वापस ले, ताकि छात्रों को परीक्षा केंद्रों तक जाने में सुविधा हो.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें