1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. bjp will surround mamtas residence against political violence memorandum submitted to governor

राजनीतिक हिंसा के खिलाफ ममता का आवास घेरेगी भाजपा, राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Bengal news : भाजपा कार्यकर्ताओं पर हिंसा के खिलाफ राज्यपाल को ज्ञापन सौंपने जाते बंगाल भाजपा के नेतागण.
Bengal news : भाजपा कार्यकर्ताओं पर हिंसा के खिलाफ राज्यपाल को ज्ञापन सौंपने जाते बंगाल भाजपा के नेतागण.
फोटो : प्रभात खबर.

Bengal news, Kolkata news : कोलकाता : पश्चिम बंगाल (West Bengal) प्रदेश भाजपा ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर हिंसा के खिलाफ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) के आवास घेराव करने की घोषणा की है. सोमवार (29 जून, 2020) को प्रदेश भाजपा के महासचिव संजय सिंह, उपाध्यक्ष व सांसद अर्जुन सिंह, सांसद शांतनु ठाकुर व सांसद जगन्नाथ सरकार का एक प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankar) से राजभवन में मुलाकात की और राजनीतिक हिंसा सहित विभिन्न मुद्दों पर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा.

इससे पहले भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने उत्तर 24 परगना के बशीरहाट सांगठनिक जिला के संदेशखाली-1 उत्तर मंडल में भाजपा कार्यकर्ताओं व समर्थकों के साथ मारपीट के आरोप में बशीरहाट पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन दिया था. सोमवार की शाम को राज्यपाल को ज्ञापन देने के बाद प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष व सांसद अर्जुन सिंह ने बताया कि संदेशखाली में भाजपा राहत सामग्री लूट के खिलाफ आवाज उठाने पर तृणमूल समर्थकों ने लगभग 12 समर्थकों को पीटा. उन पर अत्याचार किया.

उन्होंने कहा कि राज्य में लगातार भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले हो रहे हैं. उनके साथ मारपीट की जा रही है और पुलिस मूकदर्शक बनी हुई है. यदि इसी तरह हमला जारी रहा, तो भाजपा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आवास का घेराव करेगी.

उन्होंने कहा कि जिस तरह से चिटफंड घोटाले (Chitfund scam) के खिलाफ प्रभावित लोगों ने मुख्यमंत्री के आवास का घेराव किया था, उसी तरह से भाजपा भी राजनीतिक हिंसा के खिलाफ मुख्यमंत्री के आवास का घेराव करेगी.

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की ओर से एक अधिसूचना जारी की गयी है, जिसमें एनुअल कांफेडेंशियल रिपोर्ट (ACR) लिखने का दायित्व सीएमओ (मुख्यमंत्री कार्यालय) के जिम्मे डाल दिया है. अभी बीडीओ व एसडीओ स्तर के अधिकारियों की एसीआर उच्च अधिकारी लिखते थे, लेकिन अब सीएमओ द्वारा रिपोर्ट लिखे जाने से सरकारी अधिकारी दबाव में रहेंगे और राजनीतिक आकाओं के निर्देश के अनुसार काम करने के लिए बाध्य होंगे. उन्होंने कहा कि इसके खिलाफ भाजपा राजनीतिक आंदोलन के साथ-साथ कानूनी लड़ाई भी लड़ेगी और अदालत में इसकी चुनौती देगी.

Posted By : Samir ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें