1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. bengal chunav 2021 tmc appeals to left and congress to support mamata banerjee in fight against bjp in west bengal election 2021 mtj

Bengal Chunav 2021: तृणमूल की वामदलों एवं कांग्रेस से अपील, भाजपा को हराने के लिए ममता बनर्जी की मदद करें

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Bengal Chunav 2021: तृणमूल की वामदलों एवं कांग्रेस से अपील, भाजपा को हराने के लिए ममता बनर्जी की मदद करें.
Bengal Chunav 2021: तृणमूल की वामदलों एवं कांग्रेस से अपील, भाजपा को हराने के लिए ममता बनर्जी की मदद करें.
File Photo

Bengal Chunav 2021: कोलकाता : एक महत्वपूर्ण घटनाक्रम में पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने वामदलों एवं कांग्रेस पार्टी से अपील की है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को हराने के लिए ममता बनर्जी की मदद करें और उनको अपना समर्थन दें.

तृणमूल कांग्रेस ने कहा है कि ‘सांप्रदायिक एवं विभाजनकारी’ पार्टी भाजपा को पश्चिम बंगाल चुनाव 2021 में पराजित करने के लिए राज्य की सभी पार्टियां मिलकर ममता बनर्जी के हाथ को मजबूत करें. कांग्रेस एवं वामदल इस बार गठबंधन के तहत चुनाव लड़ रहे हैं.

पश्चिम बंगाल की 294 सदस्यीय विधानसभा के चुनाव अप्रैल-मई में होने की उम्मीद है. अभी चुनावों की तारीखों की घोषणा नहीं हुई है, लेकिन चुनाव प्रचार अभियान तेज हो गया है. भाजपा के केंद्रीय नेता लगातार बंगाल का दौरा कर रहे हैं, जबकि ममता बनर्जी जवाबी जनसभाएं कर रही हैं.

तृणमूल कांग्रेस के सांसद सौगत रॉय ने कांग्रेस एवं वामदलों से कहा है कि वे भाजपा के खिलाफ जंग में ममता का हाथ मजबूत करें. श्री रॉय ने कहा, ‘यदि वामदल और कांग्रेस सचमुच भाजपा के खिलाफ हैं, तो सांप्रदायिक और विभाजन की राजनीति करने वाली भाजपा के खिलाफ लड़ाई कर रहीं ममता बनर्जी के साथ उन्हें खड़ा होना चाहिए.’

श्री रॉय ने कहा कि भाजपा के खिलाफ सेक्युलर राजनीति का एकमात्र चेहरा ममता बनर्जी हैं.’ उन्होंने दावा किया कि भाजपा नीत केंद्र की सरकार ने अब तक जितनी भी योजनाएं शुरू की हैं, कोई सफल नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस केंद्र की योजनाओं की सकारात्मक आलोचना करती है.

पश्चिम बंगाल में चुनाव से पहले राजनीतिक भूचाल ला देने वाले मवेशी तस्करी मामले पर श्री रॉय ने कहा कि इसे रोकने की जिम्मेदारी सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की है. राज्य पुलिस का इससे कोई लेना-देना नहीं है. बीएसएफ केंद्र सरकार के अधीन है. इसलिए राज्य सरकार को इसके लिए जिम्मेदार ठहराना कतई उचित नहीं है.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें