1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. bengal chunav 2021 earthquake in tmc 9 mlas including shubhendu adhikari left mamata banerjee in 17 days smj

Bengal Chunav 2021 : TMC में भूचाल, 17 दिन में शुभेंदु अधिकारी समेत 9 विधायक ने छोड़ा ममता बनर्जी का साथ

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Koklata news : ममता बनर्जी की पार्टी तूणमूल कांग्रेस से कई विधायकों का मोह हुआ भंग. भाजपा में हुए शामिल.
Koklata news : ममता बनर्जी की पार्टी तूणमूल कांग्रेस से कई विधायकों का मोह हुआ भंग. भाजपा में हुए शामिल.
फाइल फोटो.

TMC News, Mamata Banergee news, Bjp News, Kolkata News, कोलकाता : पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव का समय जैसे- जैसे नजदीक आने लगा है, वैसे- वैसे तृणमूल कांग्रेस के सांसद, विधायक व पार्षदों का अपनी पार्टी से मोहभंग होने का सिलसिला जारी है. इनदिनों सबसे अधिक टूट का दंश टीएमसी झेल रही है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस से 17 दिनों में 9 विधायक पार्टी छोड़ चुके हैं. वहीं, माकपा, भाकपा और कांग्रेस के विधायक भी भाजपा का भी दामन थाम चुके हैं.

बता दें कि सीएम ममता बनर्जी के खासमखास और नंदीग्राम के विधायक सह बंगाल के पूर्व मंत्री शुभेंदु अधिकारी के TMC छोड़ भाजपा का दामन थामने के बाद करीब 17 दिन बाद राज्य के एक और मंत्री लक्ष्मी रतन शुक्ला ने पार्टी को बाय- बाय कह दिया. हालांकि, लक्ष्मी रतन शुक्ला ने किसी पार्टी में शामिल होने की फिलहाल कोई घोषणा नहीं की है.

तृणमूल कांग्रेस का साथ छोड़ने वाले विधायक

बंगाल में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर अब तक 9 विधायकों ने तृणमूल कांग्रेस से नाता तोड़ लिया है. इसमें नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र से शुभेंदु अधिकारी के अलावा कूचबिहार दक्षिण से मिहिर गोस्वामी, बर्दवान से सैकत पांजा, बैरकपुर से शीलभद्र दत्ता, गाजोल से दीपाली विश्वास, नागरकाटा से शुक्रा मुंडा, कालना से विश्वजीत कुंडू, कांथी उत्तर से बनश्री माइती और हावड़ा उत्तर विधानसभा क्षेत्र से विधायक लक्ष्मी रतन शुक्ला ममता का दामन छोड़ चुके हैं.

सांसद व पूर्व मंत्री भी छोड़ चुके हैं TMC

चुनावी बयार को देखते हुए TMC के विधायकों का ही पार्टी से मोहभंग नहीं हुआ, बल्कि सांसद, पूर्व सांसद, पूर्वी मंत्री, नगरपालिका चेयरमैन और कई पार्षदों ने भी सीएम ममता बनर्जी की पार्टी को छोड़ भाजपा का दामन थाम चुके हैं. इसमें बर्दवान पूर्व के तृणमूल कांग्रेस सांसद सुनील मंडल, पूर्व सांसद दशरथ तिरके, पूर्व मंत्री श्यामा प्रसाद मुखर्जी, शुभेंदु अधिकारी के भाई और कांथी नगरपालिका के पूर्व चेयरमैन सौमेंदु अधिकारी के अलावा 15 पार्षदों ने भी तृणमूल कांग्रेस को छोड़े.

मालूम हो कि 19 दिसंबर, 2020 को अमित शाह की मेदिनीपुर रैली में कम से कम 9 विधायक भाजपा में शामिल हुए. इसमें आधा दर्जन तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीते थे. इसमें शुभेंदु अधिकारी के अलावा शीलभद्र दत्ता, बनश्री माइती, विश्वजीत कुंडू, दीपाली विश्वास, सूकरा मुंडा, सैकत पांजा हैं. वहीं, भाकपा के अशोक डिंडा, माकपा की तापसी मंडल और कांग्रेस के सुदीप मुखोपाध्याय ने भी भाजपा का झंडा थाम लिये थे.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें