1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. abhishek banerjee attacked suvendu adhikari from diamond harbour rally said those left tmc and joined bjp are like coronavirus patients they betrayed party mtj

TMC छोड़ने वाले कोरोना रोगी जैसे, पार्टी से धोखा किया, अंदर से कर रहे थे तबाह, अभिषेक बनर्जी का शुभेंदु पर वार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
West Bengal Election 2021: TMC छोड़ने वाले कोरोना रोगी जैसे, पार्टी से धोखा किया, अंदर से कर रहे थे तबाह, अभिषेक बनर्जी का शुभेंदु पर वार.
West Bengal Election 2021: TMC छोड़ने वाले कोरोना रोगी जैसे, पार्टी से धोखा किया, अंदर से कर रहे थे तबाह, अभिषेक बनर्जी का शुभेंदु पर वार.

डायमंड हार्बर : पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना स्थित डायमंड हार्बर से तृणमूल सांसद अभिषेक बनर्जी ने मेदिनीपुर के कद्दावर नेता शुभेंदु अधिकारी पर जबर्दस्त हमला किया. रविवार को अपने संसदीय क्षेत्र में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने तृणमूल छोड़ने वाले नेताओं को कोरोना रोगी जैसा करार दिया. कहा कि इन लोगों ने 2019 के लोकसभा चुनावों में पार्टी के साथ ‘धोखा’ किया और इसे अंदर से ‘तबाह’ कर रहे थे.

तृणमूल कांग्रेस की युवा शाखा के प्रमुख ने किसी का नाम लिये बगैर कहा कि कुछ लोग राजनीतिक पलटी मारकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गये, ताकि सीबीआइ और इडी की परेशानी से बच सकें. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी डायमंड हार्बर के सांसद हैं. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 से पहले तृणमूल और कांग्रेस में घमासान तेज हो गया है.

उन्होंने कहा, ‘पार्टी में कुछ लोग कोरोना के रोगी की तरह हैं. हमने उनकी गतिविधियों पर नजर रखी और उनकी पहचान की. इस तरह के वायरस से छुटकारा मिलने से हम खुश हैं, जिन्होंने वर्ष 2019 के लोकसभा चुनावों में पार्टी से छल किया और पिछले कुछ महीने से पार्टी को तबाह कर रहे थे.’

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की 19 दिसंबर को मेदिनीपुर में रैली के दौरान राज्य के पूर्व मंत्री शुभेंदु अधिकारी टीएमसी के पांच विधायकों सहित 9 विधायकों और पार्टी के एक सांसद के साथ भाजपा में शामिल हो गये थे. उन्होंने कहा, ‘जो लोग अपने स्वार्थ के लिए टीएमसी छोड़ना चाहते हैं, वे ऐसा करने के लिए स्वतंत्र हैं. अगर आपमें साहस है, तो अपनी पार्टी बनाइये जैसा ममता बनर्जी ने 1998 में किया था. वह भाजपा या माकपा में शामिल नहीं हुई थीं.’

पशु तस्करी अंतरराष्ट्रीय सीमा से जुड़ा हुआ है, जिसकी रखवाली बीएसएफ करती है, जो केंद्रीय गृह मंत्रालय के तहत आता है. खदानों से कोयले की तस्करी रोकाना कोयला मंत्रालय की जिम्मेदारी है. दोनों भाजपा के अंतर्गत आते हैं. वे हमारे खिलाफ गलत आरोप क्यों लगा रहे हैं?
Abhishek Banerjee, All India Trinamool Congress

जांच एजेंसियों से बचने के लिए भाजपा में शामिल हुए शुभेंदु

शुभेंदु अधिकारी द्वारा अभिषेक बनर्जी को उगाही करने वाला (तोलाबाज) बताने के जवाब में उन्होंने कहा कि उनका नाम नारद स्टिंग या अन्य घोटालों में नहीं आया है. आरोप लगाने वाले को खुद को आईने में देखना चाहिए. शुभेंदु अधिकारी का नाम लिये बगैर उन्होंने कहा, ‘आपने उगाही करने वाले भाइपो (भतीजे) को हटाने का नारा दिया. नारद स्टिंग ऑपरेशन में किसका नाम आया? मैं न तो नारद स्टिंग या सारदा घोटाले में शामिल नहीं हूं. आपने राजनीतिक पलटी मार ली, ताकि सीबीआइ और इडी जैसी केंद्रीय एजेंसियों से खुद को बचा सकें.’

केंद्र और शुभेंदु अधिकारी को अभिषेक ने दी चुनौती

उन्होंने कहा, ‘अगर आप साबित कर दें कि मैं कभी भी उगाही जैसी गतिविधियों में संलिप्त था, तो जनता की अदालत में किसी भी सजा को स्वीकार कर लूंगा. अगर आपमें ताकत है, तो मेरे खिलाफ सीबीआइ या इडी को लगायें.’

टीएमसी के कुछ वरिष्ठ नेताओं के कोयला और पशु तस्करी में संलिप्त होने के आरोपों पर अभिषेक बनर्जी ने कहा, ‘पशु तस्करी अंतरराष्ट्रीय सीमा से जुड़ा हुआ है, जिसकी रखवाली बीएसएफ करती है, जो केंद्रीय गृह मंत्रालय के तहत आता है. खदानों से कोयले की तस्करी रोकाना कोयला मंत्रालय की जिम्मेदारी है. दोनों भाजपा के अंतर्गत आते हैं. वे हमारे खिलाफ गलत आरोप क्यों लगा रहे हैं?’

अगर आप साबित कर दें कि मैं कभी भी उगाही जैसी गतिविधियों में संलिप्त था, तो जनता की अदालत में किसी भी सजा को स्वीकार कर लूंगा. अगर आपमें ताकत है, तो मेरे खिलाफ सीबीआइ या इडी को लगायें.
Abhishek Banerjee, All India Trinamool Congress

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें