थ्री जी फोन यूजर्स भी चला पायेंगे Jio इंटरनेट

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

वाइ-फाइ डिवाइस जियो डॉगल 2 से जोड़े जा सकते हैं कई फोन

मुंबई/कोलकाता. रिलायंस जियो ने अपने वाइ-फाइ डांगल की सेकेंड जेनरेशन डिवाइस डांगल 2 बाजार में अपनी छाप छोड़ने को तैयार है. रिलायंस जियो के वरिष्ठ अधिकारी का दावा है कि जियो ने इस सेकेंड जेनरेशन डिवाइस डांगल के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करने का पुख्ता इंतजाम कर लिया है.

हाल में ही रियायंस जियो ने बाजार में 4जी सिम लांच किया है, जो अन्य टेलीकॉम कंपनियों को करारी चुनौती दे रहा है. इसमें दिसंबर तक नि:शुल्क डाटा का वादा किया गया है तथा जीवनपर्यंत नि:शुल्क कॉल की सुविधा दी गयी है. अधिकारियों ने बताया कि रिलायंस जियो-फाइ डिवाइस की ही तरह यह डांगल 2 यूजर्स को अपना खुद का हॉटस्पॉट बनाने की सुविधा देगा, जिसके जरिये एक साथ वाइ-फाइ से कम से कम 10 डिवाइसों को जोड़ा जा सकेगा.

इसके साथ ही यूजर्स जियो वॉयस सेवा समेत अन्य जियो डिजिटल सेवाओं का इस्तेमाल कर सकेंगे. छोटी सी यह डिवाइस सिम कार्ड स्लॉट के साथ आती है और इसमें दो एलइडी इंडिकेटर्स हैं जो दिखाते हैं कि कौन सी सेवा चल रही है. हालांकि कंपनी की ओर से अभी जियो डांगल 2 की आधिकारिक घोषणा करनी बाकी है. उम्मीद है कि कंपनी जल्द ही इसकी आधिकारिक घोषणा कर सकती है.

जियो डांगल 2 की ही तरह जियोफाइ डिवाइस भी 10 वाइ-फाइ डिवाइसों को एक साथ कनेक्ट कर सकती है. हालांकि डांगल और जियोफाई डिवाइस के बीच सबसे बड़ा अंतर बैटरी का है, क्योंकि डांगल बैटरी रहित है और इसे किसी एक्सटर्नल सोर्स से यूएसबी के जरिये पॉवर देनी पड़ती है, जबकि जियोफाई 2,300 एमएएच बैटरी के साथ आती है, जिसे 6 घंटे तक चलने का कंपनी दावा करती है. कंपनी इसके साथ पॉवर एडैप्टर भी दे रही है, यानी घर में इसे प्लग में लगा कर वाइ-फाइ हॉटस्पॉट बनाया जा सकता है.

प्रमुख फीचर्स

जियोफाई की ही तरह डॉन्गल2 से जुड़ने के लिए केवल 4जी डिवाइसों की ही जरूरत नहीं. इसके जरिये किसी भी वाइ-फाइ इनेबल्ड स्मार्टफोन, टैबलेट, लैपटॉप आदि को जोड़ा जा सकता है.

डाॅन्गल 2 में बैटरी नहीं है और इसे यूएसबी के जरिये पॉवर देनी पड़ती है.

रिलायंस इसके साथ फ्री वेल्कम ऑफर युक्त जियो सिम कार्ड दे रही है. यह छोटी सी डिवाइस है जो एयरटेल-वोडाफोन-माइक्रोमैक्स जैसी अन्य कंपनियों के डाॅन्गल के लगभग बराबर आकार की है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें