पूलकार दुर्घटना में घायल दूसरी कक्षा के छात्र ऋषभ ने दम तोड़ा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

हुगली/कोलकाता : पूलकार दुर्घटना में घायल श्रीरामपुर नगरपालिका के पार्षद संतोष सिंह के पुत्र व दूसरी कक्षा के छात्र ऋषभ सिंह ने शनिवार सुबह कोलकाता के एसएसकेएम (पीजी) अस्पताल में दम तोड़ दिया. वह आठ दिन से जिंदगी की जंग लड़ रहा था. गौरतलब है कि 14 फरवरी को चुंचुड़ा के पोलबा में 14 छात्रों को स्कूल ले जा रही पूलकार पानी से भरी खाई में गिर गयी थी. हादसे में श्रीरामपुर के ऋषभ सिंह और दिव्यांशु भगत गंभीर रूप से घायल हो गये.

उन्हें ग्रीन कॉरिडोर तैयार करके एक घंटे में चुंचुड़ा सदर इमामबाड़ा अस्पताल से कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल में बेहतर इलाज के लिए ले जाया गया. तभी से दोनों अस्पताल में इलाजरत थे. दिव्यांशु की हालत में धीरे-धीरे सुधार आया, लेकिन ऋषभ की हालत लगातार बिगड़ती चली गयी. चिकित्सकों ने बताया कि प्रदूषित पानी और कीचड़ उसके फेफड़ों में घुस गया था.
अस्पताल के अधिकारियों ने कहा कि ऋषभ के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था. डॉक्टरों ने ऋषभ को बचाने की हर संभव कोशिश की. परिजनों और पड़ोसियोंं ने महामृत्युंजय जप भी किया, लेकिन इस जंंग में मौत से ऋषभ हार गया. ऋषभ की मौत होने की खबर जैसे ही श्रीरामपुरवासियों को लगी, पूरे श्रीरामपुर में शोक की लहर छा गयी.
श्रीरामपुर का माहौल पूरी तरह से शोकाकुल हो गया. नौनिहाल की मौत के परिजनों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा. उसकी शव यात्रा में भारी भीड़ उमड़ी. मंत्री, सांसद, विधायक, चेयरमैन, पार्षद से लेकर हजारों लोगों की हुजूम से श्रीरामपुर पट गया.
श्रीरामपुर से तृणमूल कांग्रेस के सांसद कल्याण बनर्जी ने अस्पताल का दौरा कर छात्र के परिवार के सदस्यों से मुलाकात की. बनर्जी ने छात्र की मौत पर शोक व्यक्त किया और उसकी मौत के लिये लापरवाही से गाड़ी चलाने को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि जो वाहन चालक आदतन नियमों का उल्लंघन करते हैं उनसे निपटने के लिये कानूनों को और कड़ा किया जाना चाहिये.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें