परीक्षा शुरू होने के कुछ ही देर में सोशल मीडिया पर बांग्ला का प्रश्नपत्र वायरल

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

मालदा/कोलकाता : राज्य में मंगलवार से दसवीं बोर्ड यानी माध्यमिक की परीक्षा शुरू हुई. पहले दिन पहली भाषा (बांग्ला) की परीक्षा शुरू होने के शीघ्र बाद प्रश्नपत्र की कथित फोटोकॉपी व्हाट्सएप पर छा गयी. मालदा में बांग्ला प्रश्नपत्र लीक होने का मामला सामने आते ही जिला प्रशासन में खलबली मच गयी.

मंगलवार को माध्यमिक परीक्षा शुरू होने के एक घंटे के बाद ही मोबाइल फोन के व्हाट्सएप ग्रुप पर बांग्ला का प्रश्नपत्र वायरल हो गया. प्रशासनिक अधिकारियों के मुताबिक सोशल मीडिया में घूम रहे इस प्रश्नपत्र के साथ माध्यमिक परीक्षा के मूल बांग्ला प्रश्नपत्र में काफी समानताएं हैं. जिला प्रशासन ने इसकी छानबीन भी शुरू कर दी है. राज्य शिक्षा विभाग ने कथित प्रश्नपत्र लीक मामले की गहन छानबीन का निर्देश दिया है.

किस परीक्षा केंद्र से प्रश्नपत्र लीक हुआ व इसके साथ कौन-कौन जुड़ा हुआ है, जिला पुलिस के उच्चाधिकारी इसकी जांच कर रहे हैं.इस संबंध में जिलाशासक राजर्षि मित्र ने कहा कि मामले की छानबीन चल रही है. परीक्षा शुरू होने से पहले तक कुछ नहीं हुआ था. उन्होंने कहा कि परीक्षा शुरू होने के एक घंटे बाद ही व्हाट्सएप ग्रुप में प्रश्नपत्र वायरल होने की खबर मिली. जो तस्वीर वायरल हुई है उसमें कॉपी नंबर दिख रहा है. एडमिट कार्ड के ऊपर प्रश्नपत्र को रखकर तस्वीर ली गयी है.

इसी सूत्र के जरिये छानबीन की जा रही है. उन्होंने कहा कि किस सेंटर से प्रश्नपत्र लीक हुआ, इसकी भी जांच हो रही है. परीक्षा केंद्रों में मोबाइल पर पाबंदी रहने के बावजूद यह घटना कैसे हुई, कहां चूक रह गयी, इसकी भी छानबीन की जायेगी. हालांकि जिला माध्यमिक विद्यालय निरीक्षक उदयन भौमिक ने किसी भी प्रकार की टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

गौरतलब है कि पिछले साल परीक्षा के दौरान बांग्ला, अंग्रेजी, इतिहास, भूगोल और गणित के प्रश्नपत्रों की कथित फोटो कॉपी सोशल मीडिया पर साझा की गयी थी लेकिन बोर्ड एवं शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने इसे बकवास कहकर खारिज कर दिया और कहा था कि कुछ भी लीक नहीं हुआ.

क्या बोले शिक्षक
माध्यमिक परीक्षा कराने में शामिल वरिष्ठ अध्यापक ने कहा : ऐसा जान पड़ता है कि कुछ शरारती लोग परीक्षा केंद्र में मोबाइल फोन लेकर चले गये और परीक्षा शुरू होने से कुछ देर पहले उन्होंने चोरी छिपे दो पन्नों के फोटो खींच लिये. यह प्रश्नपत्र का लीक होना नहीं है, क्योंकि परीक्षा पहले ही शुरू हो चुकी थी.
हतप्रभ रह गयी माध्यमिक परीक्षार्थी
कोलकाता के बेथुन कॉलेजिएट स्कूल के एक अभिभावक ने पहचान उजागर नहीं करने की शर्त पर कहा कि परीक्षा केंद्र से बाहर आने के बाद उनकी बेटी ने मूल प्रश्न पत्र का उन फोटो कॉपी से मिलान किया और दोनों हू-ब-हू एक ही थे. छात्रा ने कहा, ‘ बोर्ड ने अभेद्य उपाय का वादा किया था. लेकिन कैसे प्रश्नपत्र के हिस्से परीक्षा खत्म होने से पहले ही लीक हो सकते हैं? बोर्ड ने परीक्षा के दौरान कदाचार रोकने के लिए राज्य के 42 प्रखंडों के कई परीक्षा केंद्रों के आसपास इंटरनेट सेवाएं निलंबित करने की सिफारिश की थी.

रद्द नहीं होगी बांग्ला भाषा की परीक्षा
इस प्रकरण से नाराज पश्चिम बंगाल माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष कल्याणमय गांगुली ने कहा : हमारे पास ऐसी कोई जानकारी नहीं है. यह फर्जी खबर है. मेरी जानकारी में पहले दिन सभी केंद्रों पर परीक्षा सुचारू ढंग से चल रही है. हम मीडिया और सभी संबंधित व्यक्तियों से प्रश्नपत्र की फोटोकॉपी बोर्ड के साथ साझा करने का अनुरोध करेंगे ताकि हम उसका मिलान कर सकें और परीक्षा की निष्पक्षता सुनिश्चित कर सकें क्योंकि लाखों बच्चे परीक्षा दे रहे हैं. बोर्ड के सूत्रों ने परीक्षा रद्द किये जाने की किसी भी संभावना से इनकार किया.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें