प्रशांत किशोर की रिपोर्ट कार्ड में फेल हुए कई दिग्गज

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

कोलकाता : राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर (पीके) और उनकी टीम ने तृणमूल कांग्रेस के सभी जन प्रतिनिधियों व वरिष्ठ नेताओं का रिपोर्ट कार्ड तैयार किया है. एक निजी चैनल ने दावा किया है कि उसके पास पीके की यह पूरी रिपोर्ट है. बताया जाता है कि इसी रिपोर्ट के आधार पर इन नेताओं को पद पर बने रहने या चुनाव में टिकट देने के बारे में फैसला लिया जायेगा.

उल्लेखनीय है कि सोशल मीडिया पर सरकारी कार्यों का उल्लेख व पार्टी के कार्यक्रम के प्रचार में कौन विधायक कितना आगे है, कौन पीछे, इसे लेकर सर्वे किया गया था. इस समीक्षा रिपोर्ट में कई दिग्गज मंत्री पूरी तरह से फेल साबित हुए.

हालांकि पास करनेवाले विधायकों की संख्या भी कम नहीं है. लोकसभा चुनाव में भाजपा की बढ़ती ताकत और सांसदों की संख्या में इजाफे की वजह तृणमूल कांग्रेस के नेताओं द्वारा जनसंर्पक अभियान में विफलता बतायी गयी थी. खुद पार्टी प्रमुख व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि उनकी पार्टी के लोग सरकारी कार्यों में हुई उल्लेखनीय प्रगति को जनता तक पहुंचाने व उन्हें याद दिलाने में विफल रहे हैं. इस वजह से चुनाव में पराजय हाथ लगी.

इसके बाद उन्होंने सभी को निर्देश दिया कि राज्य सरकार की उपलब्धियों को जनता तक पहुंचायें. इस बाबत कई महीनों से प्रशांत किशोर के नेतृत्व में टीम आइपैक खुफिया तौर पर सभी विधायकों व जनप्रतिनिधियों की सोशल मीडिया पर नजर रखनी शुरू की. सर्वे में जनप्रतिनिधियों के फेसबुक अकाउंट पर पैनी नजर रखी गयी थी. पीके ने जो रिपोर्ट बनायी है, उसमें नेताओं को कार्य के आधार पर बांटा गया है. इनमें शानदार, बहुत अच्छा, अच्छा, बहुत बुरा नहीं, खराब, बेहद खराब व अंत में सोचनीय तक लिखा गया है.

रिपोर्ट के अनुसार शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी, मंत्री अरूप विश्वास, गौतम देब, शशि पांजा, इंद्रनील सेन, चंद्रिमा भट्टाचार्य, राजीव बनर्जी, स्वपन देवनाथ, तापस राय, विधानसभा अध्यक्ष बिमान बनर्जी समेत कई विधायक फेल की तालिका में हैं. खराब व बेहद खराब की तालिका में मंत्री अमित मित्रा, अरूप राय, मलय घटक, पुर्णेंदू बसु, उज्जवल विश्वास, तपन दासगुप्ता के नाम शामिल हैं. सोशल मीडिया में बहुत अच्छा व अच्छा के साथ बहुत बुरा नहीं की तालिका में ब्रात्य बसु, ज्योतिप्रिय मल्लिक, शांतिराम महतो, चंद्रनाथ सिन्हा व सुजीत बोस के नाम हैं. रिपोर्ट कार्ड में शानदार का खिताब लेनेवालों में पांच विधायकों के नाम हैं.

इनमें मंत्री लक्ष्मी रतन शुक्ला, शुभेंदू अधिकारी, शोभनदेव चट्टोपाध्याय, रवींद्रनाथ घोष व पश्चिम बर्दवान जिले के पांडेश्वर के विधायक और आसनसोल के मेयर जितेंद्र तिवारी शामिल हैं. मंत्री लक्ष्मी रतन शुक्ला के पेज को रोजाना 36,712 लोग लाइक करते हैं, जबकि शुभेंदू अधिकारी के पेज पर रोजाना 33,130 लाइक आते हैं. शोभनदेव चट्टोपाध्याय के पेज पर 32,463, रवींद्रनाथ घोष के पेज पर 22,556 व जीतेंद्र तिवारी के पेज पर रोजाना 22,308 लाइक आते हैं.

हालांकि सोचनीय वर्ग में शामिल एक विधायक के पेज को रोजाना सिर्फ एक लोग ही लाइक करते हैं. कई विधायक तो ऐसे हैं, जिनकी सोशल मीडिया पर कोई मौजूदगी नहीं है. सूत्रों के अनुसार यह रिपोर्ट कार्ड जल्द ही सभी विधायकों के पास भेज दी जायेगी. पार्टी के निर्देश के बावजूद जो जनप्रतिनिधि सोशल मीडिया से अभी तक दूर हैं, उन्हें जल्द अकाउंट बनाकर सरकार की उपलब्धियों का लेखा-जोखा पेश करने को कहा जायेगा. बताया जाता है कि इस बार टिकट के बंटवारे में टीम पीके की सलाह को प्राथमिकता दी जायेगी.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें