कोरोना वायरस के संदेह में चीन की महिला अस्पताल में हुई भर्ती

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

कोलकाता : कोरोना वायरस का खौफ अब भारत भी पहुंच गया है. रविवार की रात कोरोना वायरस से ग्रसित होने के संदेह में एक चीनी युवती को शहर के बेलिघाटा आइडी अस्पताल में भर्ती कराया गया. मरीज को निगरानी में रखा गया है. उधर, इएम बाइपास स्थित रुबी अस्पताल में श्वांस कष्ट से थाइलैंड की एक युवती की मौत हो गयी. युवती की मौत का संबंध कोरोना वायरस से है या नहीं, स्वास्थ्य विभाग इसकी जांच कर रहा है.

हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने वायरस को लेकर लोगों से आतंकित नहीं होने की अपील की है. अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार, सांस लेने में तकलीफ की शिकायत पर तीन दिन पहले थाइलैंड से आयी युवती को रुबी अस्पताल में भर्ती कराया गया. स्थिति बिगड़ने पर उसे वेंटिलेटर पर रखा गया. सोमवार को उसकी मौत हो गयी है.
स्वास्थ्य विभाग अस्पताल से युवती के संबंध में पूरी जानकारी हासिल कर रहा है. दूसरी ओर, चीनी युवती भारत भ्रमण पर आयी थी. कुछ दिन पहले अस्वस्थ होकर एक निजी अस्पताल में भर्ती हुई . रविवार की रात उसे बेलिघाटा आइडी अस्पताल में भर्ती कराया गया.
भाषाई समस्या की वजह से उसका नाम पता नहीं चल पाया है. इलाज में भी दिक्कत हो रही है. इस रोग की चपेट में आने से पहले वह किसी बीमारी से पीड़ित थी कि नहीं, डॉक्टर यह जानना चाहते हैं. चीनी भाषा के जानकार लोगों की मदद लेने की बात चल रही है. स्वास्थ्य अधिकारी अजय कुमार चक्रवर्ती पूरे मामले में नजर रख रहे हैं.
चीन के वुहान में बंगाल के दो युवक ‘गृहबंदी’
बर्दवान : चीन में कोरोना वायरस के फैलने और इससे मरने वालों की बढ़ती संख्या को देखते हुए बर्दवान से चीन गये एक युवक ‘गृहबंदी’ हो गया है. हालात इस तरह की हो गयी है कि उसे खाने-पीने के भी लाले पड़ने लगा है. घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है. इस लेकर युवक ने बर्दवान में अपने परिजनों को फोन कर आपबीती बतायी.
परिजनों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से गुहार लगाने की बात कही है. बताया जाता है कि पूर्व बर्दवान जिले के बर्दवान शहर स्थित काली बाजार निवासी सुजीत राय और ईया राय के पुत्र सौम्य कुमार राय 21 जनवरी को बर्दवान से चीन के लिए रवाना हुए.
22 जनवरी को वह चीन के वुहान पहुंचे. सौम्य ने अपने परिजनों को फोन कर बताया कि 22 जनवरी के बाद से ही वे ‘गृहबंदी’ हैं. जिस जगह ठहरे हैं, वहां खाने -पीने तक के लाले पड़ गये हैं. कोई भी दुकान नहीं खुल रही है. वह घर में अकेले ही पड़े हुए हैं.
कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलने के कारण वहां पर लोगों के घूमने-फिरने पर पाबंदी लगा दी गयी है. पिता सुजीत राय ने अपने रिश्तेदारों तथा आसपास के लोगों को इस घटना की जानकारी दी. बर्दवान में मौजूद परिजन चिंतित नजर आ रहे हैं. घटना को लेकर सुजीत राय ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से गुहार लगाने की बात कही है.
सुजीत राय का कहना है कि उनके पुत्र को किसी तरह भारत वापस लाया जाये. मीडिया को सुजीत राय ने इस घटना से अवगत कराया है. चीन के उहान गये शोधकर्ता काजी आरिफ भी कोरोना वायरस के कारण ‘गृहबंदी’ हैं. काजी आरिफ बीरभूम के रहने वाले हैं.
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने सावधानी बरतने के दिये निर्देश
कोरोना वायरस के मुद्दे पर सोमवार को दिल्ली में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की एक अहम बैठक हुई. इस बैठक में नेपाल की सीमा से सटे पांच राज्यों पश्चिम बंगाल, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार और सिक्किम के मुख्य सचिव एवं पुलिस महानिदेशकों के साथ केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के उपायों पर चर्चा की.
इन पांचों राज्यों के मुख्य सचिव व पुलिस महानिदेशक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये इस बैठक में शामिल हुए. पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा और डीजीपी वीरेंद्र ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में हिस्सा लिया. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने पांचों राज्यों के मुख्य सचिवों से विशेष सावधानी बरतने को कहा गया है.
राज्यों को कोरोना वायरस के संदिग्धों को रखने के लिए अस्पतालों में एकांत वार्ड बनाने को भी कहा गया है. अधिकारी ने बताया कि कोरोना वायरस से ग्रसित संदिग्धों की तुरंत पहचान कर उनके खून व अन्य नमूने लेकर राज्यों में मौजूद स्वास्थ्य मंत्रालय की टीमों को भेजने के निर्देश दिये गये हैं. संदिग्धों के नमूनों की जांच पुणे स्थित स्वास्थ्य मंत्रालय की लैब में भेजे जायेंगे.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें