आरक्षण कभी खत्म नहीं किया जा सकता : आठवले

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

बोले-पीओके पर भारत का अधिकार, इमरान वापस करें, अन्यथा युद्ध कर लेंगे

कोलकाता :रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (ए) के अध्यक्ष एवं केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री रामदास आठवले ने कहा कि देश से आरक्षण समाप्त नहीं किया जा सकता है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने जम्मू- कश्मीर से धारा 370 व 35 ए हटा कर ऐतिहासिक कदम उठाया है.
पाकिस्तान का पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) पर कोई अधिकार नहीं है. वह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से अपील करेंगे कि वह पीओके भारत को वापस लौटा दें, अन्यथा भारत को युद्ध कर पीओके पाकिस्तान से ‍वापस लेना होगा. आठवले मंगलवार को प्रभात खबर, कोलकाता कार्यालय पहुंचें
प्रभात खबर से बातचीत करते हुए आठवले ने कहा : इस देश में आरक्षण कभी खत्म नहीं किया जा सकता है. केंद्र की राजग सरकार दलित, ओबीसी एवं गरीब सवर्णों के आरक्षण के पक्ष में है और आरक्षण को कभी भी हटाया नहीं जा सकता है. केंद्र सरकार ने हाल में आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लिए 10 फीसदी आरक्षण का प्रावधान किया है. वह राजग की बैठक में सवर्ण आरक्षण की मांग दोहराते रहे थे.
उन्होंने कहा कि डॉक्टर भीमराव अंबेडकर द्वारा बनाये गये संविधान को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी धर्म ग्रंथ के रूप में मानते हैं और इस सरकार में आरक्षण से छेड़छाड़ नहीं हो सकती. उनकी पार्टी आरपीआइ (ए) आरक्षण समाप्त करने करने पर सहमत नहीं है. आठवले ने आरोप लगाया कि कांग्रेस सहित कुछ विपक्षी राजनीतिक दल इस मुद्दे को आम जनमानस के बीच में गलत ढंग से प्रस्तुत कर राजनीति करने का काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में आरक्षण की समीक्षा करने की कोई जरूरत नहीं है और कई बार इस बात को प्रधानमंत्री मोदी पहले भी कह चुके हैं.
गौरतलब है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने रविवार को कथित तौर पर कहा था कि जो आरक्षण के पक्ष में हैं और जो इसके खिलाफ हैं उन लोगों के बीच इस पर सौहार्द्रपूर्ण माहौल में बातचीत होनी चाहिए. कांग्रेस के हमले और विवाद खड़ा होने के बाद आरएसएस के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरुण कुमार ने कहा कि सर संघचालक मोहन भागवत के दिल्ली में एक कार्यक्रम में दिये गये भाषण के एक भाग पर अनावश्यक विवाद खड़ा करने का प्रयास किया जा रहा है.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें