विक्टोरिया हाउस के पास चार स्तर का तैयार हो रहा है मुख्य मंच

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

शहीद दिवस को लेकर तृणमूल की अभूतपूर्व तैयारी

12 फीट ऊंचाइवाला होगा पहले स्तर का वर्गाकार मंच, इसी पर रहेंगी तृणमूल सुप्रीमो
प्रमुख मंच से सटा हुआ होगा 10, 11 व 12 फीट की ऊंचाईवाला बाकी तीनों मंच
कोलकाता : 21 जुलाई को शहीद दिवस में अब सिर्फ चार दिन शेष रह गये हैं. इसके पहले तृणमूल कांग्रेस द्वारा शहीदों की याद में कार्यक्रम के लिए रविवार को ही पार्टी की तरफ से खूंटी पूजा समाप्त हुई. इसके बाद पार्टी की तरफ से लगातार युद्ध स्तर पर मंच बनाने का काम धर्मतल्ला के विक्टोरिया हाउस के पास चल रहा है.
पार्टी सूत्रों के मुताबिक पिछली बार की तरह इस बार भी सभा मंच को चार स्तर में तैयार किया जा रहा है. मुख्यमंत्री व तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी पहले स्तर में बने वर्गाकार पोडियम मंच में मौजूद रहकर कार्यक्रम का संचालन करेंगी. इसकी ऊंचाई सबसे ज्यादा 12 फीट की होगी. इस मंच से सटे बाकी मंच की ऊंचाई 10, 11 व 12 फीट की होगी. इन मंच में पार्टी के सांसद, विधायकों के अलावा पार्षदों के साथ शहीद परिवार के सदस्य मौजूद रहेंगे. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आसपास टॉलीवुड के अभिनेता व अभिनेत्री मौजूद रहेंगी.
मंच के पिछले हिस्से में 35 फीट की ऊंचाई में तृणमूल का बैनर रहेगा. हालांकि अपने पहले के बयान में ममता बनर्जी ने पहले ही साफ कर दिया है कि इस बार 21 जुलाई के कार्यक्रम में पार्टी की मुख्य मांग 'गणतंत्र बचाओ, बैलट लौटाओ' होगी. दूर-दराज से आनेवाले पार्टी समर्थक मुख्यमंत्री की प्रत्येक बातें सुन सकें, इसके लिए मंच स्थल से लेकर दो से तीन किलोमीटर तक कुल 1300 माइक सड़क पर लगाये जायेंगे. इसके अलावा ज्वाइंट स्क्रीन भी कई जगहों पर मौजूद रहेगी. महानगर के हावड़ा, कोलकाता व सियालदह स्टेशन से रैली कर पार्टी समर्थक सभास्थल तक पहुंचेंगे.
इसके अलावा श्यामबाजार, बड़ाबाजार, उत्तर कोलकाता, दक्षिण कोलकाता के अलावा पोर्ट व अन्य इलाकों से रैली कर पार्टी समर्थक ठीक से सभास्थल तक पहुंच सकें, इसकी व्यवस्था पार्टी के कई स्वेच्छा सेवकों को सौंपी गयी है. पार्टी सूत्र बताते हैं कि इस लोकसभा चुनाव में राज्य में भाजपा की बढ़ती ताकत का जवाब मुख्यमंत्री अपनी पार्टी के समर्थकों की शक्ति से देंगी, जिससे विरोधियों को संदेश पहुंचे और पार्टी कार्यकर्ताओं का भी जोश बढ़े. बताया गया है कि पहले से कोलकाता पहुंचनेवाले तृणमूल समर्थकों को बाइपास के पास मिलन मेला, अलीपुर उतीर्ण स्टेडियम, शहीद खुदीराम अनुशीलन केंद्र के अलावा उत्तर कोलकाता के कई धर्मशालाओं में रहने की व्यवस्था की गयी है. वहां उन्हें समय-समय पर भोजन भी कराया जायेगा.
तृणमूल ने बंगाल में राजनीतिक हिंसा के बार-बार उल्लेख पर आपत्ति जतायी
कोलकाता. तृणमूल कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा के मुद्दे को संसद में बार-बार उठाने को लेकर एतराज जताते हुए दावा किया है कि यह सदन के नियमों का उल्लंघन है और पूछा है कि राज्य सरकार को क्यों निशाना बनाया जा रहा है. पार्टी ने इस बाबत लोकसभा अध्यक्ष और राज्यसभा के सभापति को भी सूचित किया है. लोकसभा अध्यक्ष को लिखे अपने पत्र में सुदीप बंद्योपाध्याय ने दावा किया कि लोकसभा में कामकाज संचालन और कार्यवाही संबंधी नियम संख्या 41 (xiii) के अनुसार सवाल की स्वीकार्यता की स्थिति का सदन में उल्लंघन किया जा रहा है. नियम 41 (xiii) कहता है कि जिस प्रश्न का उत्तर दिया जा चुका हो, उसे दोहराया नही जा सकता.
राज्यसभा के सभापति को लिखे खत में उच्च सदन में तृणमूल कांग्रेस सदस्य डेरेक ओ ब्रॉयन ने कहा कि इस विषय पर चार प्रश्नों को अनुमति दी गयी. उन्होंने कहा कि समान प्रश्न को सदन में सामान्य तौर पर नहीं उठाया जाता, लेकिन इस सत्र में पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था को लेकर कई बार विभिन्न रूपों में सवाल उठाये गये.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें