जो राम मंदिर नहीं बना सके, वो विद्यासागर की मूर्ति बनाने की बात करते हैं : ममता

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

- बंगाल को कंगाल कहकर अमित शाह ने बंगाल का किया अपमान

कोलकाता : जो पिछले पांच सालों में राम मंदिर नहीं बना सके, वो विद्यासागर की मूर्ति बनाने की बात करते हैं. हमारे पास प्रमाण है, भाजपा के गुंडों ने ही ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ी है. ये बातें डायमंड हार्बर में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कही. उन्होंने कहा कि ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति भाजपा के गुंडों ने ही तोड़ी और हमारे पास इसका प्रमाण भी है.

देश के प्रधानमंत्री होकर नरेंद्र मोदी इतना झूठ बोल रहे हैं कि तृणमूल ने तोड़ा है. अगर तृणमूल ने तोड़ा है, तो वे प्रमाण दें. अगर ये काम तृणमूल का होगा, तो मैं राजनीति छोड़ दूंगी और अगर भाजपा की होगी, तो नरेंद्र मोदी को कान पकड़कर उठक-बैठक करना चाहिए.

उन्होंने कहा कि बाहर से गुंडो को लेकर यहां दंगा लगाने की कोशिश कर रहे हैं. यूपी में भाजपा ने बाबा साहब अंबेडकर की मूर्ति तोड़ी और त्रिपुरा में सत्ता में आते ही लेनिन की मूर्ति तोड़ी. उन्होंने कहा कि बीजेपी चुनाव आते ही राम का नाम जपने लगती है. नरेंद्र मोदी जी पांच साल में राममंदिर नहीं बना सके और अब विद्यासागर की मूर्ति बनाने की बात करते हैं.

उन्होंने कहा कि अमित शाह ने बंगाल को कंगाल कहकर बंगाल की जनता का अपमान किया है. उन्होंने कहा कि आरएसएस के लोग वर्दी पहनकर घुस आये हैं और ग्राम में गोलियां चला रहे हैं और लोगों को बोल रहे है बीजेपी को वोट दें. इसके लिए मां बहन और युवाओं को एकजुट होकर रहना होगा. वे इवीएम भी बदलने की साजिश रचे हैं. यह सूचना दिल्ली से मिली है.

नशीले पानी भी पीला सकते हैं, इसलिए आप सभी लोग नजर रखियेगा. 34 साल की वाममोर्चा की सरकार को सत्ता से हटाया और अब भाजपा को भी हटाकर रहेंगे. उन्होंने कहा कि मथुरापुर में नरेंद्र मोदी की सभा है, तो सिक्योरिटी दिख रही है, सुरक्षा के लिहाज से एसपीजी मेरी सभा रद्द करने की योजना में थे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें