विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने के विरोध में ममता की प्रतिवाद रैली, दिखायी ताकत

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

कोलकाता : भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान हंगामे व विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने पर मुख्यमंत्री और तृणमूल सुप्रीमो ने अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आरोपों पर पलटवार किया है. सुश्री बनर्जी के नेतृत्व में बुधवार की शाम को बेलियाघाटा स्थित गांधी भवन के पास से प्रतिवाद जुलूस निकाला गया. यह जुलूस 6.8 किलोमीटर का रास्ता तय कर श्यामबाजार नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मूर्ति के पास समाप्त हुआ.

सुश्री बनर्जी ने रवींद्रनाथ टैगोर की मूर्ति पर माल्यार्पण कर प्रतिवाद यात्रा की शुरुआत की. बीच रास्ते में स्वामी विवेकानंद की मूर्ति पर माल्यार्पण किया और अंत में श्यामबाजार पांच माथा मोड़ पर नेताजी की मूर्ति पर माल्यार्पण किया. इस प्रतिवाद यात्रा में बुद्धिजीवी शुभा प्रसन्ना, जय गोस्वामी सहित अन्य के साथ-साथ उत्तर कोलकाता के तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार सुदीप बंद्योपाध्याय भी उपस्थित थे.

इसके पहले आगरपाड़ा में तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार सौगत राय के समर्थन में आयोजित सभा में सुश्री बनर्जी ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर जमकर हमला बोला. सुश्री बनर्जी ने कहा कि मंगलवार को रोड शो के समय विद्यासागर की मूर्ति तोड़ने की पूर्व योजना के तहत बनायी गयी साजिश थी. बाहर से गुंडों को लाया गया था, जिन्होंने मूर्ति तोड़ी. पूरा गेरुआ हमला चला. यह पूरी योजना से किया गया था.

यदि वे बंगाल के होते तो वे अवश्य ही विद्यासागर और रवींद्रनाथ को पहचानते. उन्होंने कहा कि यहां भाजपा की मीटिंग हो. वह उसे ताकती भी नहीं हैं. वह भाजपा और मोदी की धमकी से नहीं डरती हैं. रोड शो के दौरान करोड़ों रुपये के गेंदा फूल बरसाये गये गये. बाबू उन गेंदा के फूल पर चढ़ कर आये थे.उन्होंने कहा कि जिस जगह पर वह रैली करती हैं. उसी जगह पर अगले दिन भाजपा रैली करती है. भाजपा चुनाव के समय दंगा करना चाहती है. उन्होंने कहा कि अमित शाह की रैली में डीजे का प्रयोग किया गया है. लोगों ने डर से अपने घर का दरवाजा बंद कर दिया था.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें