आज से तीन दिन 7 घंटे ही चलेंगी निजी बसें, एक नवंबर को वस्त्रहीन होकर महाजुलूस निकालेंगे बस मालिक

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
कोलकाता : ईंधन की बढ़ती कीमतों के मद्देनजर ज्वाइंट काउंसिल ऑफ बस सिंडिकेट से जुड़े निजी बस आपरेटरों ने 29 अक्तूबर से 31 अक्तूबर तक सांकेतिक हड़ताल की घोषणा की है. इन तीन दिनों तक कोलकाता, उत्तर और दक्षिण 24 परगना जिले में ऑफिस टाइम सुबह आठ से 11 बजे तक और शाम चार से रात आठ बजे तक ही निजी बसें चलायेंगी.
ज्वाइंट काउंसिल ऑफ बस सिंडिकेट के संयुक्त सचिव तपन दास ने कहा कि जिस तरह से डीजल की कीमतें बढ़ रही हैं, हम बस नहीं चला पा रहे हैं. बस कारोबार पूरी तरह से घाटे में चला गया है. राज्य सरकार ने पिछली बार किराये में मात्र एक रुपये की वृद्धि की थी. लेकिन डीजल की कीमतें कई गुणा बढ़ गयी हैं. इस कारण ही 29 से 31 अक्तूबर तक केवल कार्यालय समय में ही बस चलाने का निर्णय किया गया है.
उन्होंने कहा कि इसके बाद एक नवंबर को महाजुलूस निकालेगा. जिसमें बस मालिक वस्त्रहीन होकर लेनिन सरणी से डोरिना क्रॉसिंग तक जुलूस निकालेंगे. यह जुलूस दोपहर एक बजे निकलेगा, हालांकि इस आंदोलन में बंगाल बस सिंडिकेट शामिल नहीं होगा. बस मालिकों का कहना है कि उन्होंने किराये में बढ़ोतरी के लिए राज्य सरकार को 24 अक्तूबर तक का समय दिया था. राज्य सरकार की तरफ से इस मसले पर अबतक कोई पहल नहीं हुई. जिस वजह से हड़ताल का फैसला लिया गया.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें