डंडे के दम पर चुनाव जीतने की कोशिश

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
कोलकाता : पंचायत चुनाव में राज्य के विभिन्न इलाकों से दिन भर छिटपुट हिंसा की खबरें मिलती रही. नंदीग्राम में निर्दलीय उम्मीदवार के दो समर्थकों की झड़प के दौरान मौत हुई है. पटकेलबारी इलाके में तृणमूल कार्यकर्ताओं के हमले में निर्दलीय उम्मीदवार के समर्थक शाहिद शेख की जान चली गयी. वहीं, नादिया जिले के नकासीपुरा में पोलिंग बूथ से लौट रहे तृणमूल कार्यकर्ता की गोली मार कर हत्या कर दी गयी.
बेलदांगा में बीजेपी कार्यकर्ता तपन मंडल की हत्या कर दी गयी. आमदांगा में माकपा के एक कार्यकर्ता की बम हमले में मौत हुई है. दक्षिण 24 परगना जिले में तृणमूल कार्यकर्ता आरिफ अली की गोली मार कर हत्या कर दी गयी. जलपाईगुड़ी के शिकारपुर में उपद्रवियों ने बैलट बॉक्स को फूंक दिया.
\
माकपा कार्यकर्ता को पत्नी समेत जिंदा जलाया
कूचबिहार में भी बीजेपी कार्यकर्ताओं के हमले में टीएमसी कार्यकर्ता अनीरुल हुसैन को गोली लगने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया है. महिष्कुची में बीजेपी के पोलिंग एजेंट प्रभात अधिकारी पर हमला हुआ है. वहीं, काकद्वीप के कचारिबारी में उपद्रवियों ने माकपा कार्यकर्ता देबू दास को पत्नी समेत जिंदा जला दिया.
बैरकपुर में भाजपा उम्मीदवार को मारा चाकू
बैरकपुर में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी को चाकू मार दिया गया. उन्हें जब अस्पताल ले जाया गया तब तक उनके पेट मे चाकू लग हुआ था. आखिरकार उनके जख्म जानलेवा साबित हुए. उधर, उत्तरी 24 परगना में एक बम धमाके में 20 लोग घायल हो गये. कूचबिहार में दो गुटों के बीच झड़प में 20 लोग घायल हो गये थे. उत्तर दिनाजपुर में कुछ लोगों ने बैलट बॉक्स को ही आग के हवाले कर दिया. दिनाजपुर के सोनाडंगी में तृणमूल कार्यकर्ताओं ने पोलिंग बूथ में जमकर तोड़फोड़ की.
आमडांगा में फटा बम
उत्तरी 24 परगना के अामडांगा के साधनपुर में एक देसी बम फट गया. घटना में 20 लोग घायल हो गये. उधर, बीरपाड़ा से सामने आये एक विडियो में कथित तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) कार्यकर्ता एक पोलिंग बूथ के बाहर लोगों को वोट डालने जाने से रोकते हुए दिख रहे हैं और भांगड़ में तृणमूल पर बूथ कब्जा करने के आरोप लगे. पुलिस को अरावुल समर्थकों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्च करनी पड़ी और आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े.
आमडांगा में माकपा समर्थक की मौत
अामडांगा के ही पांचपोटा में बम धमाके में एक माकपा कार्यकर्ता की मौत हो गयी, जबकि दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गये. अमडंगा के कुलतली में एक तृणमूल कार्यकर्ता आरिफ गाजी की गोली मारकर हत्या कर दी गयी.
इससे पहले शनिवार को माकपा के एक कार्यकर्ता देबू दास और उसकी पत्नी ऊषा दास को जलाकर मार डालने की घटना भी सामने आयी है. बताया गया है कि उनके घर को आग लगा दी गयी थी जिसमें दोनों की मौत हो गयी. पार्टी ने घटना के लिए तृणमूल कार्यकर्ताओं को जिम्मेदार ठहराया है.
वहीं, टीएमसी कार्यकर्ता अनीरुल होसैन को कथित बीजेपी कार्यकर्ता ने गोली मार दी. घायल होसैन को गंभीर अवस्था में अस्पताल ले जाया गया जहां उनका इलाज चल रहा है. उधर, महीशकुची में बीजेपी पोलिंग एजेंट प्रभात अधिकारी को हमले में गंभीर रूप से घायल कर दिया गया.
मंत्री ने बीजेपी समर्थक को थप्पड़ मारा
कूचबिहार के ही बूथ नंबर 8/12 में पुलिस के सामने ममता सरकार में मंत्री रवींद्रनाथ घोष ने एक भारतीय जनता पार्टी समर्थक को थप्पड़ जड़ दिया. यही नहीं, वहां मौजूद घोष के समर्थकों की भीड़ और एक पुलिसकर्मी ने सुजीत कुमार दास नाम के समर्थक को बाहर किया. बताया जा रहा है कि श्री घोष बूथ पर वोट डालने नहीं गये थे, क्योंकि वह उस इलाके के निवासी भी नहीं हैं, हालांकि श्री घोष ने इसका खंडन करते हुए कहा कि भाजपा समर्थक मतदान बॉक्स लेकर भागने की कोशिश कर रहा था.
बीजेपी उम्मीदवार पर चाकू से हमला
बिलकांडा में बीजेपी उम्मीदवार राजू बिस्वास पर कथित टीएमसी कार्यकर्ताओं ने चाकू से हमला कर दिया. हमले में वह गंभीर रूप से घायल हो गए. उन्हें फौरन पानीहाटी स्टेट जनरल अस्पताल ले जाया गया जहां उसका इलाज चल रहा है.
मीडिया पर हमला
भांगड़ जिले में मीडिया को निशाना बनाया गया है. मीडिया के वाहन को आग के हवाले कर दिया है और कैमरों को भी तोड़ दिया गया है. मीडियाकर्मियों को क्षेत्र के अंदर दाखिल नहीं होने दिया जा रहा था. भांगड़ में ही स्थानीय लोगों ने जमकर हंगामा किया, बड़ी संख्या में मौजूद भीड़ ने रास्ता जाम कर दिया. गुस्साए लोगों का आरोप था कि टीएमसी कार्यकर्ता बूथ कैप्चरिंग का प्रयास कर रहे थे.
वोट डालने से रोका
बीरपाड़ा में कुछ लोगों ने बूथ नंबर 14/79 पर जारी वोटिंग में व्यवधान डालने की कोशिश की. उधर पश्चिम मेदिनीपुर में भी कथित तृणमूल कार्यकर्ताओं द्वारा लोगों को वोट डालने से रोके का आरोप लगा. उधर नाडिया जिले के शांतिपुर में एक बाहरी व्यक्ति को बूथ कैप्चरिंग करते हुए पाया गया तो भीड़ ने पीट-पीटकर उसकी जान ले ली.
मुर्शिदाबाद में वोटिंग थमी
मुर्शिदाबाद में भाजपा और तृणमूल कार्यकर्ताओं में झड़प इस हद तक बढ़ गयी कि बैलट पेपर ही तालाब में फेंक दिए गये. विवाद बढ़ने पर वोटिंग रोक दी गयी. उधर, बीरपाड़ा के मदारीहाट में कथित टीएमसी कार्यकर्ताओं ने बैलट में हेरफेर करने की कोशिश की. यही नहीं, बूथ नंबर 44, 45 और 45 के में कुछ अज्ञात बंदूकधारियों ने बंदूक की नोक पर बैलट बॉक्स लूट लिये. मुर्शिदाबाद में तृणमूल और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में झड़प भी हुई.
निर्दलीय उम्मीदवार की पिटाई, अपहरण का प्रयास
दक्षिण 24 परगना जिले के बासंती इलाका स्थित चरविद्या ग्राम पंचायत के पटुआखाली इलाके में एक निर्दलीय उम्मीदवार की तृणमूल समर्थकों ने पहले जमकर पिटाई की फिर उसके अपहरण का भी प्रयास किया. इलाके में बमबाजी की वजह से तनाव का व्याप्त हो गया. सोमवार सुबह मतदान आरंभ होने के साथ ही पटुआखाली प्राइमरी स्कूल के 34 नंबर बूथ पर यह घटना घटी. जिसके बाद बासंती थाने की पुलिस ने आकर स्थिति को नियंत्रित किया.
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें